HISAR,29.09.20-यों ऐसा तो पहली नवम्बर को कहना या लिखना चाहिए था जब हरियाणा दिवस मनाया जाता है पर मूड आज ही बन गया तो पहली नवम्बर का इंतज़ार कौन करे ? हरियाणा ने बहुत कुछ देश को सिखाया । महाभारत के दौरान गीता की कथा यहीं से तो विश्व भर में फैली । महाभारत की धरती से कुरूक्षेत्र ने सिखाया कि अन्याय का विरोध करो चाहे अपने ही सामने क्यों न हों । डट जाओ अन्याय के खिलाफ । कुरूक्षेत्र की कथा के बाद आधुनिक करनाल की कथा और कल्पना चावला ने कितना गौरव बढ़ाया । फिर यह हरियाणा ही है जिसके विषयों पर दंगल और सुल्तान जैसी फिल्में बन गयीं और फौगाट बहनें खूब वाहवाही लूट रही हैं । यह हरियाणा ही है जहां महिला विश्वविद्यालय बनाया गया खानपुर कलां में । यह हरियाणा ही है जहां अग्रोहा है जिसका एक ईंट , एक रुपये का मंत्र सारी दुनिया में कहीं नहीं है । ऐसा भाईचारा । कमाल ।
थोड़ा दूसरा रूप भी दिखा दूं ? यह हरियाणा ही है जिसने सारे देश को आयाराम गयाराम की राजनीति का गुरुमंत्र दिया और पूरी की पूरी सरकार के दलबदल की अनोखी राजनीति का मार्ग दिखाया । ब्रीफ केस की राजनीति भी यहीं से शुरू हुई । अमित शाह बहुत गहराई से हरियाणा की राजनीति को जानने के बाद अपनी रणनीति बनाते हैं और हरियाणा की छाप साफ साफ दिखाई देती है । यह हरियाणा ही है जहां एसवाईएल एक ऐसी जीवन रेखा है जिसका कोई निशान कहीं दिखाई ही नहीं देता । सरकार किसी की हो , कोई फर्क नहीं पड़ता । यह हरियाणा ही है जहां कंगना रानौत को टक्कर देने वाली सोनाली फौगाट मौजूद है । टिक टाॅक स्टार । ऐसी झांसी की रानी कि अन्याय बर्दाश्त ही नहीं करती । कभी चप्पल तो कभी डंडा लेकर पिल पड़ती है गलत काम करने वाले पर । भाजपा ने भी पूरी छूट दे रखी है । यह हरियाणा ही है जहां मुख्यमंत्री के सपने देखते देखते लोग राजनीति से रिटायर हो जाते हैं । कितने ख्वाब देखते हैं और हाईकमान को भी खूब परेशान करते हैं । अपनी ही सरकार को गिराना में लगे रहते हैं । यह हरियाणा ही है जो मानेसर में राजस्थान की सरकार गिराने के लिए विधायकों की मेजबानी करने आगे आया । यह हरियाणा ही है जिसके सिपाहियों की राजीव गांधी के आवास के बाहर निगरानी ने भूचाल ला दिया था राजनीति में । क्या क्या सुनाऊं आपको अपने हरियाणा की कहानियां ? यह हरियाणा ही तो है जहां मंत्री एयरहोस्टस के चक्कर में अपना राज-पाट खो बैठे और दूसरे अपने प्रेम के चक्कर में धर्म तक बदल बैठे । राज तो खो ही दिया । सब न्योछावर । ऐसे प्रेम के लिए कितने भी ताजमहल बनवा दो , कम पड़ेंगे कि नहीं ? यो तो बहुत कुछ छूट गया होगा बताने में पर म्हारे हरियाणे का क्या कहना ? है कोई मुकाबले में ? कोई कमी रह गयी तो बताना पहली नवम्बर को फिर सही ।
देसां में देस हरियाणा
जित दूध रही का खाना ,,,, नहीं रहा
यहां तो शराब कांड हुआ और जांच जारी है ,,,
9416047075