चण्डीगढ, 28 जून - भारतीय वायुसेना के वरिष्ठ एयर मार्शल मानवेन्द्र सिंह ने मंगलवार को राजभवन में हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय से मुलाकात कर अग्निपथ योजना की जानकारी दी। इस अवसर पर एयर मार्शल श्री सिंह ने भारतीय वायुसेना की प्रशिक्षण कमांड की स्मारिका व स्मृति चिन्ह भी भेंट किया।
एयर मार्शल मानवेन्द्र सिंह ने अग्निपथ योजना की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि अग्निवीर युवाओं में सेना संस्कृति विकसित होगी और वे चार साल के दौरान पूरी तरह अनुशासित होगें तो वे देश के जिम्मेवार नागरिक की भूमिका निभाएगें। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत साढ़े सतरह साल से इक्कीस साल तक के युवाओं को भर्ती किया जाएगा। हालांकि इस बार भर्ती आयु सीमा में दो साल की छूट दी गई है। इस आयु वर्ग के युवा सेना में भर्ती होकर जहां देश की सेवा करेगें वहीं वे बुरी संगति व नशा जैसी बुरी प्रवृतियों से बच पाएगें।
एयर मार्शल ने बताया कि कुल भर्ती अग्निवीरों में से 25 प्रतिशत को स्थाई रूप से सेना में सम्माहित किया जाएगा, जिन्हें पदोन्नति से संबंधित सभी प्रकार की सुविधाएं मिलेगी। उन्होंने बताया कि अग्निपथ योजना जहां युवाओं के भविष्य एवं करियर को एक नई उड़ान देगी वहीं युवा पीढ़ी में देश भक्ति का जज्बा पैदा करेगी। इससे एक नए भारत का निर्माण होगा।
कैप्शनः- एयर मार्शल मानवेन्द्र सिंह ने हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय को भारतीय वायुसेना की प्रशिक्षण कमांड की स्मारिका व स्मृति चिन्ह भेंट करते हुए।