चंडीगढ़,16.05.23- शहर की समाजसेवी संस्था समस्या समाधान टीम (एसएसटी) दिल्ली के जंतर मंतर पर पिछले कई दिनों से धरने पर बैठे पहलवानों के समर्थन में आ गई है। टीम के सदस्यों ने मंगलवार को शहर के डीसी विनय प्रताप सिंह से मुलाकात की और ज्ञापन सौंपा। मांग की गई है कि महिला पहलवानों के साथ यौन उत्पीड़न के मामले में आरोपी बृजभूषण शरण सिंह को तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए।
भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह की गिरफ्तारी की मांग को लेकर पिछले 23 दिनों से कई मेडल विजेता पहलवान जिनमें साक्षी मलिक, विनेश फोगट, बजरंग पुनिया आदि जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे है। उनकी मांग है कि बृजभूषण शरण सिंह को गिरफ्तार किया जाना चाहिए, क्योंकि उसने कई महिला पहलवानों का यौन उत्पीड़न किया है। न्याय की इस लड़ाई में चंडीगढ़ की एसएसटी भी पहलवानों के समर्थन में आ गई है। टीम के प्रधान ओंकार सिंह सैनी ने कहा कि हमारा देश प्रजातंत्र देश है और यहां पर कानून का राज है लेकिन कुछ प्रभावशाली लोग कानून का मजाक बना रहे है। अगर किसी भी आम आदमी पर पॉक्सो एक्ट में केस दर्ज होता है तो पुलिस उसको तुरंत गिरफ्तार करके आगे की कार्रवाई करती है, लेकिन इस मामले में बिल्कुल उल्टा है। पहले तो दिल्ली पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बिना एफआईआर दर्ज नहीं की। अब जब सांसद पर पॉक्सो एक्ट लग गया है, तो पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर रही है। मनोज शुक्ला ने कहा कि आरोपी सांसद पहलवानों द्वारा लगाए गए आरोपों को झूठा बता रहा है। ऐसे में दोनों पक्षों का नार्को टेस्ट करवा कर सच्चाई का पता लगाया जा सकता है। पहलवानों ने नार्को टेस्ट की मंजूरी दे दी है। अब तो सांसद को भी आगे आना चाहिए। शिशुपाल का कहना है कि धरने पर बैठे पहलवानों ने देश का नाम रौशन किया है। अगर वो किसी पर इल्जाम लगा रहे है और कानून अपने नियम से काम नहीं कर रहा, तो इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि बेटियों की लड़ाई कितने शक्तिशाली आरोपी से है। ये लड़ाई बेटियों को इंसाफ दिलाने की है और हमारी संस्था तन मन धन से इनके साथ है और बेटियों को न्याय दिला कर रहेगें। ज्ञापन देने के मौके पर समस्या समाधान टीम के ओंकार सैनी, मनोज शुक्ला, शिशुपाल, दिनेश दलेरे आदि मौजूद थे।