सोलन-दिनांक 24.05.2020

कालका से आज उत्तर प्रदेश भेजे गए 1376 व्यक्ति- के.सी. चमन
कोविड-19 के खतरे के दृष्टिगत हरियाणा के कालका से आज हिमाचल के सोलन जिला सहित अन्य जिलों में उत्तर प्रदेश के रहने वाले अथवा कार्यरत लोगों को रेलगाड़ी के माध्यम से वापिस उनके प्रदेश भेजा गया।
उपायुक्त सोलन के.सी. चमन आज स्वंय कालका रेलवे स्टेशन पर उपस्थित रहे। उनकी अगुवाई में आज कुल 1376 व्यक्तियों को कालका रेलवे स्टेशन से उत्तर प्रदेश के बरेली के लिए रेलगाड़ी के द्वारा भेजा गया।
उपायुक्त के.सी. चमन ने इस सम्बन्ध में कहा कि आज उत्तर प्रदेश के बरेली के 1376 व्यक्तियों को भेजा गया। उन्होंने कहा कि आज शत-प्रतिशत पंजीकरण करवाने वाले सभी व्यक्ति इस रेलगाड़ी से अपने-आने गंतव्य स्थलों के लिए रवाना हुए। इनमें 932 व्यक्ति सोलन जिला के बद्दी से, 204 व्यक्ति ऊना जिला से, 97 व्यक्ति जिला सिरमौर से, 59 व्यक्ति बिलासपुर से, 34 व्यक्ति सोलन के परवाणु से, 28 व्यक्ति सोलन से तथा 07 व्यक्ति जिला हमीरपुर से उत्तर प्रदेश के लिए रवाना हुए।
के.सी. चमन ने कहा कि कोविड-19 के खतरे के कारण लोग अपने घर जाने के इच्छुक हैं तथा केन्द्र एवं प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार इन लोगों के जाने का समुचित प्रबन्ध किया जा रहा है। जिला प्रशासन पूर्ण तत्परता एवं संवेदनशीलता के साथ राज्य में आने वाले प्रदेशवासियों तथा यहां से बाहर जाने वाले व्यक्तियों की सहायता सुनिश्चित बना रहा है।
उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन यह सुनिश्चित बना रहा है कि अपने-अपने राज्य जाने वाले लोगों को किसी परेशानी का सामना न करना पड़े। इस सम्बन्ध में पंचकूला जिला प्रशासन के साथ पूर्ण समन्वय स्थापित किया गया है।
उन्होंने कहा कि सभी व्यक्तियों को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जारी निर्देशों के अनुरूप पूरी जांच के उपरान्त ही रवाना किया जा रहा है। उन्होेंने सभी के अच्छे स्वास्थ्य की कामना की और आशा जताई कि सभी सकुशल अपने घर पंहुचेंगे। उन्होंने रवाना होने वाले विभिन्न व्यक्तियोें से बातचात कर उनका कुशल क्षेम भी जाना।
अतिरिक्त उपायुक्त सोलन विवेक चन्देल ने कहा कि उत्तर प्रदेश जाने वाले इन व्यक्तियों को प्रदेश पथ परिवहन निगम की 40 बसों के माध्यम से कालका पंहुचाया गया। इनमें से 24 बसों ने यात्रियों को सोलन जिला से तथा 16 बसों ने राज्य के अन्य जिलों से यात्रियों को कालका रेलवे सटेशन तक पंहुचाया। रेलवे स्टेशन पर सभी यात्रियों के लिए भोजन, जल इत्यादि की पूर्ण व्यवस्था की गई थी।
उन्होंने कहा कि कालका से ही 26 मई, 2020 को मऊ तथा 28 मई, 2020 को फैजाबाद के लिए रवाना होगी। इन रेलगाड़ियों में जाने के लिए प्रदेश स्तर पर सम्बन्धित नोडल अधिकरियों के माध्यम से पंजीकरण करवाया जा सकता है।
विवेक चन्देल ने कहा कि अमूल्य मानव शक्ति की सुरक्षा जिला प्रशासन सोलन का उत्तरदायित्व है और इस दिशा में समर्पित प्रयास जारी हैं।
पुलिस अधीक्षक सोलन अभिषेक यादव, उपमण्डलाधिकारी सोलन रोहित राठौर, सहायक आयुक्त परवाणु विक्रम नेगी, उप पुलिस अधीक्षक परवाणु योगेश रोल्टा, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी सुरेश सिंघा, जिला खनन अधिकारी कुलभूषण सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी इस अवसर पर उपस्थित थे।
===================================

सोलन-दिनांक 24.05.2020
सोलन जिला में 5592 व्यक्ति स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में- डाॅ. गुप्ता

कोविड-19 के खतरे के दृष्टिगत स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मन्त्रालय के दिशा-निर्देशानुसार सोलन जिला में वर्तमान में 5592 व्यक्तियों को निगरानी में रखा गया है। यह जानकारी आज यहां जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एन.के. गुप्ता ने दी।
डाॅ. गुप्ता ने कहा कि इन 5592 व्यक्तियों में से 5122 व्यक्तियों को होम क्वारेनटाईन किया गया है। इनमें से 4982 व्यक्ति ऐसे हैं जिन्हें अन्य राज्योें से जिला में आने के उपरान्त होम क्वारेनटाईन किया गया है। 140 अन्य व्यक्ति होम क्वारेनटाइन हैं। 449 व्यक्ति संस्थागत क्वारेनटाईन में हैं।
उन्होंने कहा कि जिला में वर्तमान में 10 व्यक्तियों को आईसोलेशन में रखा गया है। इनमें से 06 व्यक्तियों को क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में, 01 व्यक्ति को नागरिक अस्पताल अर्की में, 01 व्यक्ति को ईएसआई काठा में तथा 02 व्यक्तियों को नालागढ़ में आईसोलेट किया गया है। 11 कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति ईएसआई काठा में उपचाराधीन हैं।
जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि जिला में अभी तक 3743 व्यक्ति 28 दिन की निगरानी अवधि पूर्ण कर चुके हैं।
उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि सार्वजनिक स्थानों पर सोशल डिस्टेन्सिग नियम का पालन करें और दो व्यक्तियों के मध्य कम से कम दो गज की दूरी बनाए रखें। उन्होेंने सभी से आग्रह किया कि आरोग्य सेतु एप डाऊनलोड करें और इस एप में दिए गए निर्देशों का पालन करें। उन्होंने कहा कि बाहरी राज्यों से आ रहे सभी व्यक्तियों को क्वारेनटाइन के सम्बन्ध में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशांे का पालन करना आवश्यक है।
जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने सभी से आग्रह किया कि कोरोना वायरस के खतरे के विषय में आधिकारिक सूूचना पर ही विश्वास करें और अफवाहों से बचें।

====================================

सोलन-दिनांक 24.05.2020
सोलन जिला से आज कोरोना संक्रमण जांच के लिए भेजे गए 238 सैम्पल

गत दिवस के 234 रक्त नमूनों में से 229 की रिपोर्ट नेगटिव, बाकी की रिपोर्ट शेष
सोलन जिला से आज कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि के लिए 238 व्यक्तियों के रक्त नमूने केंद्रीय अनुसंधान संस्थान कसौली भेजे गए। यह जानकारी आज यहां जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.एन.के गुप्ता ने दी।
डाॅ. गुप्ता ने कहा कि इन 238 रक्त नमूनों में से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नालागढ़ से 98, नागरिक अस्पताल बद्दी से 49, ईएसआई काठा से 11, क्षेत्रीय अस्पताल सोलन से 20, ईएसआई परवाणू से 27, ईएसआई बरोटीवाला से 21 तथा ईएसआई झााड़माजरी से 12 सैम्पल कोरोना वायरस संक्रमण जांच के लिए भेजे गए हैं।
उन्होंने कहा कि गत दिवस भेजे गए 234 रक्त नमूनों में से 229 सैम्पल की रिपोर्ट नेगेटिव है। शेष रक्त नमूनों की रिपोर्ट अभी आनी शेष है। उन्होंने कहा कि पूर्व सैम्पल में से 01 व्यक्ति की रिपोर्ट कोरोना वायरस संक्रमण के लिए पोजिटव प्राप्त हुई है।
जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के लिए पोजिटिव पाया गया व्यक्ति पश्चिम बंगाल से राज्य आया है। वर्तमान में वह नालागढ़ उपमण्डल के क्वारेनटाईन केन्द्र रामशहर में हैं। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा सभी पोजिटव व्यक्तियों के सम्पर्क में आए लोगों को सूचीबद्ध कर क्वारेनटाईन किया जा रहा है। इनके सम्पर्क में आए सभी व्यक्तियों की कोविड-19 के लिए जांच की जाएगी।
जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने बाहरी राज्यों से प्रदेश में आने वाले लोगों से आग्रह किया कि वे क्वारेनटाइन सम्बन्धी दिशा-निर्देशों का पूर्ण पालन करें। उन्होंने कहा कि इन नियमों की अनुपालना न केवल बाहर से आने वाले व्यक्तियों के परिवारों अपितु समाज को किसी भी प्रकार के संक्रमण से बचाने में सहायक सिद्ध होगी।
डाॅ. गुप्ता ने सभी से आग्रह किया कि खांसी, जुखाम, बुखार या सांस लेने में तकलीफ होने पर शीघ्र समीप के स्वास्थ्य संस्थान से सम्पर्क करें। इस सम्बन्ध में किसी भी सहायता के लिए हैल्पलाईन नम्बर 104 तथा दूरभाष नम्बर 221234 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

===============================

लॉकडाउन: हेेल्पलाइन से बागवान हुए बाग-बाग
धर्मशाला, 24 मई: कोरोना संकट में लॉकडाउन के दौरान जिला के किसानों-बागवानों की समस्याओं के उचित समाधान के लिए विशेष प्रबन्ध किये गये हैं। जिला का बागवानी विभाग यह सुनिश्चित बनाने में जुटा है कि बागवानी गतिविधियों से जुड़े लोगों को अपने बगीचों की देखभाल को लेकर किसी भी प्रकार की समस्याओं का सामना न करना पड़े।
बागवानी विभाग धर्मशाला के उपनिदेशक डॉ. डी आर वर्मा बताते हैं कि किसानों बागवानों को बागवानी परामर्श हेतू उपनिदेशक उद्यान, विषय वाद विशेषज्ञ के हेल्पलाइन नंबर जारी किये गये हैं। इन नम्बरों पर कॉल करके लोग अपने क्षेत्रों के अधिकारियों से बागवानी गतिविधियों से जुड़ी जानकारी व परामर्श ले सकते हैं।
डॉ. वर्मा बताते हैं इस हेल्पलाइन के तहत बागवानों के अलग-अलग समस्याओं को लेकर जिला में 700 से अधिक लोगों के फोन आए। अधिकतर मामलों में लागों ने बागवानी से कैसे अपनी आजीविका को बढ़ाया जा सकता है बारे सलाह ली है। विभाग के अधिकारियों द्वारा लोगों की समस्याओं को निराकरण कर दिया गया।
वर्मा बताते हैं कि जिला में मौन पालकों के जिनकी मधुमक्खियों बाहरी राज्यों जैसे पंजाब, हरियाणा में शीतकालीन प्रवास पर रखी गई थी उनको वापिस लाने के लिए उद्यान विभाग द्वारा तकरीबन 294 अन्तर्राजीय और अंतरजिला पास जारी किये गये हैं। विभाग द्वारा 250 बागवानों को उनकी मांग के अनुरूप बगीचे में छिड़काव हेतू कीटनाशक व फफंूदनाशक उनके घर द्वार पहंुचाए गये।
जिला के फल संतति एवं प्रदर्शन उद्यान गुम्मर में 84 हजार सेब के पौधे विदेशों से आयात पौधे मनरेगा के द्वारा रोपित करवाए। इसके अलावा जिला कांगड़ा की अन्य नर्सरियों जैसे जाच्छ, इंदपुर में मनरेगाा के अन्तर्गत बागवानी सम्बन्धी विभिन्न कार्य करवाए गये।
वर्मा बताते हैं कि विभाग की विभिन्न योजनाओं जैसे राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, हिमाचल पुष्प क्रान्ति योजना, हिमाचल खुम्ब विकास योजना, एकीकृत बागवानी विकास योजना, प्रधानमंत्री सूक्ष्म सिंचाई योजना के अन्तर्गत जिला के 100 बागवानों को 50 लाख रुपये की सहायता राशि उपलब्ध करवाई गई। लॉकडाउन के दौरान बागवानों को बागवानी कार्यों जैसे आम की बगीचे की स्प्रे, उपकरण खरीद व अन्य कार्यो हेतू पास जारी किये गये। बागवानी उत्पाद जैसे मशरूम इत्यादि की बिक्री हेतू लोगों को प्रोत्साहित किया गया।
वर्मा ने बताया कि बागवानी गतिविधियों को सुचारू रूप से चलाने के लिए लोग जिला उनके मोबाईल नम्बर 9418466420 पर सम्पर्क कर सकते हैं। इसके अलावा लोग सम्बन्धित ब्लॉक के बागवानी अधिकारियों को कॉल कर सकते हैं।
बागवानी गतिविधियों से जुड़े परामर्श के लिए लोग जिला कांगड़ा के विषयवाद विशेषज्ञ(एसएमएस)(मुख्यालय) डॉ0 सरिता शर्मा के मोबाईल नम्बर 8278750265 के अलावा ब्लॉक बैजनाथ, भवारना व पंचरूखी के एसएमएस डॉ0 नरोत्तम कुमार कौशल के मोबाइल नम्बर 9418795195, फलोरिकल्चर के एसएमएस डॉ0 सुबोध चंद्र के मोबाइल नम्बर 9418104723, ब्लॉक सुलह व लम्बागांव के एसएमएस डॉ0 राजेश कुमार चौधरी के मोबाइल नम्बर 9418103617, ब्लॉक धर्मशाला व रैत के एसएसमएस डॉ0 संजय गुप्ता के मोबाइल नम्बर 9418084586, बी-किपिंग के एसएमएस डॉ0 अजय संग्राय के मोबाइल नम्बर 9736100880, मशरूम उत्पादन के एसएमएस डॉ0 विजेंद्र कुमार के मोबाइल नम्बर 9418476145, ब्लॉक कांगड़ा व नगरोटा बगवां के एसएसएस डॉ0 धर्मपाल के मोबाइल नम्बर 9418317360, ब्लॉक नूरपुर, इंदौरा, फतेहपुर व नगरोटा सूरियां के एसएमएस डॉ0 राज कुमार के मोबाइल नम्बर 9418828472 पर भी सम्पर्क कर सकते हैं।
उपायुक्त राकेश प्रजापति का कहना है कि कांगड़ा जिला प्रशासन कोरोना वायरस(कोविड19) के चलते किसानों व बागवानों की सहायता के लिए हमेशा तत्पर हैं। उन्होंने कहा कि बागवानों की सहायता के लिए विभागीय अधिकारियों के मोबाइल नम्बर जारी किये हैं ताकि लोगों को घरद्वार फोन के माध्यम से उनकी समस्याओं का समाधान किया जा सके। उन्होंने अधिक से अधिक संख्या में