एचपी शिवा प्रोजैक्ट के साथ ज्यादा से ज्यादा किसान जुड़ें-महेन्द्र सिंह ठाकुर

अगले वर्ष प्रदेश के सात जिलों की 4 हजार हैक्टेयर भूमि में रोपित होंगे फलदार पौधे
धर्मपुर विस क्षेत्र के ध्वाली (मढ़ी) में आयोजित किसान प्रशिक्षण शिविर के दौरान बोले जलशक्ति व बागवानी मंत्री

धर्मपुर (मंडी), 27 नवम्बर : जलशक्ति, बागवानी, राजस्व व सैनिक कल्याण मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के निचले क्षेत्रों में बागवानी को बढ़ावा देने के लिए साढ़े 6 हजार करोड़ रूपये के हिमाचल शिवा (सब-ट्रापिकल हार्टिकल्चर एंड वेल्यु एडिडशन) प्रोजैक्ट की शुरूआत की गई है। इस प्रोजैक्ट के माध्यम से जहां प्रदेश के सात जिलों के किसानों को बागवानी के साथ जोड़ा जा रहा है तो वहीं बागवानी मजबूत आर्थिकी का एक अहम आधार बने इस दिशा में भी लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होने प्रदेश के ज्यादा से ज्यादा किसानों से इस प्रोजैक्ट के साथ जुडऩे का आहवान किया है ताकि उनके घर में ही स्वरोजगार से न केवल रोजगार सृजित हो सके बल्कि उनकी आर्थिकी को भी बल दिया जा सके। महेन्द्र सिंह ठाकुर आज धर्मपुर विस क्षेत्र के अंतर्गत ध्वाली (मढ़ी) में एचपी शिवा प्रोजैक्ट तथा सुभाष पालेकर प्राकृतिक खेती के तहत आयोजित किसान प्रशिक्षण शिविर में बोल रहे थे। इस दौरान उन्होने एचपी शिवा प्रोजेक्ट के साथ जुड़े स्थानीय किसानों को कृषक औजारों का भी वितरण किया।
उन्होने कहा कि शुरूआती दौर में एचपी शिवा प्रोजैक्ट को पायलट आधार पर प्रदेश के चार जिलों में चलाया गया है जिसमें 17 किसान कलस्टर के माध्यम से 170 हैक्टेयर भूमि में 852 किसान परिवारों को जोडक़र लगभग एक लाख 60 हजार फलदार पौधों जिसमें अमरूद, संतरा, लीची व अनार शामिल है का रोपण किया गया है तथा इसके बेहतर परिणाम सामने आए हैं। उन्होने बताया कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में प्रदेश के सात जिलों मंडी, कांगड़ा, हमीरपुर, बिलासपुर, ऊना, सोलन तथा सिरमौर के 28 विकास खंडों में 350 किसान कलस्टर के तहत 4 हजार हैक्टेयर भूमि को चिन्हित कर 10 हजार किसान परिवारों को जोड़ा जा रहा है। अकेले मंडी जिला में ही 90 किसान कलस्टर के माध्यम से 11 सौ हैक्टेयर भूमि को चिन्हित किया गया है। जबकि धर्मपुर विस क्षेत्र में पायलट आधार पर अब तक चार किसान कलस्टर जिसमें गमधाल-चंगयार, डबरोट, बिंगा तथा नेरी संधोल शामिल है की लगभग 40 हैक्टेयर भूमि में 240 किसान परिवारों को जोडक़र लगभग 47 हजार अमरूद, लीची व संतरे के उच्च किस्म के फलदार पौधों को रोपित किया जा चुका है। जबकि अगले वर्ष 40 किसान कलस्टरों के माध्यम से 500 हैक्टेयर भूमि को चिन्हित कर 900 किसान परिवारों को लाभान्वित करने का लक्ष्य रखा गया है।
उन्होने कहा कि एचपी शिवा प्रोजैक्ट के तहत जहां किसानों व बागवानों को उच्च किस्म के फलदार पौधे सरकार द्वारा मुहैया करवाए जा रहे हैं तो वहीं सिंचाई सुविधा, बाडबंदी का भी प्रावधान किया गया है। आने वाले समय में किसानों की सुविधा के लिए जहां संग्रहण केंद्र स्थापित किये जाएंगे तो वहीं मार्केटिंग कॉम्पलेक्स भी स्थापित होंगे। भविष्य में उन्नत किस्म के फलदार पौधों को तैयार करने के लिए नर्सरी भी स्थापित की जाएंगी ताकि प्रदेश के किसानों व बागवानों को यहीं पर अच्छी किस्म के पौधे आसानी से प्राप्त हो सकें।
शिवा प्रोजैक्ट प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए स्वरोजगार का साबित होगा अहम कदम
महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि शिवा प्रोजैक्ट के साथ जुड़े किसानों को इन फलदार पौधों की देखरेख व कांटछांट के लिए कृषि औजार व उपकरण की किट भी वितरित की जा रही है, जिसमें कैंची, स्पे्र पंप, फावड़ा इत्यादि शामिल हैं। उन्होने कहा कि एचपी शिवा प्रोजैक्ट प्रदेश विशेषकर निचले हिमाचल प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए स्वरोजगार का अहम कदम साबित होगा। इससे न केवल उन्हे घर में ही रोजगार की सुविधा मिलेगी बल्कि उनकी आर्थिकी में भी व्यापक बदलाव लाने में अहम कड़ी साबित होगा। उन्होने वर्तमान पीढ़ी से पारंपरिक खेती-बाड़ी से बाहर निकलकर बागवानी की आधुनिक तकनीकों को अपनाने पर भी बल दिया तथा कहा कि बागवानी से जुडऩे वालों को सरकार हरसंभव मदद प्रदान कर रही है। साथ ही कहा कि आत्म निर्भर भारत निर्माण में भी यह प्रोजैक्ट एक अहम भूमिका अदा करेगा।
धर्मपुर के सिद्धपुर में प्रदेश के किसानों व बागवानों को मिलेगा आधुनिक प्रशिक्षण
बागवानी मंत्री ने कहा कि एचपी शिवा प्रोजैक्ट के तहत धर्मपुर के सिद्धपुर में प्रदेश के किसानों व बागवानों को आधुनिक प्रशिक्षण की सुविधा के लिए सेंटर ऑफ एक्सीलेंस स्थापित किया गया है। इस केंद्र में प्रशिक्षण के अतिरिक्त फलदार पौधों की नर्सरी एवं मशरूम प्रोजेक्ट भी बनेगा।

कोरोना संक्रमण से बचाव को लोग बरतें पूरी एहतियात
महेन्द्र सिंह ठाकुर ने लोगों से कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर पूरी एहतियात बरतनें का आहवान किया है। उन्होने पर्याप्त सामाजिक दूरी के साथ-साथ फेस मास्क का प्रयोग करने तथा बार-बार हाथों को साबुन से धोने की सलाह भी दी। इसके अतिरिक्त सरकार द्वारा समय-समय पर जारी दिशा निर्देशों की अनुपालना का भी आहवान किया।
उन्होने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकारों द्वारा समय रहते उठाए गए कदमों के कारण कोरोना संक्रमण को बड़े पैमाने पर फैलने से रोकने में बड़ी कामयाबी हासिल की है बावजूद इसके लोगों से संक्रमण को लेकर पूरी सजकत्ता व सतर्कता बरतने का भी विशेष आग्रह किया है।
इससे पहले उन्होने किसानों व बागवानों को कृषक उपकरणों एवं औजारों का भी वितरण किया।
एचपी शिवा प्रोजैक्ट के राज्य परियोजना अधिकारी डॉ. देवेन्द्र ठाकुर ने इस प्रोजेक्ट बारे विस्तृत जानकारी दी। इसके अतिरिक्त कृषि विभाग के अधिकारियों ने सुभाष पालेकर प्राकृतिक खेती बारे भी किसानों का मार्गदर्शन किया गया।
इस मौके पर डॉ. देवेन्द्र ठाकुर के अतिरिक्त जलशक्ति मंत्री की धर्मपत्नि प्रोमिला ठाकुर, भाजपा सह मीडिया प्रभारी रजत ठाकुर, उपनिदेशक बागवानी डॉ. अशोक धीमान, प्रोजेक्ट डायरेक्टर आत्मा बीडी कौंडल, एमएमएस डॉ. नरदेव ठाकुर, डॉ. रमेश ठुकराल सहित अन्य विभागीय अधिकारी एवं अन्य गण्यमान्य लोग उपस्थित थे।