Panchkula,दिनांक 18 जनवरी को आई अफ बी सेक्टर 9 पंचकुला मे रेनबो लेडीज क्लब द्वारा क्लब की तीसरी वर्षगाँठ बहुत धूमधाम के साथ मनाई गई। रेनबो लेडीज क्लब की प्रधान श्रीमति पूनम सहगल उपप्रधान ज्योति सहगल ने बताया कि इसका आयोजन रेनबो क्लब के सभी मेंबर्स के सहयोग से किया गया | रेनबो लेडिज क्लब की महिलाओ द्वारा गीत संगीत , भंगड़ा , गिद्दा एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किए गए | क्रायक्रम की शुरुवात दीप प्रज्वलित करके की गई। महिलाओं द्वारा एक से बढ़कर एक क्रायक्रम पेश किए गए। इस मौके पर वार्ड नम्बर 3 की पार्षद रितु गोयल एवं भाजपा की रंजीता महता ने मुख्य अतिथि एंव समाज सेवी सोनू सेठी ने विशेष अतिथि के रूप में शिरकत की । इस मौके पर क्लब की महिलाओं द्वारा केक काटकर सबको क्लब के तीन साल पूरे होने पर बधाई दी गई।

ज्योति ने बताया की क्लब की महिलाओ द्वारा ही भिन भिन तरह के परिधान तो पहने ही गए इसके इलावा क्लब की महिलाओ द्वारा भिन भिन राज्यों के ग्रुप डांस , सोलो डांस , डियूट डांस एवं सिंगिंग आदि भी परफॉर्म किये गए | कार्यक्रम में टाइटल के साथ साथ कई तरह के सबटाइटल भी दिए गए भिन भिन तरह की गेम्स खेली गई। ज्योति सहगल ने बताया की आज से दो साल पहले ठीक लोहड़ी के अवसर पर इस क्लब का उद्घाटन किया गया था और तब से लेकर अब तक क्लब में सेकड़ो महिलाए जुड़ चुकी है और बहुत सी नई महिलाए भी जुड़ रही है| इस क्लब की ख़ास बात यह है की यह क्लब सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ साथ बहुत से सामजिक , धार्मिक कार्य भी करता रहता है | बहुत जल्द इस क्लब की शाखाएँ पंजाब के भिन भिन शहरों में खुलने जा रही है | इस मौके पर समाज सेवी सोनू सेठी ने खूब बोलिया डाली |

क्लब की प्रधान पूनम सहगल ने महिलाओं को सम्भोदित करते हुए कहा कि आजकल महिलाएं या तो अपने घर मे बिजी रहती है या अपने कामकाज में इसलिए रेनबो क्लब की ओर से सब को एकजुट कर इस प्रोग्राम का आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि आज के दौर में जिस प्रकार महिलाओ पर अत्यचार हो रहे है हम सब को एक जुट हो महिलाओ के विषय मे समाज की सोच को बदलना है ताकि महिलाओ को उनका पूरा हक और समाज मे सम्मान मिल सके। इस कार्यकृम की आयोजक ज्योति सहगल ने कहा ऐसी कि वे रेनबो लेडीज क्लब की ओर से महिलाओ को लेकर समय समय पर आयोजन करवाती रहती है ! रेनबो लेडीज क्लब इस तरह के कार्यक्रम करवाता रहता है जो महिलाओं को घर की चार दिवारी से निकाल ऐसे आयोजन में आने का मौका देता है वयस्त और हाउस वाइफ महिलाओ के लिए ऐसे आयोजन होते रहते है ताकि गेट टू गेदर का ये सिलसिला चलता रहे|