पंचकूला,11.06.19- - आज के इस बदलते दौर में नारी का सम्मान और बच्चों की शिक्षा और अपने बजुर्गों का सम्मान कम होता नजर आता है और इसके लिए देव मानव संस्थान और राष्ट्रीय महिला जागृति मंच एक अभियान के तहत इनको इनका सम्मान दिलवाने के लिए वचनबद्ध है यह बात राष्ट्रीय महिला जागृति मंच आल इंडिया की महासचिव प्रीति धारा ने ड्रीम होम में महिलाओं कि एक मीटिंग को संबोधित करते हुए कही|

उन्होंने कहा कि जहां आज नारी पुरषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कार्य कर रही है फिर भी उसे शोषण का शिकार होना पड़ता है बच्चे शिक्षा की जगह भीख मांगते नजर आते हैं और देश मे लोग सब कुछ होते हुए भी अपने बुजुर्ग माता पिता को वृद्ध आश्रम में रख रहे है ये हमारे देश के लिए खतरे की घंटी है|

उन्होंने कहा कि लोग क्यों भूल जाते है कि हम भारत देश के वासी है वो भारत देश जो अपनी संस्कृति ,भाईचारे के लिए पूरी दुनिया मे एक अलग पहचान बनाये हुए है वो देश जो देवी , देवताओ और पीरों फकीरों का देश है आज हम देश वासी मिलकर हर त्योहार मानते हैं|

उन्होंने कहा राष्ट्रीय महिला जागृति मंच ने पूरे देश में एक मुहिम शुरू कि हुई है जिसमे महिलाओं के लिए सिलाई ,ब्यूटीपार्लर ,कम्प्यूटर आदि के सेंटर खोल महिलाओं और लड़कियों को मुफ्त ट्रेनिंग दी जाएगी बच्चों की शिक्षा के लिए देव पाठशाला के नाम से स्कूल खोले जा रहें है और लोगो को बुजर्गों की सेवा करने के लिए नुक्कड़ सभाएँ की जा रही हैं और वे खुद पूरे देश मे भृमण कर इन नुक्कड़ सभाओं को सम्बोधित करेंगीं|

इस अवसर पर रेशमा रानी जी को जीरकपुर राष्ट्रीय महिला जागृति मंच का प्रधान नियुक्त किया गया जिस पर रेशमा रानी ने कहा कि वे इस मंच के लिए कार्य कर लोगो को मंच की नीतियों की जानकारी दे उन्हें जागरूक करेगी|