सोलन-दिनांक 18.10.2020-स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आयुर्वेद मन्त्री डाॅ. राजीव सैजल ने लोगों से आग्रह किया कि जल संरक्षण को जीवन का अभिन्न अंग बनाएं और वर्षा जल संग्रहण के लिए ग्राम स्तर पर एकजुट होकर कार्य करें। डाॅ. सैजल आज कसौली विधानसभा क्षेत्र में लगभग 3.08 करोड़ रुपए की योजनाओं के शिलान्यास एवं लोकापर्ण करने के उपरान्त उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित कर रहे थे।
उन्होंने ग्राम पंचायत बनासर में लगभग 02.06 करोड़ रुपए की लागत से उठाऊ पेयजल योजना बनासर सन्धोग के सम्वर्द्धन कार्य का शिलान्यास किया।
डाॅ. सैजल ने इससे पूर्व ग्राम पंचायत गढ़खल कसौली में उठाऊ पेयजल योजना मंगोटी के रिमोडलिंग कार्य की आधारशिला भी रखी। इस कार्य पर 99.75 लाख रुपए व्यय होंगे।
उठाऊ पेयजल योजना बनासर सन्धोग के सम्वर्द्धन कार्य से क्षेत्र की 05 ग्राम पंचायतों बनासर, मोहलो, चम्मो, भोजनगर और प्राथा के बुधो, पनेवा, मंझोल, महलों, टकरोटा, सेरी, शांवली, बनासर, सन्धोग, शौघी, शेवला, कजोडी, जठयाण, जोधपुर, नयाग्राम, सेवत, करोल, बलाऊ, चम्मो, कोफर, प्याणा, बाग का खेत, बनयाणी, बीका खाील तथा खडीन गांव लाभान्वित होंगे।
उठाऊ पेयजल योजना मंगोटी से क्षेत्र के सनवारा, मंडो मटकण्डा, मंगोटी तथा नन्दे का थड़ा गांव की जनसंख्या लाभान्वित होगी।
आयुर्वेद मन्त्री ने सन्धोग में 02 लाख रुपए की लागत से निर्मित वर्षा शालिका का लोकार्पण भी किया।
डाॅ. सैजल ने कहा कि जल जीवन की मूलभूत आवश्यकता है और जल की एक-एक बूंद का संरक्षण सुरक्षित वर्तमान एवं भविष्य के लिए आवश्यक है। उन्होंने कहा कि वर्षा जल संग्रहण हिमाचल जैसे पहाड़ी प्रदेश में जल संग्रहण के लिए कारगर उपाय है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में ग्रामीण क्षेत्रों के सतत विकास के लिए लोगों की मांग और प्रशासनिक आवश्यकता के दृष्टिगत नई ग्राम पंचायतों का गठन किया गया है। कसौली विधानसभा क्षेत्र के तहत भी विकास को अधिक जनसुलभ बनाने के लिए कुछ नई ग्राम पंचायतें गठित की गई हैं। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि अपने गांव के विकास के लिए प्रदेश सरकार को सहयोग दें और विकास कार्यों की गुणवत्ता का नियमित अनुश्रवण करें।
उन्होंने कहा कि कोविड-19 के समय में केंद्र तथा प्रदेश सरकार ने न केवल समाज के कमजोर वर्गों को राहत पहुंचाने के लिए योजनाबद्ध कार्य किया है अपितु यह भी सुनिश्चित बनाया है कि संकट के समय में लोगों को कम से कम परेशानी का सामना करना पड़े। प्रधानमन्त्री जन धन योजना के तहत लगभग 06 लाख पात्र महिलाओं के खातों में अप्रैल, मई व जून माह में 500-500 रुपए हस्तांतरित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के समय में 8.74 लाख किसानों के खातों में प्रधानमन्त्री किसान सम्मान निधि के तहत 2000 रुपए प्रति लाभार्थी जमा किए गए। इस कार्य पर 175 करोड़ रुपए खर्च किए गए।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने कहा कि कसौली विधानसभा क्षेत्र में अधोसंरचना विकास पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। स्थानीय ग्राम पंचायत में उप स्वास्थ्य केंद्र को स्तरोन्नत किया जाएगा और यह प्रयास किया जाएगा ताकि लोगों को किसी कठिनाई का सामना ना करना पड़े।
आयुर्वेद मंत्री ने लोगों से आग्रह किया कि कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए सभी यह सुनिश्चित बनाएं कि सार्वजनिक स्थानों पर बिना मास्क के ना रहें, सुरक्षित सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर रखें और बार-बार अपने हाथ या तो साबुन से धोएं यह अल्कोहल युक्त सैनिटाइजर से साफ करें। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमण से बचने के लिए आवश्यक है कि हम सभी जागरूक रहें।
उन्होंने इस अवसर पर जन समस्याएं भी सुनीं और अधिकरियों को इनके त्वरित निपटारे के निर्देश दिए।
इस अवसर पर एपीएमसी सोलन के अध्यक्ष संजीव कश्यप, भाजपा मण्डल कसौली के अध्यक्ष कपूर सिंह वर्मा तथा ग्राम पंचायत बनासर के पूर्व प्रधान उपेन्द्र ने भी अपने विचार रखे।
इस अवसर पर बीडीसी सदस्य शौंक राम तथा दिनेश ठाकुर, ग्राम पंचायत कसौली गढ़खल की प्रधान मधु शर्मा, ग्राम पचांयत चम्मो के उप प्रधान पवन, पंचायती राज संस्थाओं के अन्य पदाधिकारी, भाजपा मण्डल कसौली के सचिव संजय शर्मा, भाजपा किसान मोर्चा सोलन के सचिव चैन सिंह, भाजपा किसान मोर्चा कसौली के सह सचिव अविन्द्र, मीडिया प्रभारी प्रेम सिंह, भाजपा तथा भाजयुमो के अन्य पदाधिकारी, ग्राम पंचायत बनासर के पूर्व उप प्रधान हीरा सिंह, जल शक्ति विभाग के अधीक्षण अभियन्ता मुकेश हीरा, अधीशाषी अभियन्ता सुमित सूूद, लोक निर्माण विभाग के अधीशाषी अभियन्ता राजेश कुमार, विद्युत बोर्ड के अधीशाषी अभियन्ता राहुल, अन्य वरिष्ठ अधिकारी, गणमान्य व्यक्ति तथा ग्रामवासी इस अवसर पर उपस्थित थे।