सोलन-दिनांक 31.08.2019-पुलिस अधीक्षक सोलन मधुसूदन शर्मा ने कहा कि योग एवं व्यायाम निरोग रहने का बेहतरीन माध्यम है तथा आज की इस तनावपूर्ण जीवनशैली में प्रत्येक व्यक्ति को प्रतिदिन योग नियमित रूप से करना चाहिए। मधुसूदन शर्मा आज यहां पुलिस ग्राउंड सोलन में जिला आयुर्वेद विभाग सोलन द्वारा ‘योग एवं जीवन शैली’ विषय पर आयोजित जागरूकता शिविर के समापन अवसर पर उपस्थित प्रतिभागियों को संबोधित कर रहे थे।
इस तीन दिवसीय शिविर में 80 पुलिस जवानों व उनके परिजनों ने हिस्सा लिया।
मधुसूदन शर्मा ने कहा कि युवा पीढ़ी को नियमित रूप से योग क्रियाएं करनी चाहिएं तभी वे मानसिक व शारीरिक रूप से सुदृढ़ बन सकते हैं। उन्हांेने कहा कि विभिन्न प्रकार के योगासनों का शरीर के प्रत्येक अंग से किसी न किसी तरह से संबंध होता है तथा योग के माध्यम से शरीर को हृष्ट-पुष्ट किया जा सकता है। उन्होंने विशेष रूप से पुलिस कर्मियों एवं उनके परिजनों से आग्रह किया कि वे अपनी कार्यशैली को देखते हुए नियमित रूप से योग करें। उन्होंने कहा कि योगाभ्यास अनेक बीमारियों का समूल नाश करता है।
कार्यक्रम में जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ. राजेंद्र शर्मा ने कहा कि सोलन जिला के सभी विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों, विद्यालयों के साथ-साथ पंचायत स्तर पर इस प्रकार के योग शिविरों का आयोजन समय-समय पर किया जाएगा ताकि एक स्वस्थ व नशामुक्त समाज के निर्माण के लिए नागरिकों को तैयार किया जा सके।
आयुर्वेदिक विभाग की वरिष्ठ आयुर्वेदिक चिकित्सक एवं योगगुरू डॉ. अनीता गौतम, डॉ. मंजेश शर्मा, प्रशिक्षित योग शिक्षिका आशा रानी द्वारा प्रतिभागियों को योग की विभिन्न मुद्राओं, आसनों एवं आवाहर-विहार की जानकारी प्रदान की गई।
इस अवसर पुलिस उपाधीक्षक परवाणू योगेश रोल्टा, पुलिस उपाधीक्षक सोलन (एलआर) रमेश शर्मा, अन्य गणमान्य व्यक्ति एवं बड़ी संख्या में प्रतिभागी उपस्थित थे।