सोलन दिनांक 10.04.2020
परवाणु सीमा पर सभी वाहनों की सैनीटाईजेशन आरम्भ- विवेक चन्देल

नोवल कोरोना वायरस के खतरे के दृष्टिगत सोलन जिला के अन्य राज्यों के साथ लगते क्षेत्रों की सीमाओं पर सभी आवश्यक दिशा-निर्देशों का पालन पूर्ण रूप से सुनिश्चित बनाय जा रहा है। यह जानकारी आज यहां अतिरिक्त उपायुक्त सोलन विवेक चन्देल ने दी।
उन्होंने कहा कि जिला के हरियाणा राज्य के साथ लगते परवाणु क्षेत्र में सभी एहतियाती उपाय अपनाए जा रहे हैं। यहां से हिमाचल की सीमा में प्रवेश करने वाले सभी वाहनों को आज से रसायन के माध्यम से सैनीटाईज करना आरम्भ कर दिया गया है ताकि सुरक्षा चक्र को अधिक मजबूती प्रदान की जा सके। यह कार्य अग्निशमन विभाग के सहयोग से किया जा रहा है।
विवेक चन्देल ने कहा कि जिला में अन्य सुरक्षा उपायों की अनुपालना भी सुनिश्चित की जा रही है ताकि कोरोना वायरस के खतरे से सफलतापूर्वक निपटा जा सके।

===============================================

सोलन दिनांक 10.04.2020
जिला दण्डाधिकारी द्वारा बीबीएनडीए क्षेत्र में सील किए गए इलाके के लोगों से पूर्ण सहयोग का आग्रह
होम डिलीवरी के माध्यम से मिलेंगी आवश्यक वस्तुएं

सोलन जिला के नालागढ़ उपमण्डल के तहत बद्दी-बरोटीवाला-नालागढ़ विकास प्राधिकरण (बीबीएनडीए) के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र नगर परिषद बद्दी, नगर परिषद नालागढ़ तथा सभी 41 ग्राम पंचायतों को पूर्ण रूप से सील किया गया है। यह जानकारी उपायुक्त सोलन ने दी।
उन्होंने कहा कि इन 41 ग्राम पंचायतों में ग्राम पंचायत कालूझिण्डा, मन्धाला, सूरजपुर, बरोटीवाला, भटोलीकलां, गुल्लरवाला, लेही, संडोली, मलपुर, थाना, किश्नपुरा, ढेला, लोधीमाजरा, नंदपुर, मानपुरा, सनेड़, खेड़ा, किरपालपुर, राजपुरा, मंझोली, पलासीकलां, ढांग निहली, माजरा, रडियाली, भाटियां, गोलजमाला, भोगपुर, दभोटा, नवांग्राम, पंजैहरा, बगलैहड़, जगतपुर, जोघों, कश्मीरपुर, बरूना, करसोली, बैरछा, मस्तानपुरा, घोलोवाल, खिल्लीयां तथा बघेरी शामिल हैं।
उन्होंने कहा कि वर्ष 2001 की जनगणना के अनुसार इन 41 ग्राम पंचायतों की कुल जनसंख्या 1,07,406 है। सील किए गए पूरे क्षेत्र में लोगों की सुविधा के लिए किराना, दूध, ब्रेड, फल, सब्जियों, दवाओं एवं दवा उपकरणों की होम डिलीवरी प्रातः 7.00 बजे से रात्रि 10.00 बजे के मध्य की जाएगी।
उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि कोविड-19 के कारण उपजे संकट को हराने के लिए निर्देशों का पालन करें और घर पर ही रहें।

============================================

सोलन दिनांक 10.04.2020
बीबीएनडीए क्षेत्र के सम्बन्ध में जारी आवश्यक आदेशों में संशोधन
होम डिलीवरी प्रणाली के तहत समय को बढ़ाया

जिला दंडाधिकारी सोलन केसी चमन ने दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए सोलन जिला के नालागढ़ उपमंडल के तहत बद्दी-बरोटीवाला-नालागढ़ विकास प्राधिकरण (बीबीएनडीए) के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र नगर परिषद बद्दी, नगर परिषद नालागढ़ तथा सभी 41 ग्राम पंचायतों को पूर्ण रूप से सील करने के आदेश में आवश्यक संशोधन किया है।
इस संशोधन के अनुसार होम डिलीवरी के तहत लोगों को दूध देने वाले प्रचलन के अनुसार कार्य कर सकेंगे।
पके तथा बिना पके आवश्यक उत्पाद जिनमें किराना, दूध, ब्रेड, फल तथा सब्जियां सम्मिलित हैं सहित दवाओं एवं दवा उपकरणों की होम डिलीवरी प्रातः 7.00 बजे से रात्रि 10.00 बजे के मध्य की जा सकेगी। थोक विक्रेताओं द्वारा सब्जी एवं फलों की होम डिलीवरी प्रातः 7.00 बजे से रात्रि 10.00 बजे के मध्य ही की जा सकेगी। होम डिलीवरी प्राधिकृत विक्रेताओं द्वारा ही की जाएगी। इनके पास सक्षम प्राधिकरण द्वारा जारी कफ्र्यू पास होने चाहिएं।
अन्य शर्तें पूर्ववत रहेंगी। संशोधित आदेश तुरन्त प्रभाव से लागू हो गए हैं तथा आगामी आदेशों तक जारी रहेंगे।

===============================================

सोलन दिनांक 10.04.2020
नगर परिषद परवाणु के तहत आने वाला समूचा क्षेत्र तथा कसौली तहसील की ग्राम पंचायत जंगेशु एवं टकसाल पूर्ण रूप से सील

आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए होम डिलीवरी प्रणाली
जिला दंडाधिकारी सोलन केसी चमन ने दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए सोलन जिला के परवाणु क्षेत्र के लिए आदेश जारी किए हैं। यह आदेश हरियाणा राज्य के पंचकूला जिला के परवाणु के साथ लगते कालका क्षेत्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 03 पोजिटिव मामले सामने आने के उपरान्त जन सुरक्षा को ध्यान में रखकर जारी किए गए हैं।
इन आदेशों के अनुसार नगर परिषद परवाणु के तहत आने वाला समूचा क्षेत्र तथा जिला की कसौली तहसील की ग्राम पंचायत जंगेशु एवं टकसाल को पूरी तरह सील कर दिया गया है।
इन आदेशों के अनुसार उक्त समूचे क्षेत्र में आगामी आदेशों तक किराना, दूध, ब्रेड, फल, सब्जी तथा कीटनाशकों की कोई भी दुकान खुली नहीं रहेगी। इस क्षेत्र में एपीएमसी की सब्जी मंडी भी आगामी आदेशों तक बंद रहेगी। उक्त क्षेत्र में किसी भी परिस्थिति में किसी भी व्यक्ति अथवा वाहन को आने-जाने की अनुमति नहीं होगी।
सरकारी तथा निजी अस्पताल, नर्सिंग होम तथा इनमें आपातकालीन चिकित्सा स्थिति में आने वाले व्यक्ति, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, आयुष विभाग तथा होम्योपैथिक कर्मी, चिकित्सा तथा स्वास्थ्य परीक्षण के लिए प्रयोगशालाएं इन आदेशों के दायरे से बाहर रहेंगी। किन्तु स्वास्थ्य तथा चिकित्सा परीक्षण के लिए सैंपल केवल घर से एकत्र किए जा सकेंगे।
आदेशों के तहत जिला प्रशासन, दंडाधिकारी कार्य के लिए नियुक्त सरकारी कर्मी एवं जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, पुलिस, सेना, अर्द्ध सैनिक बल, गृह रक्षा, नागरिक सुरक्षा तथा अन्य ऐसे सुरक्षा बल जो राज्य अथवा केंद्र सरकार के अधीन हैं, निजी सुरक्षा एजेंसियां, जेल एवं सुधार सेवाएं, सम्बन्धित उपमंडलाधिकारी द्वारा प्रमाणित ऐसे सरकारी अथवा अर्ध सरकारी कर्मी जो कोविड-19 के खतरे को न्यून करने के लिए कार्यरत हों, बैंक, एटीएम, कोषागार, बीमा कार्यालय, डाकघर, विद्युत, जल, नागरिक सेवाएं, स्वच्छता एवं ऊर्जा हस्तांतरण इकाइयों जैसी आवश्यक सेवाओं के क्रियाशील रखरखाव में संलग्न अधिकारी एवं कर्मी, अग्निशमन सेवाएं, सूचना प्रौद्योगिकी, दूरसंचार एवं इंटरनेट सेवाओं सहित पशुपालन कृषि तथा वन विभाग सहित सड़क अधोसंरचना के कार्य में संलग्न अधिकारी एवं कर्मचारियों पर यह आदेश लागू नहीं होंगे।
पेट्रोल पंप, रसोई गैस, सीएनजी, तेल एजेंसियां, उनके भंडार गृह तथा संबंधित परिवहन गतिविधियां भी इन आदेशों के दायरे के बाहर होंगी।
सक्षम प्राधिकरण से अनुमति प्राप्त आवश्यक वस्तुओं के उत्पादन में संलग्न औद्योगिक इकाइयां, ऐसी औद्योगिक इकाइयां जिनमें सतत प्रक्रिया आवश्यक है तथा आवश्यक वस्तुओं, दवा एवं इनकी सहयोगी, साबुन, खाद्य प्रसंस्करण इकाइयां तथा ऐसा कपड़ा उद्योग (वस्त्र को छोड़कर) जिसमें औद्योगिक परिसर के भीतर कामगारों के रहने का स्थान हो भी इन आदेशों के दायरे से बाहर हैं।
शीत भंडारण गृह तथा भंडारण सेवाएं, क्वारंटाइन सुविधाओं के लिए निर्धारित स्थान, ऐसे होटल, रेस्ट हाऊस तथा होम स्टे जहां कफ्र्यू में फंसे व्यक्तियों एवं मेडिकल तथा पैरामेडिकल कर्मियों को ठहराया जा सकता हो तथा जिन्हें दवा उद्योग के कामगारों को ठहराने के लिए चयनित किया गया हो, चालकों की सुविधा के लिए अधिसूचित ढाबे एवं होटल, अनुमति प्राप्त वाहन, मुरम्मत कार्यशालाएं, मोटर मैकेनिक, टायर पंचर की दुकानें तथा परिवहन कार्यशालाएं, परिवहन यूनियनों के कार्यालय के सामने खुला स्थान तथा ऐसे ट्रांसपोर्टरों द्वारा किया जाने वाला परिवहन, कृषि कार्य के लिए कृषक एवं कृषि मजदूर भी इन आदेशों के दायरे से बाहर होंगे।
होम डिलीवरी के तहत लोगों को दूध देने वाले भी इन आदेशों के दायरे से बाहर होंगे।
पके तथा बिना पके आवश्यक उत्पाद जिनमें किराना, दूध, ब्रेड, फल तथा सब्जियां सम्मिलित हैं सहित दवाओं एवं दवा उपकरणों की होम डिलीवरी प्रातः 7.00 बजे से रात्रि 10.00 बजे के मध्य की जा सकेगी। थोक विक्रेताओं द्वारा सब्जी एवं फल की होम डिलीवरी प्रातः 7.00 बजे से रात्रि 10.00 बजे के मध्य ही की जा सकेगी। होम डिलीवरी प्राधिकृत विक्रेताओं द्वारा ही की जाएगी। इनके पास सक्षम प्राधिकरण द्वारा जारी कफ्र्यू पास होने चाहिएं।
उप पुलिस अधीक्षक, परवाणु तथा सहायक आयुक्त परवाणु यह सुनिश्चित बनाएंगे कि अनुमति प्राप्त व्यक्तियों एवं एजेंसियों द्वारा होम डिलीवरी प्रक्रिया प्रदत्त समय सीमा में प्रभावी एवं सुचारू कार्य करे। इस आदेश द्वारा कफ्र्यू से छूट प्राप्त सभी व्यक्ति, अधिकारी एवं कर्मचारी सोशल डिस्टेन्सिग नियम तथा समय-समय पर कोरोना वायरस के खतरे से बचाव के लिए जारी नियमों का पूर्ण पालन सुनिश्चित बनाएंगे। इसके अतिरिक्त सील किए गए क्षेत्र में कोई भी व्यक्ति मास्क पहने बिना तथा हाथों कोे सैनिटाईज किए बिना बाहर नहीं निकलेगा।
कृषि विकास अधिकारी एवं कृषि विभाग के प्रसार अधिकारी यह सुनिश्चित बनाएंगे कि कृषक एवं कृषि मजदूर सोशल डिस्टेन्सिग नियम का पालन करें और वास्तविक कृषि कार्य ही किए जाएं।
आदेशों में स्पष्ट किया गया है कि दवाओं सहित सहित सभी आवश्यक एवं गैर आवश्यक वस्तुओं का परिवहन निर्बाध रूप से जारी रहेगा। इनके कामगार एवं कर्मी भी उक्त क्षेत्र में अनुमति प्राप्त वाहनों में आ-जा सकेंगे। इनके पास सम्बन्धित कम्पनी द्वारा जारी पहचान पत्र होना चाहिए। किसी भी कामगार एवं कर्मचारी को पैदल आने-जाने की अनुमति नहीं होगी।
इन आदेशों की अवहेलना पर आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 तथा भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के तहत कार्रवाही अमल में लाई जाएगी। आदेशों की अनुपालना कार्यकारी दण्डाधिकारियों, पुलिस अधिकारियों एवं कर्मियों द्वारा सुनिश्चित बनाई जाएगी।
यह आदेश तुरन्त प्रभाव से लागू हो गए हैं तथा आगामी आदेशों तक लागू रहेंगे।

============================================

सोलन दिनांक 10.04.2020
सोलन जिला से 18 व्यक्तियों की रिपोर्ट नेगेटिव

सोलन जिला से गत दिवस कोरोना वायरस संक्रमण की जांच के लिए एकत्रित 38 में से 18 रक्त नमूने केन्द्रीय अनुसंधान संस्थान, कसौली एवं 20 रक्त नमूने इन्दिरा गांधी चिकित्सा महाविद्यालय, शिमला भेजे गए थे। इनमें से केन्द्रीय अनुसंधान संस्थान, कसौली भेजे गए 18 रक्त नमूनों की कोरोना वायरस के सम्बन्ध में रिपोर्ट नेगेटिव आई है। यह जानकारी आज यहां जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एन.के. गुप्ता ने दी।
उन्होंने कहा कि इन्दिरा गांधी आयुर्विज्ञान चिकित्सालय, शिमला भेेजे गए 20 रक्त नमूनों की रिपोर्ट अभी नहीं आई है।
डाॅ. एन.के. गुप्ता ने कहा कि इन 38 रक्त नमूनों में से 08 बु्रकलिन अस्पताल बद्दी तथा 20 बद्दी स्टेडियम में क्वारेनटाईन किए गए व्यक्तियों में से एकत्र किए गए थे। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय अनुसंधान संस्थान, कसौली से प्राप्त रिपोर्ट उन 18 व्यक्तियों की है जो तबलीगी जमात के कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्तियों के सम्पर्क में थे।
जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि जिला प्रशासन के दिशा-निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग नियमित रूप से कोरोना वायरस की जांच एवं पुष्टि की दिशा में अग्रसर है। उन्होंने कहा कि सोलन जिला में वर्तमान में 2293 व्यक्ति होम क्वारेनटाईन में हैं। 408 व्यक्ति संस्थागत क्वारेनटाईन में हैं। विदेश से आए 68 व्यक्ति ऐसे हैं जिन्होंने 28 दिन निगरानी की अवधि पूर्ण कर ली है।

===============================================

सोलन दिनांक 10.04.2020
चालकों की सुविधा के लिए आवश्यक आदेश

जिला दण्डाधिकारी सोलन के.सी. चमन ने कोरोना वायरस के खतरे के दृष्टिगत सोलन जिला में विभिन्न वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए आने वाले एवं आवश्यक सेवाओं के लिए कार्यरत चालकों की सुविधा के लिए आदेश जारी किए हैं। यह जानकारी अतिरिक्त उपायुक्त सोलन विवेक चन्देल ने दी।
उन्होंने कहा कि इन आदेशों के अनुसार कफ्र्यू अवधि में आवश्यक सेवाओं के लिए कार्यरत एवं आवश्यक सामग्री के परिवहन में संलग्न चालकों की सुविधा के लिए जिला के सभी उपमण्डलों में टायर पंचर की चिन्हित दुकानें अगले आदेश तक प्रतिदिन हर समय खुला रखने के आदेश जारी किए गए हैं।
जिला दण्डाधिकारी द्वारा पहले ही सोलन उपमण्डल में 12, नालागढ़ उपमण्डल में 09, अर्की उपमण्डल में 10 तथा कण्डाघाट उपमण्डल में 04 टायर पंक्चर की दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है।
इन आदेशों के अनुसार उपरोक्त के अतिरिक्त सोलन उपमण्डल में कथेड़ पुलिस लाईन, सोलन के समीप अजय आॅटो मोटर (मालिक अजय कुमार, मोबाईल नम्बर 98173-55791, 75596-51051), नालागढ़ उपमण्डल में निर्मल सिंह टायर सर्विस, दभोटा, नालागढ़ (मोबाईल नम्बर 75890-27282), अर्की उपमण्डल में जय मां जालपा, समीप गगन फीलिंग स्टेशन कुनिहार (मालिक मनोज वर्मा, मोबाईल नम्बर 96255-25550) तथा कण्डाघाट उपमण्डल में मां भद्रकाली आॅटो टायर वक्र्स, ममलीग (मालिक राजेश कुमार, मोबाईल नम्बर 94183-91333) को अपनी टायर पंक्चर की दुकानें खुला रखने की अनुमति प्रदान की गई है।
इन सभी को कोविड-19 के खतरे के दृष्टिगत सोशल डिस्टेन्सिग, साफ-सफाई एवं सरकार द्वारा समय-समय पर जारी नियमों का पूरा पालन करना होगा।
इस सम्बन्ध में पुलिस अधीक्षक सोलन, पुलिस अधीक्षक बद्दी, उपमण्डलाधिकारी सोलन, नालागढ़, अर्की एवं कण्डाघाट तथा कार्यशाला मालिकों को आवश्यक निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

===============================================

सोलन दिनांक 10.04.2020
चालकों की सुविधा के लिए भोजनालयों के सम्बन्ध में आदेश

जिला दण्डाधिकारी सोलन के.सी. चमन ने कोरोना वायरस के खतरे के दृष्टिगत सोलन जिला में विभिन्न वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए आने वाले एवं आवश्यक सेवाओं के लिए कार्यरत चालकों को भोजन की सुविधा प्रदान करने के लिए आदेश जारी किए हैं। यह जानकारी अतिरिक्त उपायुक्त सोलन विवेक चन्देल ने दी।
उन्होंने कहा कि इन आदेशों के अनुसार कफ्र्यू अवधि में आवश्यक सेवाओं के लिए कार्यरत एवं आवश्यक सामग्री के परिवहन में संल्गन चालकों की सुविधा के लिए जिला के सभी उपमण्डलों में चिन्हित ढाबों को अगले आदेश तक प्रतिदिन हर समय खुला रखने के आदेश जारी किए गए हैं।
जिला दण्डाधिकारी द्वारा पहले ही सोलन उपमण्डल में 04, नालागढ़ उपमण्डल में 04, अर्की उपमण्डल में 05 तथा कण्डाघाट उपमण्डल में 01 ढाबे को खोलने की अनुमति दी गई है।
इन आदेशों के अनुसार उपरोक्त के अतिरिक्त अर्की उपमण्डल में कुनिहार स्थित गौतम फूड प्वांईट (मालिक सुरेश कुमार, मोबाईल नम्बर 85809-72157), कण्डाघाट उपमण्डल में सायरी स्थित ठाकुर भोजनालय (मालिक सुनील कुमार, मोबाईल नम्बर 82196-91711) तथा अप्पर बाजार चायल स्थित आंनद भोजनालय (मालिक इन्दर सिंह, मोबाईल नम्बर 98163-73435) को अपने ढाबे खुला रखने की अनुमति प्रदान की गई है।
इन सभी को कोविड-19 के खतरे के दृष्टिगत सोशल डिस्टेन्सिग, साफ-सफाई एवं सरकार द्वारा समय-समय पर जारी नियमों का पूरा पालन करना होगा।
इस सम्बन्ध में पुलिस अधीक्षक सोलन, पुलिस अधीक्षक बद्दी, उपमण्डलाधिकारी सोलन, नालागढ़, अर्की एवं कण्डाघाट तथा कार्यशाला मालिकों को आवश्यक निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

==============================================

कांगड़ा जिला में किताबों की दुकानें भी खुलेंगी: डीसी
प्रातः आठ बजे से 11 बजे तक समय किया निर्धारित
दुकानों में सामाजिक दूरी बनाए रखने के भी दिए निर्देश
सब्जियों तथा खाद्य वस्तुओं की रेट लिस्ट लगाना जरूरी
धर्मशाला, 10 अप्रैल। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि कांगड़ा जिला में किताबों की दुकानें प्रातः आठ बजे से लेकर दोपहर 11 बजे तक खोलने के आदेश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि कई स्कूलों में आनलाइन पढ़ाई आरंभ हो चुकी है तथा विद्यार्थियों की सुविधा के लिए ही किताबों की दुकानों को खोलने का निर्णय लिया गया है। ऐसी दुकानें ही खुलेंगी जिनमें केवल स्टेशनरी का ही सामान हो और दुकानों पर उचित सामाजिक दूरी बनाए रखने के दिशा निर्देश भी दिए गए हैं। खाद्य वस्तुओं, सब्जियों तथा मेडिसन की दुकानों को पहले की तरह ही प्रातः आठ बजे से दोपहर 11 बजे तक खुले रखने के निर्देश दिए गए हैं।
उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जिला प्रशासन की ओर से कारगर कदम उठाए जा रहे हैं। लोगों की आवाजाही को पूर्णतयः अंकुश लगाया जा रहा है सीमांत क्षेत्रों में चौकसी बढ़ाई गई है और लोगों से घरों में ही रहने की हिदायतें दी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि कई जगहों पर लोगों को खाद्य वस्तुओं की होम डिलीवरी की व्यवस्था भी की गई है ताकि कम से कम लोग आवश्यक खाद्य सामग्री खरीदने के लिए घर से बाहर निकलें। उन्होंने कहा कि घुमंतु परिवारों, मजदूरों को भी राशन उपलब्ध करवाने के लिए उपयुक्त कदम उठाए गए हैं।
फसलों की कटाई के लिए समय सीमा तय करने भी लेंगे निर्णय:
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि खेतीबाड़ी तथा फसलों की कटाई के लिए समय सीमा तय करने के लिए 11 अप्रैल को निर्णय लिया जाएगा ताकि किसानों को भी किसी तरह की असुविधा नहीं हो। स्थानीय स्तर पर किसानों से सब्जियां खरीदने और मंडियों तक पहुंचाने की व्यवस्था एपीएमसी के माध्यम से की गई है।
आईसोलेशन सेंटर में नागरिकों को 14 दिन की अवधि पूरी करनी होगी
कांगड़ा जिला के सीमांत क्षेत्रों में स्थापित आईसोलेशन केंद्रों में रखे गए नागरिकों को 14 दिन की अवधि के बाद ही घर जाने की अनुमति मिलेगी तथा इस दौरान उनका मेडिकल चेकअप भी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आईसोलेशन केंद्रों में नागरिकों को भोजन, ठहरने सहित अन्य सुविधाएं भी दी जा रही हैं इसके साथ ही योग शिविर भी लगाए जा रहे हैं। उपायुक्त ने कहा कि बाहरी राज्यों या अन्य जिलों से लोगों की आवाजाही पर पूर्णतयः रोक है तथा अगर कोई पैदल चलते हुए भी कांगड़ा जिला में प्रवेश करते पाया गया तो उनको सीमांत क्षेत्रों में स्थापित आईसोलेशन केंद्रों में 14 दिन के लिए रखा जाएगा।
==============================================
जिला में आवश्यक खाद्य वस्तुओं की आपूर्ति:
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने बताया कि 10 अप्रैल को कांगड़ा जिला में 12 गाड़ियां ब्रेड की, 207 सब्जियों के वाहन, 68 वाहन दूध के, 38 गाड़ियां रसोई गैस की, पेट्रोल डीजल की 7 वाहन तथा अनाज की 85 गाड़ियों, मेडिसन की 41 वाहनों द्वारा आपूर्ति की गई है। खाद्य निगम के गोदामों में दो महीने के राशन के भंडारण किया गया है इसके अतिरिक्त 25 ट्रक खाद्यान्नों की सप्लाई की गई है। गुरदासपुर, जलंधर, पठानकोट सब्जी मंडियों से भी सब्जियों की आपूर्ति हो रही है। खाद्य निगम पंजाब से 1100 मीट्रिक टन राशन की सप्लाई आना अभी बाकी है।
खाद्य वस्तुओं तथा सब्जियों के दुकानों पर रेट लिस्ट लगाना जरूरी
उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि खाद्य वस्तुओं तथा सब्जियों की दुकानों पर रेट लिस्ट लगाना जरूरी है, रेट लिस्ट नहीं लगाने वाले दुकानदारों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारियों को नियमित तौर पर रेट लिस्ट चेक करने के दिशा निर्देश भी दिए गए हैं। उपायुक्त ने लोगों से भी अपील करते हुए कहा कि घरों में भी खाद्य वस्तुओं का भंडारण नहीं करें। उन्होंने कहा कि खाद्य वस्तुओं तथा सब्जियों की नियमित तौर पर सप्लाई हो रही है।

===============================================

स्वयंसेवी संस्थायें अपने स्तर पर न बांटे राशन : एसडीएम
धर्मशाला 10 अप्रैल : उपमंडल अधिकारी हरीश गज्जू ने आज यहां बताया कि
उपमंडल स्तर पर नियमित तौर पर गरीब परिवारों को राशन उपलब्ध करवाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्वयंसेवी संस्थाओं अपने स्तर पर राशन इत्यादि वितरण का कार्य नहीं करें इससे सामाजिक दूरी का नियम टूट सकता है इसलिए सभी से अनुरोध है कि घरों में रहें और बाहर नहीं निकलें।
उन्होंने कहा कि गरीब, निर्धन तथा झुग्गी झोंपड़ी में रहने वाले जरूरतमंद लोगों को राशन की आपूर्ति करने के लिए जिला में हंगर लाइन आरंभ की गई है। ऐसे गरीब तथा मजदूर लोग जिनके पास राशन खरीदने के लिए पैसे नहीं है वे इस हंगर लाइफ लाइन में दिए गए नंबरों से संपर्क कर सकते हैं ताकि उनको राशन उपलब्ध करवाया जा सके।