चंबा, 2 मार्च- उपायुक्त डीसी राणा ने आज शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ हुई समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि एस्पिरेशनल जिला के तौर पर चम्बा जिला में शिक्षा क्षेत्र के लिए नीति आयोग द्वारा तय सभी 8 इंडिकेटर(सूचकों) में सौ प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने की दिशा में सभी आवश्यक कदम उठाए जाएं। उपायुक्त ने बैठक के दौरान कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी के तहत चंबा जिला के स्कूलों में लैबोरेट्री अपडेशन, एलईडी स्क्रीनों की स्थापना और ओलंपियाड आयोजित करने के लिए तैयार की गई कार्य योजना को जल्द अमलीजामा पहनाने के भी निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि जिले के 19 स्कूलों में लैबोरेट्री अपडेशन के अलावा 100 स्कूलों में एलईडी स्क्रीनें भी स्थापित की जाएंगी। इसके अलावा जिले के स्कूलों में साइंस ओलंपियाड भी शुरू होगा। यह प्रतियोगिता खंड स्तर के बाद जिला स्तर पर भी आयोजित की जाएगी। उन्होंने कहा कि ओलंपियाड के आयोजन के लिए जो शिक्षक बेहतर सामग्री तैयार करेंगे उन्हें भी सम्मानित किया जाएगा।
उपायुक्त ने केंद्र सरकार द्वारा शुरू किए गए पढ़ना- लिखना अभियान की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश के जिन 6 जिलों में अभियान चलेगा उनमें चंबा जिला भी शामिल है। अभियान के तहत इस वर्ष 15 वर्ष से अधिक आयु के करीब 25 हजार निरक्षरों को चिन्हित किए गए स्वयंसेवी शिक्षकों द्वारा पढ़ाया जाएगा। सर्व शिक्षा अभियान के परियोजना अधिकारी राजेश कुमार ने उपायुक्त को अवगत करते हुए कहा कि निरक्षरों को चिन्हित करने का कार्य 8 मार्च तक पूरा कर लिया जाएगा। बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त मुकेश रेपसवाल के अलावा जिला योजना अधिकारी गौतम शर्मा, उच्च शिक्षा उपनिदेशक देवेंद्र पाल, प्रारंभिक शिक्षा उपनिदेशक राजेश कौशल के अलावा अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे।
-------