धर्मशाला, 26 जनवरी- 71वें गणतंत्र दिवस के पावन अवसर पर आज कांगड़ा जिले के धर्मशाला में ज़िला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता एवं सहकारिता मंत्री राजीव सैजल ने समारोह की अध्यक्षता की। उन्होंने राष्ट्रीय ध्वज फहराया तथा पुलिस, होमगार्ड और विभिन्न स्कूलों के एनसीसी, स्काऊटस व गाईडस एवं एनएसएस के विद्यार्थियों की टुकड़ियों द्वारा निकाले गए आकर्षक मार्च पास्ट की सलामी ली। इसके पश्चात, सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया गया।
इस अवसर पर अपने संबोधन में राजीव सैजल ने संविधान निर्माताओं के साथ-साथ देश की आजादी एवं गणतंत्र की स्थापना में स्वतंत्रता सेनानियों के बहुमूल्य योगदान, निस्वार्थ त्याग और बलिदान को याद किया। उन्होंने बहुमूल्य सेवाओं के लिए भारतीय सेनाओं के जवानों का भी आभार जताया।
उन्होंने ने कहा कि कांगड़ा एक ऐतिहासिक जिला है और आबादी के लिहाज से प्रदेश का सबसे बड़ा जिला भी है, इसे ध्यान मंे रखते हुए प्रदेश सरकार ने विकासोन्मुखी दृष्टिकोण के साथ जनकल्याणकारी नीतियों और कार्यक्रमों को प्रभावी ढंग से लागू कर कांगड़ा में विकास के नए आयाम स्थापित किये जा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि प्रदेश ने विकास के सभी क्षेत्रों में आशातीत प्रगति की है। इस प्रगति के लिए सभी प्रदेशवासी प्रशंसा के पात्र हैं। प्रदेश ने पहाड़ी राज्यों को विकास की नई दिशा दिखाई है। सामाजिक, आर्थिक तथा औद्योगिक विकास के साथ-साथ पर्यावरण संरक्षण पर भी विशेष ध्यान दिया गया है। प्रदेश न केवल देश में बल्कि विश्व में निवेशक प्रिय गंतव्य बनने की ओर अग्रसर है। प्रदेश में पहली बार 7-8 नवम्बर, 2019 को धर्मशाला में ग्लोबल इन्वेस्टर मीट आयोजित की गई। इस मीट में 96 हजार करोड़ रुपये से भी ज्यादा के निवेश प्रस्तावों के 703 एम.ओ.यू. हस्ताक्षरित किए गए हैं। राज्य ने सुशासन शिक्षा, स्वास्थ्य, समाज कल्याण, कृृषि, बागबानी जैसे क्षेत्रों में उदाहरणीय प्रदर्शन प्रस्तुत किया है, जिसके लिए प्रदेश को राष्ट्रीय स्तर पर कई पुरस्कार भी मिले हैं।
राजीव सैजल ने कहा कि वर्तमान सरकार ने मंत्रिमण्डल की पहली बैठक में सामाजिक सुरक्षा पेंशन पाने की आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया, जिसमें कोई आय सीमा नहीं रखी गई। इस निर्णय से वरिष्ठजनों को विशेष लाभ पहुंचा है। आज प्रदेश में लगभग 3 लाख 57 हजार वरिष्ठजनों को पेंशन मिल रही है। प्रदेश में आरम्भ जनमंच, मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन, हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना, हिमकेयर तथा सहारा जैसी प्रमुख योजनाओं के प्रभावशाली क्रियान्वयन से प्रदेशवासियों को विशेष राहत पहुंची है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में आयुष्मान भारत योजना में कवर न होने वाले सभी परिवारों के लिए चलाई जा रही ‘हिम केयर’ योजना के तहत 5 लाख रुपये प्रति परिवार पांच सदस्यों के लिए निःशुल्क उपचार की सुविधा प्रदान की जा रही है। योजना का लाभ उठाने के लिए 199 अस्पतालों को पंजीकृत किया गया है, जिसमें 56 प्राइवेट अस्पताल हैं। एक वर्ष के भीतर ही 5 लाख 50 हजार परिवारों ने अपना पंजीकरण करवाया है। अब तक 58 हजार से भी ज्यादा रोगी इस योजना का लाभ उठा चुके हैं जिन पर सरकार ने 54.75 करोड़ रुपये व्यय किए हैं। आयुष्मान भारत योजना के तहत कांगड़ा जिला में 1 लाख 72 हजार स्वास्थ्य कार्ड बनाए गए हैं।
सामाजिक न्याय मंत्री ने कहा कि जिला कांगड़ा में पर्यटन की अपार सम्भावनाएं हैं। विभिन्न शक्तिपीठों और साहसिक पयर्टन के लिए देश-विदेश से हजारों पर्यटक हर वर्ष यहां आते हैं। डल झील के सौंदर्यीकरण पर 1.20 करोड़ रुपए की राशि व्यय की जा रही है। इसके अतिरिक्त सौरभ वन विहार पालमपुर पर 1.15 करोड़, कांगड़ा विलेज हॉट पर 1.20 करोड़ रुपये व्यय किये जा रहे हैं। बीड़ विलिंग में पर्यटन को विकसित करने के लिए ‘‘नई राहें नई मंजिलें’’ योजना के अन्तर्गत 21 करोड़ रुपये व्यय किये जा रहे हैं। चामुण्डा, कांगड़ा और ज्वालाजी मंदिरों के सौन्दर्यीकरण का कार्य भी आरंभ हो चुका है। श्रद्वालुओं को बेहतर सुविधायें उपलब्ध करवाने के लिये कारगर कदम उठाए गए हैं। जिला के पौंगडैम क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने हेतू जल-क्रीड़ाओं एवं अन्य संभावित गतिविधियों का विस्तार किया जाएगा।
सामाजिक न्याय मंत्री ने इस अवसर पर सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देने वाले कलाकारों, आकर्षक मार्च पास्ट करने वाली टुकड़ियों को पुरस्कृत किया।
इससे पूर्व राजीव सैजल ने धर्मशाला स्थित शहीद स्मारक जाकर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की।
इसके अतिरिक्त, जिलाभर में उपमंडल स्तरों पर हर्षोल्लास के साथ गणतंत्र दिवस मनाया गया। विभिन्न उपमंडलों में संबंधित उपमंडलाधिकारी (नागरिक) ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया और मार्च पास्ट की सलामी ली। इस अवसर पर स्कूली बच्चों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।
इस अवसर पर मुख्यातिथि ने ‘‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’’ की पोस्टर एवं नारा लेखन प्रतियोगिता की विजेताओं दीक्षा, सुकीर्ति कौंडल, प्रिया, खुशी, शगुन चौधरी, सलोनी को भी पुरस्कृत किया गया।
राजीव सैजल ने इस दौरान दिव्यांगजनों दीक्षा, राजमल, नानक चंद, शायना, सानिया को व्हीलेचयर, हियरिंग ऐड, स्मार्ट केन, सीपी चेयर इत्यादि उपकरण वितरित किये।
इसके अतिरिक्त सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली बेटियों को भी सम्मानित किया। इन खिलाड़ियों में बैजनाथ की आंचल राणा, भवारना की प्रियंका, देहरा की जेनिफर गुलेरिया, धर्मशाला की सुप्रिया, फतेहपुर की श्रुती शर्मा, इंदौरा की सोमी देवी, कांगड़ा की नैना देवी, लम्बागांव की कविता, नगरोटा बगवां की आरूषि वालिया, नगरोटा सूरियां की शिक्षा बलोरिया, नूरपुर की अनीता ठाकुर, पंचरूखी की दीक्षा सूद, परागपुर की कुमारी दाऊलिम, रैत की स्नेहलता, सुलह की श्वेता ठाकुर के अतिरिक्त खेलो इण्डिया में कुश्ती में चौथे स्थान पर रहने वाली मधु शर्मा प्रमुख हैं। इसके अतिरिक्त मुख्यातिथि ने सैनिक कल्याण विभाग में उत्कृष्ठ सेवायें देने वाले कृष्ण कुमार को भी सम्मानित किया गया।
स्थानीय समाजसेवी संतोष पटियाल ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री राहत कोष के लिये मुख्यातिथि को 10 हजार रुपये का चैक भेंट किया।
समारोह में निर्वासित तिब्बत सरकार के प्रधानमंत्री लोबसांग सांग्ये, वित्त मंत्री कर्मा यशी, विधायक विशाल नेहरिया, केसीसी बैंक के उपाध्यक्ष डॉ. राजीव भारद्वाज, भाजपा जिलाध्यक्ष चंद्रभूषण नाग, पूर्व विधायक संजय चौधरी, उपायुक्त कांगड़ा राकेश कुमार प्रजापति, पुलिस अधीक्षक विमुक्त रंजन तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी, जनप्रतिनिधि तथा बड़ी संख्या में जिलावासी उपस्थित थे।