CHANDIGARH,27.02.20,प्राचीन कला केंद्र और आई सी सी सी आर के संयुक्त तत्वाधान से आज एक विशेष सांगीतिक संध्या का आयोजन किया गया जिस में कोलकाता से आये सौम्यजीत पॉल ने सितार की प्रस्तुति से लोगों की दिल जीत लिया इस कार्यक्रम का आयोजन केंद्र के ऍम एल कोसेर सभागार में सायं ४ बजे से किया गया इस अवसर पर केंद्र के सचिव श्री सजल कोसेर एवं रजिस्ट्रार डॉ। भी उपस्थित थे शोभा कोसेर भी उपस्थित थे

कोलकाता से आये सौम्यजीत पॉल एक संगीतिका परिवार से संभधित्त हैं इन्होने ने अपने पिता श्री सत्यजीत पॉल से संगीत की प्रारंभिक शिक्षा ग्रहण की उपरांत गुरु सौमित्र लाहिरी से सितार की विधिवत शिक्षा प्राप्त की सौम्यजीत ने युवा कलाकारों की बीच अपना विशेष स्थान बनाया है और अपनी प्रतिभा के दम पर ऑल इंडिया रेडियो और दूरदर्शन के ए ग्रेड कलाकार बने

इन्होने ने अपने कार्यक्रम की शुरुआत राग शुद्ध बसंत से की जिस में इन्होने आलाप से शुरू करके जोड़ झाला प्रस्तुत किया । उपरांत सौम्यजीत ने विलम्बित तीन ताल और द्रुत तीन ताल में दो गतें पेश की कार्यक्रम का समापन इन्होने राग मिश्रा भैरवी में निबद्ध धुन से किया जिसे दर्शकों ने खूब सराहा

इनके साथ अमृतसर से आये युवा तबला वादक श्री सिद्धार्थ चटर्जी ने बखूबी सांगत की

कार्यक्रम के अंत में iccr की निदेशक श्रीमती नलिनी सिंघल ने कलाकारों को पुष्प दे कर सम्मानित किया