दिव्यांगजनों के कल्याण के लिए चलाई जा रही अनेक योजनाएं: डॉ.निपुण जिंदल
धर्मशाला 03 दिसम्बर: उपायुक्त कांगड़ा डॉ.निपुण जिंदल ने कहा कि दिव्यांगजनों के कल्याण के लिए प्रभावी तरीके से सरकारी योजनाओं का कार्यान्वयन किया जा रहा है ताकि वे सम्मान एवं प्रतिष्ठा के साथ अपना जीवन यापन कर सकें। दिव्यागों ने प्रत्येक क्षेत्र में खासकर खेलों के क्षेत्र में अपनी विशेष पहचान बनाई है। दिव्यांगजनों में प्रतिभा की कमी नहीं है, इन्हें सिर्फ प्रोत्साहन देने की आवश्यकता है।
उपायुक्त आज विश्व दिव्यांगता दिवस पर जिला रेडक्रॉस सोसायटी कांगड़ा द्वारा बैजनाथ के बचत भवन के सभागार में निःशुल्क मेडिकल दिव्यांगता शिविर पर आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि शिरकत करने के उपरांत बोल रहे थे।
उपायुक्त ने कहा कि प्रतिवर्ष 03 दिसम्बर को दुनियाभर में अन्तर्राष्ट्रीय दिव्यांग दिवस मनाया जाता है। इस दिन को मुख्य रूप से दिव्यागों के प्रति लोगों के व्यवहार में बदलाव लाने और उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिए मनाया जाता है। उन्होंने बताया कि वर्ष 1992 में ही संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा 03 दिसम्बर को अन्तर्राष्ट्रीय दिव्यांग दिवस के रूप में मनाने की घोषणा भी की गई और तभी से 03 दिसम्बर को अंतर्राष्ट्रीय दिवस मनाया जाता हैै। उन्होंने बताया कि इस दिवस को मनाने का सबसे महत्वपूर्ण उद्देश्य अशक्तजनों की अक्षमता के मुद्दों को लेकर समाज में लोगों की जागरूकता, समझ और संवेदनशीलता को बढ़ावा देना है। दिव्यांगजनों के आत्मसम्मान कल्याण और आजीविका की सुरक्षा सुनिश्चित करने में उनकी सहायता करना तथा आधुनिक समाज में अशक्तजनों के साथ हो रहे हर प्रकार के भेदभाव को समाप्त करना है।
उपायुक्त ने कहा कि शिविर में जिन जरूरतमंद दिव्यांग पात्र व्यक्तियों को अभी तक पेंशन, बस पास व सहायता उपकरण की सुविधा नही मिली है वे इस शिविर का लाभ उठा सकते हैं। इस शिविर में लगभग 250 लोगो ने उपस्थिति रहे। उन्होंने शिविर में उपस्थित 25 दिव्यांगजनोे को सहायक उपकरण वितरित किये। जिसमें 01 को व्हीलचेयर, 06 श्रवण यन्त्र, 01 स्मार्ट केन तथा 3 को एमआर कीट प्रदान की गई।
उपायुक्त ने कहा कि जो पात्र लोग 19 व 20 सितम्बर, 2021 को शिविर में किसी कारण से नहीं आ सके थे वे इस शिविर में आकर अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। यह शिविर बिल्कुल निःशुल्क है और इसका लाभ न केवल जिला कांगड़ा के दिव्यांग लोगों को मिल रहा है बल्कि हिमाचल के अन्य जिला से आये हुए दिव्यांग व्यक्तियों तथा पंजाब के दिव्यांग लोगों को भी लाभ मिल रहा है। इसलिए अधिक से अधिक व्यक्ति इस शिविर में आकर इस सुविधा का लाभ उठाऐं।
इस अवसर पर उपायुक्त ने बिनवा पब्लिक वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के बच्चों को चित्रकला प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर रहने के लिए पुरस्कृत किया। प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर सेहजल, द्वितीय स्थान पर शालिनी तथा तृतीय स्थान पर मृदुला रही।
इससे पूर्व एसडीएम बैजनाथ सलीम आजम ने मुख्यातिथि को पुष्पगुच्छ देकर समानित किया तथा रेडक्रॉस सोसायटी के ओ0पी0 शर्मा ने मुख्यातिथि तथा कार्यक्रम में उपस्थित गणमान्यों का का किया ।

इस अवसर पर सीएमओ कांगड़ा गुरदर्शन गुप्ता, एसडीएम बैजनाथ सलीम आजम, तहसीलदार पालमपुर सार्थक शर्मा, तहसीलदार बैजनाथ भावना वर्मा, नायब विजय शर्मा. बीएमओ महाकाल रमेश, सचिव रेडक्रॉस सोसायटी धर्मशाला ओपी शर्मा, तहसील कल्याण अधिकारी सरूप ठाकुर, समाजसेवी प्रवीन डोगरा, विजय दीक्षित, डॉ. अरविंद शर्मा, डॉ. अरुण कुमार, डॉ. इंदु बाला , डॉ. राज राणा, डॉ. अक्षय शमा ,पूर्व प्रधान सजय भाटिया, संजय कुमार ,चमन धीमान, सहित सभी विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।'

===========================

पशुपालन, मत्स्य पालन और कृषि हेतू केसीसी शिविर आयोजित
धर्मशाला 03 दिसम्बर: पंजाब नैशनल बैंक ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान धर्मशाला के निदेशक महेन्द्र शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि डीएफएस के निर्देशानुसार पशुपालन, मत्स्य पालन और कृषि हेतू केसीसी शिविर बैजनाथ में आयोजित किया गया। इस शिविर मे मुख्य जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक कुलदीप कुमार कौशल, पशुपालन विभाग के चिकित्सक डॉ. अभिषेक ठाकुर एवं कृषि प्रबंधक कनिका शर्मा, निदेशक पीएनबी आरसेटी महिन्द्र शर्मा, पंजाब नेशनल बैंक की शाखा बैजनाथ के वरिष्ठ प्रबंधक अनूप शर्मा की उपस्थिति में ऋण कैंप का आयोजन किया गया।
इस कार्यक्रम में गांव के 60 किसानों ने भाग लिया । इस दौरान पीकेसीसी एवं केसीसी के अंतर्गत 48 किसानों ने ऋण के लिए आवेदन किया। सभी आवेदनों को बैंकरों द्वारा प्रतिभूकृत कर मूल स्वीकृतियां दी गईं। इस कार्यक्रम में मुख्य जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक श्री कुलदीप कुमार कौशल ने उपस्थित किसानों को सरकार द्वारा चलाई गई विभिन्न सामाजिक सुरक्षा बीमा योजनाओं जैसे फसल बीमा योजना, किसान क्रेडिट कार्ड, मुद्रा योजना, अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, जीवन ज्योति बीमा योजना व जनधन योजना के बारे में बताया गया। बैंक के डिजिटल प्रोडक्ट जैसे एटीएम के प्रयोग एवं सावधानियों के बारे में भी लोगों को बताया गया।

==================================

‘‘जिला स्तरीय यशपाल जयंती के उपलक्ष्य पर कवि सम्मेलन का आयोजन
धर्मशाला, 03 दिसम्बर: जिला भाषा अधिकारी सुरेश राणा ने जानकारी देते हुए बताया कि भाषा एवं संस्कृति विभाग जिला कांगड़ा द्वारा आजादी का अमृत महोत्सव ‘‘जिला स्तरीय यशपाल जयंती के उपलक्ष्य पर कवि सम्मेलन का आयोजन राज मन्दिर नेरटी रैत में किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्वलित कर किया गया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. प्रत्यूष गुलेरी ने की। कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में एसडीएम शाहपुर डॉ. मुरारी लाल शर्मा उपस्थित रहे। कार्यक्रम में विभिन्न भाषीय साहित्यकारों व कवियों ने भाग लिया और अपनी कविताएं हिंदी व पहाड़ी भाषा में प्रस्तुत कीं ।
डॉ. सुशील कुमार फुल ने यशपाल जी के जीवन परिचय तथा उनके साहित्य पर प्रकाश डाला कि कैसे यशपाल जी ने अपने जीवन में संघर्ष किया। श्री गोपाल शर्मा ने अपनी कविता(कम्मो बड़ा खराब कम कमंांदा नी) ‘‘कोई कुछ भी बोैलेे मने ने लगान्दा नी, से अपने भाव प्रकट किए । नवोदित कवित्री दीक्षा देवी ने मां पर अपनी कुछ पंक्तियां यूं बयान की । ‘‘एक मां की यह कहानी है, जो आप सभी को सुनानी हैे’’। मां ने था धारण जब गर्भ किया अपने बच्चे का स्पर्श महसूस किया’’ ।
कार्यक्रम में अदिति गुलेरी, सुरेश भारद्वाज, शंकर सन्याल, शिव सन्याल, दुर्गेश नंदन, ओम प्रकाश प्रभाकर, आनंद स्वरूप धीमान, उज्जवल सिंह, अश्विनी धीमान, हरिकृष्ण मुरारी, कश्मीर सिंह, प्रताप जरयाल, रमेश मस्ताना, सरोज परमार, पवनेन्द्र पवन, युगल डोगरा, नवीन शर्मा, रेणु कुमारी व कृतिका धीमान तथा वरिष्ठ नवोदित कवियों ने अपनी कविताओं से कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई ।
कार्यक्रम के अंत में जिला भाषा अधिकारी श्री सुरेश राणा ने कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य अतिथि, विशिष्ट अतिथि व अन्य कवियों व गणमान्य का कार्यक्रम में आने पर स्वागत व धन्यवाद किया।

=================================

साइबर क्राइम पर जागरूता कार्यक्रम आयोजित
धर्मशाला, 03 दिसंबर, 2021: राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, धर्मशाला में आज साइबर क्राइम पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर आयोजित नारा लेखन तथा पोस्टर प्रतिस्पर्धा में एन.एस.एस. (राष्ट्रीय सेवा योजना) के 20 छात्रों ने भाग लिया।
यह जानकारी देते हुए एन.एस.एस. के प्रभारी प्रो0 मलकीत सिंह और प्रो0 सलिल शर्मा ने प्रतिभागियों का उत्साह बढ़ाया। उन्होंने सभी स्वयंसेवियों से आग्रह किया कि जीवन में बढ़ती आनॅलाइन गतिविधियों के मद्देनजर हमें और सजग एवं सतर्क रहने की आवश्यकता है। किसी भी आनॅलाइन गतिविधि में भाग लेते समय हमें सही तथा गलत की पहचान करना आना चाहिये। हमें हैकर्स तथा फ्रॉड आनॅलाइन साईट से सुरक्षित दूरी बनाए रखनी चाहिये।
प्रतिस्पर्धाओं के विजेताओं को प्रशस्ति-पत्र प्रदान किये गये।

=================================

चालक पद के लिए 20 दिसम्बर तक करें आवेदन
धर्मशाला, 03 दिसम्बर: खंड विकास अधिकारी, रैत लतिका सहजपाल ने जानकारी देते हुए बताया कि खंड विकास अधिकारी, रैत जिला कांगड़ा के कार्यालय में चालक ग्रामीण विकास विभाग में एक पद चालक का रिक्त होने से अन्य पिछड़ा वर्ग के योग्य उम्मीदवारों से दैनिकभोगी आधार पर आवेदन पत्र आमन्त्रित किये जाते हैं। आवेदन पत्र खंड विकास अधिकारी, रैत के कार्यालय में 20 दिसम्बर, 2021 सायं 4 बजे तक पहुंच जाने चाहिए।
उन्होंने बताया कि आवेदक 10वीं पास होना अनिवार्य है। आवेदक के पास वैध पहाड़ी इलाकों में भारी/हल्के वाहनों के चलने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस होना अनिवार्य है। आवेदक के पास अन्य पिछड़ा वर्ग स्ंवर्ग का प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है। चालक की नियुक्ति दैनिक आधार पर की जाएगी तथा उसे प्रतिमाह हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा अधिसूचित दिहाड़ी देय होगी।
खंड विकास अधिकारी ने बताया कि प्रार्थी की आयु प्रथम जनवरी को 18 से 45 वर्ष के बीच होनी चाहिए। प्रार्थी का अच्छा स्वास्थ्य व मानसिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए। प्रार्थी को किसी सरकारी विभाग द्वारा नौकरी से बर्खास्त न किया गया हो। अगर प्रार्थी बीपीएल/ओबीसी जाति से सम्बन्ध रखता है तो प्रमाण पत्र साथ संलग्न करें। प्रार्थी हिमाचल प्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए। आवेदन सादे कागज पर दिनांक 20 दिसम्बर, 2021 तक खंड विकास अधिकारी, रैत के कार्यालय मे सायं 4 बजे तक पहुंच जाने चाहिए। निर्धारित तिथि के बाद कोई भी आवेदन स्वीकार नहीं किया जाएगा। अगर प्रार्थी आवेदन से सम्बन्धित कोई भी जानकारी चाहता हो तो वह किसी भी कार्य दिवस में कार्यालय में सम्पर्क कर सकता है।
उन्होंने बताया कि साक्षात्कार के लिए प्रार्थी के पते पर सूचित किया जाएगा। कार्यालय को साक्षात्कार को बिना किसी कारण से रद्द करने का पूर्ण अधिकार होगा।