धर्मशाला में पीएम के प्रस्तावित प्रवास की तैयारियों का लिया जायजा

धर्मशाला, 24 मई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगामी जून माह में धर्मशाला में प्रस्तावित प्रवास की तैयारियों को लेकर नीति आयोग के अधिकारियों ने जिला प्रशासन के साथ डीसी कार्यालय के सभागार में एक आवश्यक बैठक आयोजित की गई। जिसमें आयोजन स्थल से लेकर अतिथियों के ठहरने इत्यादि के प्रबंधों के बारे में विस्तार से चर्चा की गई। नीति आयोग की सलाहाकार संयुक्ता समादार तथा निदेशक अविनाश चंपावत ने जिला प्रशासन को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। यह जानकारी उपायुक्त डा निपुण जिंदल देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी 16 जून को मुख्य सचिवों की बैठक में बतौर मुख्यातिथि शिरकत करेंगे, इस बैठक का आयोजन हिमाचल प्रदेश क्रिकेट स्टेडियम में किया जाना प्रस्तावित है।
उन्होंने कहा कि पीएम के प्रवास के दौरान प्रबंधों के लिए विभिन्न कमेटियां भी गठित की गई हैं ताकि बेहतर व्यवस्थाएं हो सकें। उन्होंने कहा कि स्टेडियम में बैठक स्थल पर भी उचित प्रबंध करने के लिए लोक निर्माण विभाग को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए है।
उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि पुलिस प्रशासन की ओर से भी पीएमओ के दिशा निर्देशों के आधार पर सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम किए जाएंगे। उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि इंतजामों का आकलन करने के लिए शीघ्र एसपीजी तथा नीति आयोग की टीम ने धर्मशाला का प्रवास किया है। टीम के निर्देशों के आधार पर प्रबंधों का आवश्यक खाका तैयार किया जा रहा है।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक खुशाल शर्मा, एडीसी गंधर्वा राठौढ, एडीएम रोहित राठौर, एसडीएम शिल्पी बेक्टा सहित विभिन्न अधिकारी उपस्थित थे।

============================

बाल हितों के संरक्षण से जुड़े मृद्दों पर बैठक आयोजित
धर्मशाला, 24 मई - जिला पंचायत अधिकारी, अशवनी शर्मा की अध्यक्षता में जिला बाल संरक्षण समिति की त्रैमासिक बैठक का आयोजन आज डीआरडीए के सभागार में किया गया। जिला बाल संरक्षण अधिकारी राजेश कुमार ने का का एजेंडा प्रस्तुत किया जिसमें अनाथ, बेसहारा, असहाय, घर से भागे हुए बच्चों के संरक्षण और विकास पर बल दिया गया।
बैठक में उपस्थित शिक्षा, स्वास्थ्य, श्रम, पंचायत, पुलिस, रेडक्रॉस, चाइल्ड लाइन, जिला बाल कल्याण समिति ने इस दिशा में अपेक्षित कार्य करने के लिए अपने-अपने विचार सांझा किए। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को यथासम्भव कार्य करने के लिए कहा।