राज्य सरकार द्वारा बिना किसी भेदभाव के सभी क्षेत्रों का एक समान विकास सुनिश्चित: महेन्द्र सिंह
धर्मपुर (मंडी), 16 अगस्त: जलशक्ति, बागवानी, राजस्व व सैनिक कल्याण मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने हिमाचल का बिना किसी भेदभाव के एक समान विकास सुनिश्चित किया है। मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर के प्रगतिशील नेतृत्व में पिछले साढ़े चार वर्षों के दौरान प्रदेश में विकास की एक नई गाथा लिखी गई है । प्रदेश सरकार के निरंतर प्रयासों से आज धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र विकास की दृष्टि से प्रदेश में अग्रणी बनकर उभरा है। ठाकुर महेंन्द्र सिंह आज (मंगलवार) धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र के ब्रांग, कुमाखर, मोरला, अप्पर ब्रांग, भडि़यार, गलू, झरेड़ा, करौला, समैली व गधवाल में जन समस्याएं सुनने के अवसर पर उपस्थित लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। इसी बीच उन्होंने लोगों की समस्याओं को सुना तथा अधिकत्तर का मौके पर ही निपटारा कर शेष समस्याओं बारे संबंधित विभागीय अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये।
उन्होंने कहा कि कठिन भौगोलिक परिस्थितियों के बावजूद प्रदेश में वर्तमान सरकार के कार्यकाल में अभूतपूर्व विकास हुआ है, जिसका श्रेय देश व प्रदेश के कुशल नेतृत्व तथा प्रदेश की ईमानदार व कर्मठ जनता को जाता है।

’बागवानी क्षेत्र में उभरा धर्मपुर, एचपी शिवा प्रोजेक्ट आर्थिकी को कर रहा मजबूत’
धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र में हुए विकास कार्यों की चर्चा करते हुए जल शक्ति मंत्री ने कहा कि प्रदेश के निचले क्षेत्रों के किसानों व बागवानों की आर्थिकी को सुदृढ़ बनाने को एचपी शिवा प्रोजेक्ट की शुरूआत की गई है। जिसके माध्यम से प्रदेश के सात जिलों में बागवानी से किसानों की आर्थिकी सुदृढ़ हो रही है। प्रदेश के निचले क्षेत्रों के लिए यह परियोजना न केवल बागवानी के नए द्वार खोल रही है, बल्कि शिक्षित बेरोजगार युवाओं के लिए घर बैठे स्वरोजगार का भी एक अहम जरिया साबित हो सकता है। उन्होंने कहा कि एचपी शिवा प्रोजेक्ट के माध्यम से धर्मपुर विस क्षेत्र में भी लोगों को बागवानी के क्षेत्र में आगे बढने का एक बेहतरीन अवसर प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में बागवानों की सुविधा के लिये कोल्ड स्टोर स्थापित किया जाएगा ताकि यहां के किसानों व बागवानों को उनकी फसलों का सही व उचित दाम मिल सके।

’स्वास्थ्य सुविधाएं’
जल शक्ति मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य क्षेत्र को सुदृढ़ करने के लिए करोड़ों रूपये की राशि खर्च की जा रही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र के संधोल व धर्मपुर में 45-45 करोड़ की लागत से धर्मपुर और संधोल में बन रहे 100-100 बिस्तर की क्षमता वाले अस्पताल का निर्माण किया गया है। इसके अतिरिक्त 25-25 करोड़ रूपये की लागत से टीहरा और मण्डप अस्पताल निर्मित हो रहे हैं। इन अस्पतालों के बन जाने से क्षेत्र के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध होगी।
’जलशक्ति विभाग’
जल शक्ति मंत्री ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत प्रदेश में महज ढाई साल में
8.65 लाख नल कनेक्शन दिए गए हैं, जबकि इस मिशन से पहले राज्य में सात दशकों के दौरान केवल 7.63 लाख नल कनेक्शन दिए गए थे। उन्होंने कहा कि धर्मपुर को बेहतर पेयजल सुविधा प्रदान करने के लिए 109 करोड़ की उठाऊ पेयजल योजना टौर खोला और 122 करोड़ की कमलाह-मण्डप योजना का निर्माण किया जा रहा है। योजना के तहत लाभान्वित पंचायतों के साथ लगते क्षेत्र में जल स्रोतों के संवर्धन और सुधार का कार्य भी किया जाएगा। प्रदेश सरकार जल जीवन मिशन में हर घर को नल से शुद्ध जल पहुंचाने के लिए लगातार काम कर रही है। प्रदेश में 90 फीसदी से अधिक लक्ष्य हासिल कर लिया गया है। हिमाचल को इस शानदार प्रदर्शन के लिए केंद्र सरकार से 750 करोड़ रुपये प्रोत्साहन राशि मिली है।
’सिंचाई’
प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र में 32 करोड़ की उठाऊ सिंचाई योजना भी स्वीकृत हुई है, जिसका शिलान्यास जल्द ही किया जाएगा। इस योजना से प्रत्येक खेत को सिंचाई की सुविधा उपलब्ध होगी। जल शक्ति मंत्री ने कहा कि टीहरा-बसंतपुर क्षेत्र में जनता को बेहतर सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के लिए 200 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इनमें 100 करोड़ रुपये की ऊठाऊ सिंचाई योजना टीहरा और 100 करोड़ रुपये की उठाऊ सिंचाई योजना बसंतपुर का जल्द शिलान्यास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इन योजनाओं के बनने से क्षेत्र के किसानों के लिए सिंचाई की बेहतर सुविधा उपलब्ध होगी। इससे कृषि योग्य भूमि के लिए बेहतर सिंचाई सुविधा मिलेगी।

’जनहितैषी है प्रदेश सरकार’
उन्होंने कहा कि हाल ही में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सरकारी कर्मचारियों तथा पेंशनरों को पहली जनवरी, 2016 से संशोधित वेतनमान के एरियर की देय पहली किश्त प्रदान करने तथा प्रदेश में पंचायती राज विभाग में जिला परिषद् कैडर के तहत कार्यरत कर्मचारियों के लिए संशोधित वेतनमान की घोषणा की है।
उन्होंने कहा मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में राज्य सरकार की मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना और केंद्र सरकार की उज्ज्वला योजना के सफल क्रियान्वयन के कारण हिमाचल प्रदेश को देश का पहला चूल्हा धुआंमुक्त राज्य घोषित किया गया है।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को पानी के बिल भुगतान से छूट देने के अलावा सभी उपभोक्ताओं को 125 यूनिट तक मुफ्त बिजली उपलब्ध कराने तथा महिलाओं के लिए हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों में किराये में 50 प्रतिशत की छूट देने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है।
उन्होंने कहा कि जहां प्रदेश सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं और विकासात्मक कार्यक्रमों से प्रदेशवासी लाभान्वित हुए हैं वहीं केंद्र सरकार की किसान सम्मान निधि योजना, आयुष्मान भारत योजना, उज्ज्वला योजना आदि से प्रदेश के लाखों लोग लाभान्वित हुए हैं। लोगों के कल्याण को सर्वोपरि रखते हुए प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा, सहारा, मुख्यमंत्री हिमकेयर तथा मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना से राज्य के हर तबके व व्यक्ति को लाभान्वित करने का हरसंभव प्रयास किया है।

’विकास यात्रा में करे सहयोग’
महेंद्र सिंह ठाकुर ने क्षेत्र की जनता से धर्मपुर की विकास यात्रा में साथ मिलकर चलने का आह्वान किया ताकि यहां के विकास कार्यों को न केवल आगे बढ़ाया जा सके, बल्कि एक नया मुकाम दिया जा सके।

’सौगातें’
उन्होंने इस मौके पर ग्रांम पंचायत ब्रांग के नवदूर्गा महिला मण्डल, महिला मण्डल लोअर ब्रांग व विकास महिला मण्डल मोरला-2 को 30-30 हजार रूपये की राशि प्रदान की।
’ये रहे उपस्थित’
इस अवसर पर जिला परिषद सदस्य लौगणी वार्ड जगदीश चन्द बिट्टा, प्रधान ग्राम पंचायत ब्रांग बलदेव पराशर, उप-प्रधान ब्रांग राज कुमार, बी डी सी सदस्य टौर जाजर लेख राज, प्रधान ग्राम पंचायत चनौता सबीता गुप्ता, बीडीसी सदस्य जाकिर हुसैन सहित बी डी ओ बालम राम, अधिशाषी अभियन्ता जल शक्ति राकेश पराशर, सहायक अभियंता जल शक्ति विभाग पवन, अधिशाषी अभियंता विद्धुत विभाग सुनील चंदेल, सहायक अभियंता विद्युत विभाग हंसराज ठाकुर, एसएमएस बागबानी रमेश ठुकराल, उपमण्डलीय भू-संरक्षण अधिकारी सरकाघाट डॉ0 धर्मपाल ठाकुर, रिजनल मैनेजर एचआरटीसी धर्मपुर नरेन्द्र शर्मा, पंचायती राज संस्थानों के पदाधिकारी, पार्टी कार्यकर्ता तथा विभिन्न विभागों के अधिकारियों सहित कई गण्यमान्य लोग मौजूद रहे।