चंडीगढ़, 26 अक्तूबर: बरोदा में कांग्रेस और भाजपा दोनों मिल कर चुनाव लड़ रहे हैं, कहने को तो उन्होंने अलग-अलग प्रत्याशी उतार रखे हैं लेकिन आज दोनों पार्टियों की हालात ऐसी है कि भाजपा और कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं है जिसको लेकर वो लोगों के बीच जा सकें। दस साल के हुड्डा के शासन और छह साल के भाजपा के शासन के बाद आज भी बरोदा में पीने के पानी की जैसी मूलभूत समस्याएं हैं, सडक़े टूटी पड़ी हैं, स्कूल में अध्यापक नहीं हैं और बीमार जनता के इलाज के लिए डिस्पैंसरी में डॉक्टर नहीं हैं। जहां इतने बुरे हालात हैं तो कैसे लोग उस सरकार को वोट डाल देंगे और कैसे उन्हे वोट देंगे जिन्होंने केवल ‘‘मैं थारा और तुम मेरे’’ जैसा झूठा नारा देकर वोट लिए हैं। आज बरोदा का चुनाव इस पर है कि किसने काम किया और किसने अनदेखी की ये बातें इंडियन नेशनल लोकदल के प्रधान महासचिव एवं विधायक अभय सिंह चौटाला ने सोमवार को चंडिगढ़ स्थित अपने आवास पर प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कही।

इनेलो नेता ने कहा कि वो ये तो नहीं कहते कि उन्होंने हर घर में एक नौकरी दी थी लेकिन जनता के लिए सार्वजनिक काम अगर किसी सरकार में हुए हैं तो वो ओम प्रकाश चौटाला के (2000-2005) शासन काल में हुए हैं, उनके समय में बरोदा में रजबाहों का निर्माण किया गया। उन्होंने कहा कि रजबाहा बनाने का मतलब है कि जिस-जिस गांव में से रजबाहा निकल गया तो समझो उस गांव के हर घर में एक नौकरी लग जाती है। रजबाहे बनने से बिरानी पड़ी जमीन को सिंचाई के लिए पानी मिला जिससे किसान को फसल की भरपूर पैदावार मिली और उसकी आमदनी बढ़ी। बरोदा में शूगर मील ना होने से गन्ना किसानों की बहुत बड़ी समस्या थी, उन्हे गन्ने की फसल बेचने के लिए जींद, रोहतक, सोनीपत, पानीपत और यहां तक की पंजाब तक जाना पड़ता था। उसके लिए रिकार्ड समय में बरोदा हलके में शुगर मील लगाई, लड़कियों के लिए कालेज का निर्माण किया, बली ब्राह्मणान गांव में इंजिनियरिंग कालेज बनाने जैसे अनेक सार्वजनिक कार्य करवाए।

उन्होंने कहा कि राजनीति कोई दुकान नहीं है जिसमें नफा और नुकसान देखा जाता है। राजनीति का मतलब है लोगों में विश्वास और हमारी पार्टी के प्रति लोगों का विश्वास रहा है कि हमने हमेशा कमजोर वर्ग के लोगों की लड़ाई लड़ी है और उनके साथ न्याय क रवाया है। उन्होंने कहा कि आज उनका प्रत्याशी सबसे आगे हैं और अगले दो-तीन दिन में चुनाव सौ फीसदी उनके हक में हो जाएगा।
इनेलो नेता ने बताया कि 31 अक्तूबर को बरोदा में बहुत बड़ा जलसा करने जा रहे हैं इस जलसे में सिर्फ बरोदा के लोग ही होंगे। उस जलसे में भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्रशेखर आजाद भी शिरकत करेंगें। उन्होंने कहा कि चन्द्रशेखर ने हमेशा कमजोर की आवाज उठाई है वो चाहे किसी भी जाति का हो।

पत्रकार द्वारा पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि बड़ी हैरानी की बात है कि जेजेपी का दिग्विजय बरोदा में जाकर कहता है कि भाजपा ने छह साल में बहुत विकास करवाया, उसे शर्म आनी चाहिए कि पांच साल तो वो भाजपा को कोसते रहे उन्हे गालियां देते रहे और अब उनकी बढ़ाई कर रहे हैं। मुख्यमंत्री और उप-मुख्यमंत्री दोनों के एक साथ प्रचार करने के सवाल का जवाब देते हुए इनेलो नेता ने कहा कि दोनों इक_ा विरोध करवाने जाएंगे वहां पर लोग नहीं होंगे, बस पुलिस ही पुलिस होगी। उन्होंने कहा कि वो चाहते हैं कि ये हररोज वहां जाएं, ये जितना वहां जाएंगे, उतना ही इनेलो को फायदा होगा।