बिलासपुर 21 सितम्बर:- खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजिन्द्र गर्ग ने आज विधानसभा चुनाव क्षेत्र घुमारवीं की पडयालग पंचायत के गांव छंदोह में 4 लाख 50 हजार रुपये की लागत से निर्मित आंगनवाड़ी केन्द्र छंदोह के भवन का विधिवत पूजन कर लोकार्पण किया।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने देश व प्रदेश में महिला सशक्तिकरण को बल दिया है जिसके कारण समाज आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि बच्चे ही देश का भविष्य हैं। विधानसभा क्षेत्र में 322 आंगनवाड़ी केन्द्रों के माध्यम से बच्चों को स्कूल पूर्व शिक्षा, पौष्टिक आहार व बच्चों के लिए केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का लाभ प्रदान किया जा रहा है ताकि बच्चों को घर द्वार के समीप ही प्रारम्भिक शिक्षा सहित शुद्ध व पौष्टिक आहार मिले और बच्चे शारीरिक-मानसिक रूप से तंदरुस्त व स्वस्थ रहें।

उन्होंने बताया कि समाज के 50 प्रतिशत हिस्सा महिला समाज का है जिसका समाज के विकास के लिए स्वस्थ होना अनिवार्य है। उन्होंने सरकार द्वारा नवजात शिशु और मां को अस्पताल में आने के बाद 6 हजार रुपये दिए जाते है। उन्होंने बताया कि मातृ शक्ति को सम्बल बनाने के लिए सरकार ने कई योजनाएं चलाई है। उन्होंने बताया कि खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग के अंतर्गत डिप्पुओं में पोष्टिक राशन दिया जाता है ताकि लोगों को आवश्यक पोषित आहार मिल सके। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने महिला सशक्तिकरण को ध्यान में रखते हुए 65 से 69 वर्ष की महिलाओं को एक हजार

रूपये की सामाजिक सुरक्षा पेंशन बिना किसी आय प्रमाण पत्र के प्रदान की जा रही है।
उन्होंने बताया कि सरकार ने वृद्धजनों के प्रति आदर सत्कार का भाव रखने हुए वृद्धापेंशन की आयु सीमा 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष की गई। इसकी पात्रता के लिए कोई आय सीमा नहीं रखी गई है। वृद्धजनों की सामाजिक सुरक्षा पेंशन 750 रुपये से बढ़ाकर 1500 रुपये प्रतिमाह कर दी गई है।
उन्होंने बताया कि शगुन योजना के तहत ऐसे माता-पिता, संरक्षक अथवा स्वयं लड़की जिसके माता-पिता जीवित नहीं है व लापता है, को शादी के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस योजना के अंतर्गत विवाह अनुदान के रुप में 31 हजार रुपये लड़की के अभिभावकों को प्रदान किए जा रहे है। उन्होंने ‘बेटी के अनमोल योजना’ के तहत बेटियों को एफडीआर प्रदान की जा रही है जिसे 12 हजार रुपये से बढ़ाकर 21 हजार रुपये कर दिया गया है।

प्रदेश सरकार हर क्षेत्र में विकास के लिए प्रयास कर रही है चाहे वे शिक्षा का क्षेत्र, स्वास्थ्य, सड़क, बिजली के क्षेत्र सरकार निरंतर कार्य कर रही है। सरकार की प्राथमिकता है कि लोगों को हर बुनियादी सुविधा मिले और इन बुनियादी सुविधाओं को और भी सुदृढ़ किया जाए इसका प्रयास जारी है।
उन्होंने बताया कि चैखणा से बद्धाघाट सड़क के सम्वर्धन पर 3 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे है जिसका कार्य शीघ्र ही पूरा हो जाएगा। उन्होंने बताया कि चैखणाधार क्षेत्र के लिए पेयजल की समस्या को दूर करने के लिए 10 करोड़ रुपये की लागत से नई स्कीम बनाई है जिसका इसका 80 प्रतिशत कार्य पूरा कर लिया गया है और शेष कार्य को शीघ्र पूरा करके योजना जनता को समर्पित कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्र के लोगों सभी विभागों की सेवाएं एक छत के नीचे मिले इसके लिए घुमारवीं क्षेत्र में मिनी सचिवालय किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से घुमारवीं अस्पताल को 50 बिस्तरों से 100 बिस्तरों के रुप से स्तरोन्नत कर दिया गया है और अस्पाताल में डाॅक्टर की पोस्ट 5 से बढ़ाकर 11 कर दी गई है और सभी डाॅक्टर सेवाएं दे रहे है।
इस अवसर पर बेटी है अनमोल योजना के तहत है दो पात्र बच्चियों की माताओं को 12-12 हजार रुपए की एफडी प्रदान की गई।

इस अवसर पर सशक्त महिला योजना के अंतर्गत स्वयं सहायता समूहों द्वारा निर्मित उत्पादों की लगाई गई प्रदर्शनी का मुख्यातिथि द्वारा अवलोकन भी किया।
वाल विकास परियोजना अधिकारी घुमारवीं रंजना ने मंत्री को शाॅल, टोपी व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया और मंत्री ने आंगनवाड़ी केन्द्र के निर्माण हेतू भूमि दान कर्ता कल्याण सिंह को सम्मानित किया।
इस अवसर पर मेहर सिंह व कल्याण सिंह ने भी अपने विचार भी रखे।
अंत में उन्होंने लोगों की समस्याओं को भी सुना और ज्यादातर का मौके पर निपटारा कर दिया तथा शेष को सम्बन्धित विभागों को शीघ्र समाधान हेतु सौंपा गया।

इस अवसर पर उपमण्डलाधिकरी (ना) घुमारवीं राजीव ठाकुर, सहायक अभियंता जल शक्ति विभाग रविन्द्र रणौत, कनिष्ठ अभियंता जल शक्ति विभाग रोहित चंदेल, कनिष्ठ अभियंता विद्युत खुशहाल शर्मा, प्रधान पडयालग राजेश, पूर्व प्रधान मेहर सिंह, बीडीसी सदस्य सुरेंद्र अत्री, रूप लाल, राज कुमार सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।