चंडीगढ़ 1 जुलाई, 2020 चीनी समाचार पत्र द्वारा भारतीयों की कुशलता पर सवालिया निशान लगाने वाले समाचार पर भारतीय जनता पार्टी चंडीगढ़ के प्रदेश महामंत्री चंद्रशेखर ने चुटकी लेते हुए कहा कि चीन नहीं जानता कि हमारे देश में योग्यता की कोई कमी नहीं है | आज भारत 1962 वाला देश नहीं रहा है | चीनी समाचार पत्रों द्वारा इस प्रकार की टीका टिपण्णी और चुनौती को हम स्वीकार करते हैं और एक अवसर के रूप में लेते हैं | आज हमारे देश के युवा हर क्षेत्र में विशेषकर आई टी क्षेत्र में अपनी धाक समूचे विश्व में जमाये हुए हैं | गूगल जैसी कंपनी के शीर्ष पद पर बैठे सुंदर पिचाई भी भारतीय हैं | इसलिए चीन को यह समझ लेना चाहिए कि जब जब भी देशवासियों को किसी ने चुनौती दी है उसका देश की जनता ने एकसाथ खड़े होकर मुँह तोड़ जवाब दिया है |

उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देश को आत्म निर्भर बनाने के आह्वान पर कुछ मौकापरस्त राजनीतिज्ञ परिवारों को छोड़ कर देश का जन जन इस आह्वान को आत्मसात करता है | चीन द्वारा दिए गए धोखे का हमारे देश ने जो मुहतोड़ जवाब दिया है पहले चीन उस से तो सम्भले | तब किसी दुसरे पर कटाक्ष करने की जुर्रत करे | भारत देश में स्टार्टअप के लिए बहुत बड़ा बाजार उपलब्ध है जिसका आज तक फैयदा विदेशी कंपनियां ही उठा रही थी | परन्तु मोदी सरकार द्वारा लिए गए चीनी ऐप पर पूर्णता पाबंदी के फैसले ने हमारे देश के युवाओं के लिए संभावनाओं का एक नया क्षेत्र खोल दिया है | हमारे देश में इस से पहले भी बेहतर ऐप बन रहे थे और भविष्य में स्टार्टअप के माध्यम से और बेहतर ऐप बना लेंगे |

--