हमीरपुर 17 जुलाई। साहिल म्यूजिकल ग्रुप कांगू के कलाकारों ने हमीरपुर विकास खण्ड की ग्राम पंचायत बस्सी झनयारा के गांव झनयारा मेेंं और ग्राम पंचायत देई का नौण के पनयाला गांव में सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005 के महत्वपूर्ण पहलुओं की जानकारी उपलब्ध करवाई। बस्सी झनयारा में ग्राम पंचायत प्रधान ओमा देवी, उप प्रधान रमेश चंद, वार्ड सदस्य अंजना कुमारी, लता कुमारी, प्रीतो देवी और हरनाम सिंह उपस्थित रहे जबकि पनयाला में प्रधान ग्राम पंचायत देई का नौण रंजन शर्मा, महिला मण्डल प्रधान सरला देवी सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।
हिप्पा के सौजन्य से सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रमों में ग्रुप के कलाकारों शिव दयाल सिंह, उपमा ठाकुर, रिशु ठाकुर, प्रकाशं चंद, अजय कुमार, शुभम धड़ोच, वीरेन्द्र कुमार ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को बताया गया कि सूचना का अधिकार एक मौलिक अधिकार है। सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 में लागू हुआ है। इसके तहत सूचना मांगने वाले व्यक्ति को 30 दिन में सूचना देनी अनिवार्य है। सूचना नहीं देने पर प्रथम अपीलीय अधिकारी सूचना के लिए कहेगा, सूचना न देने की सूरत में 25000 रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता है और सूचना देना भी अनिवार्य है।
सूचना का अधिकार अधिनियम लोगों को अपने अधिकारों की सुरक्षा तथा अन्याय के विरूद्ध अपनी आवाज बुलंद करने का अवसर प्रदान करता है।
सूचना का अधिकार अधिनियम के आने से जहां विकासात्मक कार्यों में दक्षता, पारदर्शिता तथा तेजी आई है वहीं ग्रामीण विकास को नई दिशा मिली है। लोग अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होकर ही सरकार द्वारा विभिन्न विभागों के माध्यम से चलाई जा रही योजनाओं का लाभ उठा सकते हैं।
उन्होंने कहा कि सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत कोई भी व्यक्ति एक सादे कागज पर प्रार्थना पत्र के माध्यम से किसी भी विभाग से सम्बंधित जानकारी हासिल कर सकता है। बीपीएल परिवारों के लोग केवल सादे कागज पर आवेदन कर किसी भी विभाग से सूचना :िशुल्क प्राप्त कर सकते हैं।