ऊना, 22 मईः हिमाचल प्रदेश सरकार के 60 यूनिट तक बिजली फ्री करने के फैसले से आम आदमी को राहत मिल रही है और फ्री बिजली वाले उपभोक्ता चहक रहे हैं। जिला ऊना के कुटलैहड़ विस क्षेत्र में 60 यूनिट तक बिजली की खपत करने वाले 7264 उपभोक्ताओं के बिल ज़ीरो आया है। उपभोक्ताओं से अब मीटर रेंट के 40 रुपये और फिक्स चार्ज के 15 रुपये भी नहीं लिए जा रहे हैं, जिससे उन्हें बड़ी राहत मिली है।
इस बारे जानकारी देते हुए अधिशाषी अभियंता विद्युत विभाग खुशविंदर सिंह ने बताया कि ऊना उपमंडल -1 के तहत 1725 उपभोक्ताओं, उपमंडल-2 के तहत 1068, संतोषगढ़ के तहत 90, बंगाणा के तहत 3160 तथा थाना कलां के तहत 1221 बिजली उपभोक्ताओं को अप्रैल माह में शून्य बिल आया है। इन सभी उपभोक्ताओं की बिजली की खपत 60 यूनिट से कम है।
सरकार के फ्री बिजली के निर्णय के लाभार्थी चंगरेड़ी निवासी 70 वर्षीय बुजुर्ग किशन सिंह ने बताया कि अप्रैल के माह में उनका बिजली का बिल शून्य आया है। पहले प्रति माह बिल 250-350 रुपये आता था, लेकिन मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने जो 60 यूनिट तक की बिजली खपत के बिल माफ किए हैं उससे उन्हें अब की बार जीरो बिल आया है।
वहीं धुंदला निवासी सुदर्शन कुमार तथा भरमौत निवासी प्रदीप कुमार का अप्रैल माह का बिजली बिल भी जीरो आया है, जिसके लिए वह हिमाचल प्रदेश सरकार एवं मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर का आभार व्यक्त करते हैं। उन्होंने कहा कि जय राम सरकार की फ्री बिजली की सौगात से गरीब व मध्यम वर्ग के लोगों को बड़ी राहत मिली है।
ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा कि पहले सरकार ने 60 यूनिट तक बिजली माफ करने का फैसला किया, लेकिन जुलाई से इस सीमा को 60 यूनिट से बढ़ाकर 125 यूनिट करने का निर्णय किया गया है। अभी तक कुटलैहड़ विस क्षेत्र में 7264 उपभोक्ताओं का बिजली का बिल माफ हुआ है लेकिन फ्री यूनिट बढ़ाने से अधिक उपभोक्ताओं को लाभ होगा और गरीब परिवारों के पैसों की बचत होगी। उम्मीद है कि 125 यूनिट माफ होने के बाद जीरो बिल वाले बिजली उपभोक्ताओं की संख्या दोगुने से भी ज्यादा हो जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार के फ्री बिजली के फैसले से न सिर्फ लोगों को पैसों की बचत होगी, बल्कि बहुत से उपभोक्ता किफायत के साथ बिजली का उपयोग करेंगे, ताकि उन्हें फ्री बिजली का लाभ मिल सके।