मीरपुर 15 नवम्बर। हमीरपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक नरेन्द्र ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार स्कूलों में बच्चों को गुणवत्तायुकत शिक्षा प्रदान करने के लिए कृतसंकल्प है तथा इस दिशा में करोड़ों रूपए स्कूल भवनों के निर्माण पर व्यय किए जा रहे हैं। वह बीरवार को हमीरपुर शहर मे स्थित टाऊन हॉल के सामने जिला की सबसे पुरानी राजकीय केन्द्रीय प्राथमिक पाठशाला के वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह में बतौर मुख्यातिथि शिरकत करने के बाद बच्चों तथा उनके अभिभावकों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक बच्चे के अंदर प्रतिभाा छुपी होती है जिसे निखारने में अध्यापक तथा अभिभावक मिलकर महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने अध्यापकों का आहवान किया कि वह प्रत्येक बच्चे की रूचि के अनुरूप शिक्षा के साथ-2 किसी न किसी अन्य स्कूली गतिविधि में उसकी सहभागिता सुनिश्चित बनाएं ताकि वेभी अन्य बच्चों के साथ जीवन में आगे बढ़ सके। अध्यापक बच्चों को प्रार्थना सभा के दौरान देश की महान विभूतियों के चारित्रिक गुणों से भी अवगत करवाएं तथा उन्हें जीवन में अपनाने के लिए प्ररित करें। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि वह अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में पढ़ाएं क्योंकि सरकारी स्कूलों में सुशिक्षित तथा प्रशिक्षित अध्यापक होते हैं जो बच्चों को बेहतर ढंग से पढ़ाने के लिए सक्षम होते हैं। इसके अतिरिक्त सरकारी स्कूलों में बच्चों के सर्वागींण विकास के लिए विभिन्न प्रकार की सुविधाएं भी उपलब्ध करवाई जाती हैं। उन्होंने अध्यापकों से भी अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में दाखिल करने का आहवान किया ताकि जनता तथा समाज में एक सकारात्मक संदेश जाए।
विधायक नरेन्द्र ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार ने हर विधानसभा क्षेत्र में एक-एक आदर्श विधालय खोलने का निर्णय लिया है जिसमें हर प्रकार की सुविधाएं बच्चों को प्रदान की जााएगी। हमीरपुर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आदर्श विद्यालय के लिए भूमि की तलाश की जा रही है। उन्होंने कहा कि इसी बर्र्ष से प्रदेश के 271 प्राथमिक स्कूलों में प्री नर्सरी कक्षाएं शुरू की जा रही हैं तथा सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम में भी बच्चों को शिक्षा प्रदान करने का प्रदेश सरकार द्वारा निर्णय लिया गया है।
इस अवसर पर स्कूली बच्चों द्वारा देश भक्ति पर आधारित गीत-संगीत, लोक गीत, बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ पर भाषण तथा शानदार पंजाबी व पहाड़ी नृत्य प्रस्तुत कर खूब तालियां बटोरीं। मुख्यातिथि ने बच्चों द्वारा प्रस्तुत किए कार्यक्रमों की सराहना की तथा अपनी एैच्छिक निधि से बच्चों को सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए 6 हजार रूपए देने की घोषणा की। उन्होंने सांस्कृतिक कार्यक्रमों में शानदार प्रदर्शन के लिए बच्चों को स्मृति चिन्ह भेट कर सम्मानित भी किया। उन्होंने स्कूल परिसर में एक सप्ताह के भीतर हैंडपम्प स्थापित करने का आश्वासन दिया तथा कहा कि स्कूल में कमरों के निर्माण के लिए भी पर्याप्त धन राशि का शीघ्र प्रावधान करवाया जाएगा।
इससे पहले स्कूल सीएचटी कुसुमवाला ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा स्कूल में चल रहे विकास कार्यों की जानकारी दी। उन्होंने स्कूल के लिए दो अतिरिक्त कमरों के निर्माण के लिए पर्याप्त धन उपलब्ध करवाने की मांग की ताकि बच्चों को बैठने की बेहतर सुविधा उपलब्ध हो सके। इसके अतिरिक्त स्कूल परिसर में हैंडपम्प स्थापित करने की भी मांग रखी ताकि बच्चों को पर्याप्त मात्रा में पेयजल उपलब्ध हो सके।
इस अवसर पर मंडल अध्यक्ष बलदेव धीमान, नगर परिषद अध्यक्षा सुलोचना देवी,उपाध्यक्ष दीप बजाज , पूर्व बीईओ विजय ठाकुर, सुभाष चोपड़ा, पूर्व सीएचटी दलीप सिंह ठाकुर, पीटीएफ प्रधान नरेश शर्मा , पूर्व बीआरसीसी अशोक राणा, अशोक पठानिया एसएमसी प्रधान रीता देवी, स्थानीय स्कूल अध्यापिका सुषमा, कमलेश, लता, पंकज, रीना, विजय, सरोज, सुमन, सुचित्रा कटोच, प्राईमरी बीआरसीसी दिनेश, प्रवीण के अतिरिक्त बच्चों के अभिभावक तथा अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।