HISAR,24.09.20-दो दो बुखार एक साथ । जैसे एक करेला दूजे नीम चढ़ा । फिल्मी दुनिया का ड्रग माफिया और क्रिकेट के आईपीएल का बुखार जो धीरे धीरे ज़ोर पकड़ता जा रहा है । इसी तरह फिल्मी दुनिया के ड्रग माफिया ने भी कब ज़ोर पकड़ा कि पता ही नहीं चला । सुशांत सिंह राजपूत से चला मामला कहां से कहां जा पहुंचा और अभी कहां तक पहुंचेंगा, कह नहीं सकते । एक चाबी खोलने वाला बुलाया । पर चाबी कहां से कहां जा लगी , कमाल हो गयी । रिया चक्रवर्ती से शोबिक, पिठानी और फिर तो चल सो कल नाम आते गये और काफिला बनता गया । काफिला बनता चला जा रहा है । कहां से कहां तक पहुंचा मामला । अब तो रानी पद्मावती यानी दीपिका पादुकोण से लेकर सारा अली खान , रकुल प्रीत और श्रद्धा कपूर ही नहीं खंबाटा भी । यही नहीं लगभग पचास ऐसे फिल्मी लोगों की लिस्ट जया साहा ने तैयार करवा दी कि सारी फिल्मी दुनिया अंडरग्राउंड ही न हो जाये । वाह । अंडरवर्ल्ड से अंडरग्राउंड तक पहुंच गयी बात ।
राजनीति का तड़का भी खूब लगता जा रहा है । कंगना रानौत से शुरू हुआ और संजय राउत , मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे , बिहार के नेता और यहां तक कि पुलिस प्रमुख गुप्तेश्वर पांडे तक सब आ गये और आते जा रहे हैं । गुप्तेश्वर पांडे ने तो स्वेच्छा से रिटायरमेंट ले ली और उम्मीद की जा रही है कि विधानसभा चुनाव के मैदान में उतारेंगे । सुशांत केस ने पांडे जी को राजनीति का रास्ता दिखा दिया । कंगना का ऑफिस टूटा लेकिन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को बद्दुआ दी कि तेरे घमंड टूटे । कपिल शर्मा का घर भी बीएमसी की लपेट में आया था । कपिल ने तो हंस कर टाल दिया पर कंगना ने बद्दुआ दी । कंगना ने मनाली से लगातार हमले जारी रखे है । फिर चाहे जया भादुड़ी हो या उर्मिला मातोंडकर या कोई और । सब के लिए हमले के मूड में । इसी चक्कर में पंजाब में विरोध में अमृतसर में पुलते जला दिये गये कंगना के क्योंकि किसानों के बारे में प्रतिकूल टिप्पणी कर बैठी । क्या राजनीति में ही आने का इरादा है ? ऐसा है तो कुछ ढंग की बातें जान लो न पहले । हर विषय पर थोड़ा बोला जाता है ? कुछ तो बड़ा सोचो । अभी लोग कह रहे हैं कि सारी फिल्मी दुनिया को बदनाम न करो । देखो ओ दीवानों तुम यह काम न करो । पर बदनामी ऐसी कि काजल की कोठरी लगने लगी है फिल्मी दुनिया । अध्ययन सुमन और कंगना की बातों पर मुम्बई पुलिस कार्यवाही करते करते रुक गयी । रवि किशन , जया प्रदा और कितने फिल्मी सितारे जो राजनीति में कदम रख चुके हैं थाली को लेकर खूब बोले । छेद को लेकर खूब कहा सुनी हुई । अपनी अपनी थाली और अपनी अपनी डफली । सब बजा रहे हैं और बजाते जा रहे हैं । रिया अदालतों में जमानत के लिए मारी मारी फिर रही है । किसी ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया कि मुम्बई के वकीलों की तो चांदी हो गयी क्योंकि सब वकीलों को खोजते फिर रहे हैं । देखिए कहां से कहां तक चलता और बढ़ता है यह काफिला,,,,
9416047075