मंडी, 26 जनवरी । देश के 73वें गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य पर बुधवार को मंडी के सेरी मंच पर जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह पूरे उत्साह, उमंग व आनंद के साथ मनाया गया। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजिन्द्र गर्ग ने समारोह की अध्यक्षता की। इस दौरान उन्होंने मंडी के सेरी मंच पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया तथा पुलिस और होमगार्ड व एनसीसी की टुकडि़यों द्वारा निकाले गए आकर्षक मार्च पास्ट की सलामी ली।
इस अवसर पर अपने संबोधन में राजिन्द्र गर्ग ने कहा कि 26 जनवरी का दिन सभी भारतवासियों के लिए एक गौरवमयी दिवस है। वर्ष 1950 को इसी दिन भारत का महान संविधान प्रभावी हुआ था और देश में लोकशाही का स्वप्न साकार हुआ । उन्होंने संविधान निर्माताओं के साथ-साथ सभी स्वतंत्रता सेनानियों के तप, त्याग और बलिदान को स्मरण करते हुए नमन किया, साथ ही देश की स्वतंत्रता को अक्षुण्ण रखने में प्राण न्योछावर करने वाले वीर शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किए। उन्होंने सराहनीय सेवाओं के लिए भारतीय सेनाओं व पुलिस के जवानों का भी आभार जताया।
हिमाचल बना पहला धुआंमुक्त राज्य
खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजिन्द्र गर्ग ने कहा कि जय राम सरकार के प्रयासों से हिमाचल देश का पहला एलपीजी युक्त और धुआं मुक्त राज्य बना है। प्रदेश सरकार ने हर घर रसोई गैस कनेक्शन पहुंचाने के अपने संकल्प को साकार किया है। आज प्रदेश में ऐसा कोई घर नहीं है जिनके पास रसाई गैस कनेक्शन न पहुंचा हो । हिमाचल में उज्ज्वला व मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना में 4.59 लाख गरीब परिवारों को निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदान किए गए हैं । इसके अलावा सरकार ने दो मुफ्त सिलेंडर मुहैया कराने की व्यवस्था भी की है।
उन्होंने गरीबों की रसोई को धुआंमुक्त कर माताओं-बहनों के स्वास्थ्य की रक्षा और पर्यावरण की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर का आभार जताया।
माताओं-बहनों की पेरशानियां हुईं दूर
राजिंद्र गर्ग ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गरीब परिवारों की माताओं-बहनों की पेरशानियों को समझकर उज्ज्वला योजना में घर-घर निःशुल्क गैस कनेक्शन पहुंचाए और उन सब परिवारों की चिंता दूर की जो पैसे की कमी की वजह से गैस कनेक्शन नहीं ले पाते थे । मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने इस योजना को और विस्तार देते हुए यह संकल्प लिया था कि प्रदेश के जो परिवार उज्ज्वला योजना से लाभ नहीं ले पाए हैं, उनके लिए राज्य सरकार सारी व्यवस्था करेगी । इसी मकसद से मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना आरंभ की गई थी, जिसमें प्रदेश में 3.23 लाख निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदान किए गए हैं । वहीं प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में प्रदेश में 1.36 लाख परिवारों को निःशुल्क गैस कनेक्शन उपलब्ध करवाए गए हैं।
अगर मंडी जिले की बात करें तो यहां अब तक उज्ज्वला योजना और मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना में 86 हजार 85 निशुल्क गैस कनेक्शन वितरित किए जा चुके हैं।
कोरोना संकट में सुनिश्चित बनाया कि कोई भूखा न सोए
उन्होंने कहा कि कोविड-19 से उत्पन्न चुनौतियों के बीच प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना हिमाचल प्रदेश के लाखों जरूरतमंद परिवारों के लिए बड़ी मददगार साबित हुई है। कोरोना के विरुद्ध लड़ाई में गरीब और संवेदनशील वर्गों की मदद के लिए आरंभ की गई इस योजना में लोगों को मुफ्त राशन सुविधा सुनिश्चित हो रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान के अनुरूप हमने प्रदेश में यह तय बनाया कि कोरोना की चुनौती के चलते कोई भी व्यक्ति भूखा न सोए। इस योजना में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से पहले से ही प्रदान किए जा रहे 5 किलोग्राम अनुदानित खाद्यान्न के अलावा प्रत्येक व्यक्ति को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के तहत 5 किलोग्राम अतिरिक्त अनाज (गेहूं-चावल) मुफ्त में उपलब्ध कराया जा रहा है।
विकास की एक लम्बी छलांग
खाद्य आपूर्ति मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के कुशल मार्गदर्शन में प्रदेश में विकास के नए आयाम स्थापित हुए हैं। गरीबों-कमजोरों के कल्याण को समर्पित योजनाएं चलाने के साथ ही हिमाचल ने विकास की एक लम्बी छलांग लगाई है। आज हिमाचल स्वास्थ्य और समावेशी विकास में देश के अग्रणी राज्यों में आ खड़ा हुआ है।
जन कल्याण को प्राथमिकता
राजिंद्र गर्ग ने कहा कि जन कल्याण को प्राथमिकता देते हुए प्रदेश सरकार ने सत्ता संभालने के बाद अपनी पहली ही मंत्रिमंडल की बैठक में बिना आय सीमा के वृद्धावस्था पेंशन प्राप्त करने की आयु सीमा 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष की, जिससे लाखों वृद्धजन लाभान्वित हुए। आर्थिक रूप से कमज़ोर परिवारों को निःशुल्क चिकित्सा सुविधा प्रदान करने को समर्पित केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना और जय राम सरकार की मुख्यमंत्री हिमकेयर योजना से प्रदेश के लाखों लोगों के जीवन में स्वास्थ्य सुरक्षा सुनिश्चित हुई है।
गरीबों को सरकार का सहारा
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर का इस ओर विशेष जोर है कि स्वास्थ्य संबधी परेशानियों के कारण किसी भी हिमाचली को आर्थिक संकट से न जूझना पड़े। इसीमुख्य मंत्री सहारा योजना आरंभ की गई है। इस योजना के माध्यम से प्रदेश सरकार गंभीर बीमारियों से पीडि़त परिवारों का सहारा बनकर प्रतिमाह 3 हजार रुपये की आर्थिक मदद सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में प्रदान कर रही है। राज्य में इस योजना के माध्यम से अब तक गंभीर बीमारियों से पीडि़त 16 हजार 820 लोगों को प्रदेश सरकार की ओर से 56 करोड़ 13 लाख रुपये की मदद दी गई है।
अकेले मंडी जिला में ही मुख्य मंत्री सहारा योजना के माध्यम से अब तक जिला में 4 हजार 105 लोगों को 11 करोड़ 73 लाख 47 हजार 203 रुपये की आर्थिक मदद प्रदान की जा चुकी है।
युवा होंगे आत्मनिर्भर तो आत्मनिर्भर बनेगा भारत
खाद्य आपूर्ति मंत्री ने कहा कि युवाओं के आत्मनिर्भर बनने से ही भारत आत्मनिर्भर बनेगा । प्रदेश सरकार का इस ओर जोर है कि युवा नौकरी मांगने के बजाय स्वरोजगार गतिविधियों से जुड़कर नौकरी देने वाले बनें। युवाओं को स्वरोजगार के माध्यम से संबल प्रदान करने को जय राम सरकार ने मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना की शुरुआत की है। इस योजना के माध्यम से विभिन्न क्षेत्रों में स्वरोजगार की शुरुआत करने को प्रदेश सरकार बतौर उपदान वित्तीय मदद प्रदान कर रही है। अकेले मंडी जिला में ही सरकार के चार वर्ष के कार्यकाल के दौरान लगभग 450 युवाओं को अपने पांव पर खड़ा करने के लिए लगभग 16 करोड़ रुपये से अधिक का आर्थिक संबल प्रदान किया गया है।
बड़े काम की है प्राकृतिक खेती
खाद्य आपूर्ति मंत्री ने कहा कि किसानों और बागवानों की आर्थिकी में सुधार के लिए मुख्यमंत्री खेत संरक्षण योजना और प्राकृतिक खेती-खुशहाल किसान योजना लागू की गई हैं, जिनसे हज़ारों किसान-बागवान लाभान्वित हो रहे हैं। राज्य सरकार के प्रयासों से हिमाचल में 1 लाख 53 हज़ार से ज्यादा किसान प्राकृतिक खेती से जुड़ चुके हैं। इससे लोगों को जहर मुक्त उत्पाद मिल रहे हैं। सरकार से उन्हें अब तक 46 करोड़ से ज्यादा के लाभ प्राप्त हुए हैं। अभी प्रदेश में 9192 हैक्टेयर भूमि पर प्राकृतिक खेती की जा रही है ।

मंडी में युद्धस्तर पर चल रहा शिवधाम का काम
राजिंद्र गर्ग ने कहा कि प्रदेश सरकार ने पर्यटन गतिविधियों को नई गति देने के लिए नई राहें, नई मंजिलें योजना शुरू की है। इसमें प्रदेश के अनेक पर्यटन स्थलों का विकसित किया जा रहा है। वहीं छोटी काशी मंडी में करीब पौने दो सौ करोड़ रुपये से बन रहे शिवधाम का काम युद्धस्तर पर चल रहा है।
सीएम ने पूर्ण राज्यत्व दिवस पर दीं सौगातें
खाद्य आपूर्ति मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने प्रदेश के पूर्ण राज्यत्व दिवस पर कर्मचारियों को 3 प्रतिशत अतिरिक्त डीए देकर बड़ी सौगात दी है । वहीं पे कमीशन लागू होने के बाद 15 प्रतिशत की वृद्धि का तीसरा विकल्प मांग रहे कर्मचारियों को भी मुख्य मंत्री श्री जय राम ठाकुर ने तीसरा विकल्प देने का ऐलान किया है।
मुख्यमंत्री ने इस बात की भी घोषणा की कि सरकार किसी भी कर्मचारी को पे कमीशन लागू होने के बाद आर्थिक नुकसान नहीं होने देगी । उन्होंने राज्य के कर्मचारियों को यह भी आश्वासन दिया कि अगर तीसरे विकल्प के बाद भी किसी भी कर्मचारी को कोई नुकसान होता है तो सरकार ऐसे मामलों पर नए सिरे से विचार करेगी। यह जय राम सरकार की संवेदनशीलता का प्रत्यक्ष प्रमाण है। मुख्यमंत्री ने 2015 से हुई भर्ती वाले पुलिस कांस्टेबलों की उच्च वेतनमान की मांग को मान कर उन्हें बड़ा तोहफा दिया है। मंत्री ने प्रदेशवासियों को दी इन सब सौगातों के लिए मुख्यमंत्री का आभार जताया।
‘कर्मवीरों’ का सम्मान
खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजिन्द्र गर्ग ने समारोह में विभिन्न विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों को अपने-अपने कार्यक्षेत्र में उल्लेखनीय काम करने के लिए प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। समारोह में सांस्कृतिक दलों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए। उन्होंने सांस्कृतिक प्रस्तुति देने वाले कलाकारों के साथ-साथ मार्च पास्ट में भाग लेने वाले विभिन्न दलों के प्लाटून कमांडरों को भी सम्मानित किया।
शहीदों को नमन
इससे पहले, राजिन्द्र गर्ग ने संकन गार्डन में शहीद स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित कर शहीदों को नमन किया। उन्होंने गांधी चौक में महात्मा गांधी जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किए।
ये रहे उपस्थित
समारोह में मंडी के विधायक अनिल शर्मा, सुंदरनगर के विधायक राकेश जम्वाल, नाचन के विधायक विनोद कुमार, बल्ह के विधायक इंद्र सिंह गांधी, द्रंग के विधायक जवाहर ठाकुर, जिला परिषद अध्यक्ष पाल वर्मा, नगर निगम मंडी की महापौर दीपाली जसवाल, उपमहापौर वीरेंद्र भट्ट, पूर्व विधायक डीडी ठाकुर तथा कन्हैया लाल, जिला भाजपा अध्यक्ष रणवीर सिंह, उपायुक्त अरिंदम चौधरी, पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी, जनप्रतिनिधि व जिलावासी उपस्थित रहे। कार्यक्रम में कोरोना प्रोटोकॉल का पूरा पालन किया गया।