हरियाणा के गृह मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि हरियाणा पुलिस को ऐसा बनाने का प्रयास किया जा रहा है कि आमजन पूरी तरह से सुरक्षित महसूस करें और अपराधी खौफ खाएं। प्रदेश पूरी तरह से भ्रष्टाचार मुक्त-सदभावना युक्त और पुलिस के सेवा सुरक्षा सहयोग के संकल्प पर चले।

चंडीगढ़, 9 जनवरी- हरियाणा के गृह मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि हरियाणा पुलिस को ऐसा बनाने का प्रयास किया जा रहा है कि आमजन पूरी तरह से सुरक्षित महसूस करें और अपराधी खौफ खाएं। प्रदेश पूरी तरह से भ्रष्टाचार मुक्त-सदभावना युक्त और पुलिस के सेवा सुरक्षा सहयोग के संकल्प पर चले।

गृह मंत्री आज गुरुग्राम के आरटीसी भौंडसी में पुलिस जवानों के 86वें बैच के दीक्षांत समारोह में उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे।

श्री विज ने कहा कि पुलिस का काम केवल अपराध पर अंकुश लगाना ही नहीं, लोगों के साथ मैत्रीपूर्ण व्यवहार से भी अपराध कम किए जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा पुलिस को अग्रणी पुलिस बनाने के लिए राज्य सरकार प्रयासरत है। उन्होंने पास-आऊट हुए पुलिसकर्मियों का आह्वान किया कि प्रदेश की जनता सरकार से उम्मीदें लगाए हुए है और जनता की आकांक्षाओं पर खरा उतरने के लिए आप सभी को कठोर मेहनत करनी है ताकि एक सबल, सुरक्षित तथा नशामुक्त हरियाणा बन सके। उन्होंने आश्वस्त किया कि पुलिस विभाग के कर्मचारियों की वाजिब मांगो को पूरा करने में कोई कमी नहीं रहनी दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि पुलिस टे्रनिंग के दौरान कर्मियों को हर प्रकार का प्रशिक्षण दिया जाता है, जिसमें कानूनी जानकारी के साथ-साथ सामाजिक एवं व्यवहारिक ज्ञान को भी शामिल किया जाता है। उन्होंने कहा कि पुलिस किसी भी सरकार का चेहरा होती है, जिसकी कार्यप्रणाली का पूरा असर सरकार पर पड़ता है। प्रदेश की जनता की जान माल की सुरक्षा और कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी सरकार की होती है। सरकार की इस जिम्मेदारी को पूरा करने में पुलिस विभाग का बहुत बड़ा रोल होता है। सभी पुलिस कर्मियों को अनुशासित रहकर भ्रष्टïाचारमुक्त एवं सदभावनायुक्त वातावरण देते हुए हरियाणा पुलिस के सेवा, सुरक्षा एवं सहयोग के संकल्प को पूरा करना है।

श्री विज ने कहा कि लोगों की सुविधा के लिए पुलिस विभाग की कई सेवाएं ऑनलाईन की गई हैं। ‘हरसमय सिटीजन पोर्टल’ शुरू किया गया है, जिस पर पुलिस विभाग से संबंधित 33 सेवाओं का लाभ ऑनलाइन दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सामाजिक एवं आर्थिक तौर पर प्रभावित महिलाओं की सहायता के लिए वन स्टोप सैंटर शुरू करके उसे 181 हेल्पलाइन से जोड़ा गया है। प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा के लिए दुर्गा शक्ति ऐप शुरू की गई, जिसको अभी तक डेढ़ लाख महिलाओं ने अपने फोन पर डाऊनलोड किया है। सभी जिलों मेें महिला थानों को महिला हेल्पलाइन नम्बर 1091 से जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि पुलिस कर्मियों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए 2 मई 2016 से साप्ताहिक अवकाश की व्यवस्था की गई है। पुलिस कर्मियों के लिए शहरों के आस पास ही रिहायशी स्थल बनाए गए हैं।

उन्होंने बताया कि सरकार प्रदेश में नशे पर सिरे से अंकुश लगाने के लिए सख्त कदम उठा रही है और जल्द ही प्रदेश में हरियाणा नार्कोटिक्स ब्यूरो का गठन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि आपरेशन प्रहार के तहत भी नशे के कारोबार की जानकारी देने के लिए टोल फ्री नम्बर जारी किया गया है और इसके लिए खुफिया तंत्र की भी मदद ली जा रही है ताकि नशे के कारोबार में संलिप्त तस्करों के प्रति कडी कार्यवाही की जा सके।

इससे पहले अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुख्यालय मोहम्मद अकील ने समारोह में आए हुए सभी लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि पुलिस की नौकरी महज रोजगार नहीं है, सामाजिक सेवा करना भी प्रत्येक पुलिसकर्मी का कर्तव्य है। उन्होंने बताया कि नागरिकों की अपेक्षाओं पर खरा उतरने के लिए पुलिस प्रशिक्षण पाठयक्रम में जरूरत अनुसार बदलाव किए जाते हैं ताकि पुलिस को स्मार्ट पुलिस के तौर पर खडा किया जा सके। प्रत्येक पुलिसकर्मी का कर्तव्य है कि नागरिकों के अधिकारों के प्रति संवेदनशील हों और कानून को सख्ती के साथ लागू किया जाए। उन्होंने कहा कि सरकार ने पुलिस में सुधार के लिए संवेदनशीलता के साथ काम करते हुए अहम कदम उठाए हैं।

दीक्षांत परेड समारोह में भव्य मार्च पास्ट के अतिरिक्त पुलिस प्रशिक्षण केंद्र के प्रशिक्षणार्थियों ने शानदार मॉस पीटी प्रस्तुत की। आयोजन में शामिल सीमा सुरक्षा बल के बैंड दस्ते ने मधुर स्वर-लहरियों से सब का मन मोह लिया। हरियाणा पुलिस के घुड़सवार दस्ते ने अपने प्रदर्शन से सभी को रोमांचित किया।

समारोह के अंत में आरटीसी भौंडसी एवं हरियाणा सशस्त्र पुलिस के उप महानिरीक्षक कुलविंद्र सिंह ने मुख्य अतिथि सहित सभी अतिथियों, परेड में शामिल जवानों के परिवारजनों व मीडिया कर्मियों का आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर फरीदाबाद के पुलिस आयुक्त केके राव, राज्य सर्तकता ब्यूरो गुरुग्राम के महानिरीक्षक सौरभ सिहं, महानिरीक्षक सीएस राव, पूर्व पुलिस उप पुलिस महानिरीक्षक जगदीश नागर, पूर्व पुलिस अधीक्षक जगवंत लांबा और महाराज सिंह, एसटीएफ प्रमुख उप पुलिस महानिरीक्षक बी सतीश बालन, भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी अर्पिता सिंह, गुरूग्राम की मेयर मधु आजाद, पूर्व विधायक सोहना तेजपाल, पटौदी की पूर्व विधायक बिमला चौधरी, बीएसएफ के अधिकारी राजेश वर्मा, केंद्रीय रिर्जव पुलिस बल के अधिकारी गु्रप कमांडर अजीत सांगवान, सीआरपीएफ अधिकारी अशोक स्वामी, इंडियन रिर्जव बटालियन के आदेशक नृपजीत सिंह, डीके भारद्वाज, राजेश दुग्गल, गुरूग्राम मुख्यालय के पुलिस उपायुक्त शशांक कुमार सावन व अन्य गणमान्य व्यक्ति दीक्षांत परेड में भाग ले रहे प्रशिक्षणार्थियों के परिवार के सदस्य, मीडियाकर्मी, स्टाफ, प्रशिक्षणार्थी भी उपस्थित रहे ।

------------------------------------------------------------------

हरियाणा के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव और वित्तायुक्त श्री धनपत सिंह की अध्यक्षता में आज यहां देश के तत्कालीन पूर्व गृह मंत्री श्री उमाशंकर दीक्षित द्वारा हरियाणा और उत्तर प्रदेश के अंतर राज्य सीमा विवाद के सम्बन्ध में दिये गये दीक्षित अवार्ड के कार्यान्वयन की प्रगति की समीक्षा बैठक की।

चण्डीगढ़, 9 जनवरी- हरियाणा के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव और वित्तायुक्त श्री धनपत सिंह की अध्यक्षता में आज यहां देश के तत्कालीन पूर्व गृह मंत्री श्री उमाशंकर दीक्षित द्वारा हरियाणा और उत्तर प्रदेश के अंतर राज्य सीमा विवाद के सम्बन्ध में दिये गये दीक्षित अवार्ड के कार्यान्वयन की प्रगति की समीक्षा बैठक की। यह बैठक गत 14 दिसंबर, 2019 को लखनऊ में पूर्व में आयोजित कि गई उत्तर प्रदेश और हरियाणा की बैठक में लिये गये निर्णयों की अनुपालना के दष्टिगत आयोजित की गई।

इस बैठक में उत्तर प्रदेश के राजस्व विभाग के प्रधान सचिव व अन्य वरिष्ठ अधिकारी, हरियाणा सीमा के साथ लगते उत्तर प्रदेश के 6 जिलों के अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट, उतर प्रदेश जिलों के साथ लगते हरियाणा जिलों के मंडलायुक्त और उपायुक्त, सर्वे आफ इंडिया चण्डीगढ़ के निदेशक और लोक निर्माण विभाग के ईआईसी ने भाग लिया।

उन्होंने कहा कि दोनों प्रदेशों में पिछले 40 वर्षों से लंबित विवादों को हल करने के लिए विस्तृत विचार-विमर्श और चर्चा करने के बाद भारतीय सर्वेक्षण जनरल ने बरही और बरही कलां जिला शामली, जो करनाल में पड़ते हैं, की राजस्व सम्पदा की सीमाओं का सीमांकन करने के लिए पायलेट आधार पर सैम्पल सर्वेक्षण करने पर सहमति व्यक्त की। यदि यह पायलट प्रयोग सफल पाया जाता है, तो इसे सभी प्रभावित गांवों (हरियाणा के 71 और उत्तर प्रदेश के 132) में दोहराया जाएगा। यह लगभग सभी लंबित विवादों को हल करेगा, अगर उत्तर प्रदेश के समीपवर्ती जिलों के साथ राज्य के यमुनानगर जिले से लेकर पलवल जिले तक शुरू होने वाले लगभग 312 किलोमीटर के पूरे सीमा क्षेत्र में सर्वे ऑफ इंडिया द्वारा सही तरीके से लागू किया जाता है।

बैठक में विशेष रूप से यह निर्देश दिया गया है कि दोनों राज्यों के सभी संबंधित उपायुक्त, जिला मजिस्ट्रेट, संबंधित गांवों के पटवारी और लेखपाल व राजस्व अधिकारियों के साथ 10 फरवरी, 2020 से पहले, विषेष रूप से किसी भी रविवार को समीक्षा बैठक करेंगे। इस बैठक में राजस्व अभिलेखों के हस्तांतरण के विभिन्न मुद्दे जो राजस्व न्यायालयों, जिला न्यायालयों और उच्च न्यायालयों और भारत के सर्वोच्च न्यायालय में चल रहे हैं, उन मामलों को आपसी चर्चा सांझा करके माध्यम से सुलझाया जाएगा।

बैठक में सर्वे ऑफ इंडिया के निदेशक को निर्देश दिया गया कि वह उक्त दीक्षित अवार्ड के अनुसार संदर्भित स्तंभों, सीमा सदर्भ स्तंभों और उप सदर्भ स्तंभों की कुल संख्या के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करें। इसके अलावा, यह भी निर्णय लिया गया कि दोनों राज्यों के लोक निर्माण विभागों को संयुक्त रूप से आई.आई.टी. रूडक़ी से लागत अनुमानों के साथ विभिन्न विकल्पों सहित सीमा स्तंभों, संदर्भ स्तंभों और उप-संदर्भ स्तंभों की संरचनात्मक डिजाइन को तैयार करवाया जाएगा।

================================================
हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने 20 जनवरी, 2020 को प्रात: 11.00 बजे विधानसभा भवन, चंडीगढ़ में हरियाणा विधानसभा का अधिवेशन आहूत किया है।

चंडीगढ़, 9 जनवरी- हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने 20 जनवरी, 2020 को प्रात: 11.00 बजे विधानसभा भवन, चंडीगढ़ में हरियाणा विधानसभा का अधिवेशन आहूत किया है।

विधानसभा सचिवालय द्वारा इस आशय की एक अधिसूचना जारी की गई है।

==============================================================

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल 10 जनवरी, 2020 को पंचकूला में ‘महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा’ विषय पर आयोजित किए जा रहे दो दिवसीय सम्मेलन के समापन दिवस अवसर पर उदघाटन सत्र को संबोधित करेगें।

चंडीगढ़, 9 जनवरी- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल 10 जनवरी, 2020 को पंचकूला में ‘महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा’ विषय पर आयोजित किए जा रहे दो दिवसीय सम्मेलन के समापन दिवस अवसर पर उदघाटन सत्र को संबोधित करेगें।

पुलिस विभाग के प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि दो दिवसीय सम्मेलन का आयोजन हरियाणा पुलिस, पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो और भारतीय पुलिस फाउंडेशन संस्थान (आईपीएफआई) द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि अतिरिक्त मुख्य सचिव, गृह, श्री विजय वर्धन शाम 4.00 बजे कार्यक्रम के समापन सत्र की अध्यक्षता करेंगे। सम्मेलन के समापन दिवस पर हरियाणा सरकार के विभिन्न विभागों, पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो और आईपीएफआई के अधिकारियों के प्रतिनिधियों के साथ अन्य लोग भी शामिल होंगे।

समापन दिवस पर हरियाणा पुलिस द्वारा की गई ‘‘महिला सुरक्षा और अधिकारिता पहल’’ पर एक प्रदर्शनी दिखाई जाएगी। पांच कार्य समूहों, जिन्होंने महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर विचार-विमर्श किया, वे अपने निष्कर्ष को उपस्थित विभिन्न क्षेत्रों के लोगो के समक्ष प्रस्तुत करेंगे, ताकि इन सुझावों को अंतिम रूप दिया जा सके।

=======================================================

राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर रेवाड़ी में आगामी 12 जनवरी को राज्य स्तर पर ‘रन फार यूथ मैराथन’ का आयोजन किया जाएगा।



चंडीगढ़, 9 जनवरी- राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर रेवाड़ी में आगामी 12 जनवरी को राज्य स्तर पर ‘रन फार यूथ मैराथन’ का आयोजन किया जाएगा।

यह जानकारी आज रेवाड़ी में मुख्यमंत्री के विशेष अधिकारी एवं एडीजीपी ओ.पी. सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि रेवाड़ी के उपायुक्त श्री यशेन्द्र सिंह के मार्ग दर्शन में जिला प्रशासन के अधिकारी पिछले कई दिनों से तैयारियों को अंतिम रूप देने में लगे हुए हैं।

उन्होंने बताया कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल राज्यस्तरीय ‘रन फॉर यूथ-यूथ फार नेशन’ पर आधारित मैराथन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे, इस उपरांत केएलपी कालेज में आयोजित ‘युवा संवाद’ कार्यक्रम में भाग लेंगे। राज्यस्तरीय रन फॅार यूथ-यूथ फॅार नेशन थीम पर आधारित दस किलोमीटर व पांच किलोमीटर मैराथन होगी। मैराथन के लिए निर्धारित रूट के तहत रेवाड़ी के आईओसी चौक से दक्ष प्रजापति चौक तक जगह-जगह स्वामी विवेकानंद जी के जीवन आदर्शों पर आधारित प्रेरक संदेश की गूंज सुनाई देगी।

गौरतलब है कि रेवाड़ी में आयोजित रन फॉर यूथ मैराथन में भाग लेने के लिए युवाओं ने खासी रूचि दिखाई और पंजीकरण के अंतिम दिन गुरूवार की शाम तक यह आंकडा 38 हजार के पार पहुंच गया। मैराथन को लेकर शहरवासियों के अलावा ग्रामीणों में भी उत्साह देखने को मिल रहा है। कार्यक्रम में ज्यादा से ज्यादा जिलावासियों की भागीदारी के लिए व्यापक स्तर प्लान तैयार किया गया है,जिसके अनुसार नागरिकों को कार्यक्रम के प्रति जागरूक किया जा रहा है। लोगों के उत्साह को देखते हुए प्रशासन द्वारा 10 जनवरी को केएलपी कालेज में ऑफ लाइन पंजीकरण की व्यवस्था की गई है,जिसके चलते आन लाइन पंजीकरण नहीं करा पाए, ऐसे इच्छुक प्रतिभागी अपना आफ लाइन पंजीकरण करा सकेंगे। लोगों की मांग पर शहर में कई सावर्जनिक स्थानों पर बूथ लगाकर आनॅलाइन पंजीकरण की सुविधा मुहैया करवाई। इन बूथों पर काफी संख्या में लोगों ने पंजीकरण करवाया।
================================

हरियाणा के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री श्री ओम प्रकाश यादव ने यमुनानगर जिले के कस्बा सरस्वती नगर में गुरु तेग बहादुर गुरुद्वारा गोबिन्दपुरा चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा एक जरूरतमंद दिव्यांग महिला के लिए बनाए जाने वाले मकान का शिलान्यास किया।

चण्डीगढ़, 9 जनवरी- हरियाणा के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री श्री ओम प्रकाश यादव ने यमुनानगर जिले के कस्बा सरस्वती नगर में गुरु तेग बहादुर गुरुद्वारा गोबिन्दपुरा चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा एक जरूरतमंद दिव्यांग महिला के लिए बनाए जाने वाले मकान का शिलान्यास किया। इससे पहले उन्होंने सरस्वती नगर में बनाए गए लोकमाता अहिल्याबाई होल्कर पार्क का उदघाटन किया।

श्री ओम प्रकाश यादव ने कहा कि दूसरों की सेवा करने से बड़ा कोई धर्म नही है। गुरु तेग बहादुर गुरूद्वारा गोबिन्दपुरा चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा गरीब परिवारों को छत मुहैया करवाने की जो मुहिम चलाई गई है वो काबिले तारिफ है। जरूरतमंद व्यक्ति के लिए यह एक सहरानीय कार्य है। पंक्ति में खडे अन्तिम व्यक्ति को इस प्रकार के सामाजिक कार्यो का लाभ मिलना चाहिए।
उन्होंने कहा कि पैसे से कोई बड़ा नही होता बल्कि बड़ा वह होता है जो समाज के दबे-कुचले लोगों की सेवा करता है वह भगवान की सेवा से कम नही है। उन्होंने कहा कि भक्ति में ही शक्ति है और बाबा जसदीप सिह ने जो गरीब समाज उत्थान का बीड़ा उठाया है वह सरहानीय है। हम सभी का कर्तव्य बनता है कि हम समय-समय पर लोगों की सेवा करें और जन कल्याण की मुहिम के भागीदार बने।

इस अवसर पर गुरु तेग बहादुर गुरूद्वारा गोबिन्दपुरा चैरिटेबल ट्रस्ट के संचालक बाबा जसदीप सिंह ने समारोह में गुरु कृपा घर योजना के बारें में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि इस योजना के तहत जरूरतमंद परिवार को अच्छा मकान बना कर दिया जाता है, जमीन स्वयं मालिक को देनी होती है इस योजना से एक गरीब परिवार भी समाज की मुख्यधारा में आ सकता है। इससे पहले भी चार मकान बनाए जा चुके है। उन्होंने निर्णय लिया है कि वह क्षमता के अनुसार अधिक से अधिक जरूरतमंदों के लिए मकान बनाएगें ताकि वह परिवार स्वावलम्बी बन सके, और सभी कार्य आपसी सहयोग के द्वारा सम्भव हो रहा है।

==========================================
हरियाणा के सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल ने आज हरियाणा डेयरी विकास सहकारी प्रसंघ लि. के अधिकारियों को निर्देश दिए

चण्डीगढ़, 9 जनवरी- हरियाणा के सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल ने आज हरियाणा डेयरी विकास सहकारी प्रसंघ लि. के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे दक्षिण हरियाणा, विशेषकर अहीरवाल क्षेत्र में एक नया मिल्क प्लांट स्थापित करने की संभावनाओं को तलाशें ताकि उस क्षेत्र के दुग्ध उत्पादकों से दूध को मिल्क प्लांट में लिया जा सके। इसके अलावा, उन्होंने बताया कि राज्य के तीन मिल्क प्लांटों नामत: बल्लभगढ़, जींद और रोहतक ने राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड द्वारा निर्धारित मानकों को पूरा कर लिया गया है और इन्हें ‘क्वालिटी मार्क’ दिया गया है। वहीं, उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि वे दूग्ध खरीद व प्रसंस्करण को अधिक से अधिक करने के लिए भी विभिन्न योजनाओं व नीतियां तैयार करें ताकि दूध खरीद व प्रसंस्करण को अधिक से अधिक किया जा सके।

सहकारिता मंत्री आज यहां हरियाणा डेयरी विकास सहकारी प्रसंघ लि. के अधिकारियों की एक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। इस मौके पर सहकारिता विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल भी उपस्थित थे।

बैठक के दौरान सहकारिता विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे दुध उत्पादकों को उसी समय डीबीटी के माध्यम से भुगतान करने हेतु ऑनलाईन तंत्र तैयार करें। इसी प्रकार, उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे दक्षिण हरियाणा में एक ओर मिल्क प्लांट लगाने लिए व्यवार्हता तलाशें ताकि दूध उत्पादकों का दूध मिल्क प्लांट में लिया जा सके।

बैठक के दौरान यह भी बताया गया कि प्रसंघ की मुख्य गतिविधियों में दुग्ध खरीद, दुग्ध का प्रसंस्करण और दुग्ध उत्पादों का निर्माण तथा दुग्ध व उत्पादों का विपणन का कार्य शामिल है। बैठक में यह भी बताया गया कि वर्तमान वित्त वर्ष में दिसंबर- 2019 तक प्रतिदिन दुग्ध एकत्रित करने का औसत लगभग 3 लाख 73 हजार लीटर का रहा है, जिनमें से अंबाला दूध उत्पादन यूनियन का 57.37 हजार लीटर, रोहतक यूनियन का 72.12 हजार लीटर, बल्ल्भगढ यूनियन का 55.94 हजार लीटर, जींद यूनियन का 95.5 हजार लीटर, कुरूक्षेत्र यूनियन का 34.85 हजार लीटर और सिरसा यूनियन का 57.52 हजार लीटर है। बैठक में बताया गया कि वर्तमान साल में दिसंबर- 2019 तक लगभग 3138 मिल्क उत्पादक सहकारी सोसाटियां कार्य कर रही हैं और दुग्ध देने वाले लोगों को औसत फैट 5.60 प्रतिशत के साथ 38.65 रूपए प्रति किलोग्राम दिया जा रहा है।

बैठक में बताया गया कि हरियाणा में 6 मिल्क प्लांट संचालित हैं जिनमें विभिन्न दुध के उत्पादों को तैयार किया जा रहा है। मंत्री को अवगत कराया गया कि जींद के मिल्क प्लांट की क्षमता 1.50 एलएलपीडी है जबकि अंबाला के प्लांट की क्षमता 1.40 एलएलपीडी, रोहतक के मिल्क प्लांट की क्षमता 4 एलएलपीडी, बल्लभगढ प्लांट की क्षमता 1.25 एलएलपीडी, सिरसा के मिल्क प्लांट की क्षमता 1.10 एलएलपीडी और कुरूक्षेत्र के मिल्क प्लांट की क्षमता 0.20 एलएलपीडी तक हैं। बैठक में बताया गया कि कुरूक्षेत्र के मिल्क प्लांट में ए2 देसी गाय के दूध की प्रोससिंग की जाती है। इसी प्रकार, वर्तमान वित्त वर्ष मेें दिसंबर- 2019 तक प्रसंघ द्वारा औसतन 342.76 हजार लीटर प्रतिदिन दूध की बिक्री की है। बैठक में बताया गया कि वीटा के दूध उत्पादों की बिक्री में घी, लस्सी और दही अधिकतर शामिल है।

बैठक में मंत्री को यह भी अवगत कराया गया कि मुख्यमंत्री दुग्ध प्रोत्साहन योजना के तहत अप्रैल से सितंबर तक हरियाणा में सहकारी दुग्ध उत्पादकों को दूध में फैट और गुणवत्ता के अनुसार 4 रुपए और 5 रुपए प्रति लीटर के अनुसार सब्सिडी भी मुहैया करवाई जा रही है और वर्ष 2019-20 के दौरान अब तक लगभग 23.15 करोड़ रुपए की सब्सिडी सहकारी दुग्ध उत्पादकों को दी गई है। इसी प्रकार, सहकारी दुग्ध उत्पादकों को प्रति व्यक्ति 5 लाख रुपए तक का दुर्घटना बीमा दिया जाता है और ऐेसे लाभार्थियों को ग्रुप पर्सनल एक्सीडेंटल इन्श्योरेंस कवर में कवर किया जाता है तथा नंबर- 2019 तक 37 किसानों को क्लेम दिलवाए जा चुके हैं। इसी प्रकार, दुग्ध देने वाले लोगों के बच्चों को बोर्ड की परीक्षा में 80 प्रतिशत या इससे अधिक अंक लाने के लिए( दसंवी के लिए 2100 रुपए व बारहवीं के लिए 5100 रुपए) छात्रवृति दी जाती है, इस योजना के तहत नवंबर- 2019 तक प्रसंघ द्वारा 112.18 लाख रुपए की राशि वितरित की जा चुकी है। इसी प्रकार, दुग्ध उत्पादकों की लडकी की शादी के लिए भी कन्यादान योजना के तहत 1100 रुपए राशि मुहैया करवाई जाती है, जिसके तहत नंवबर-2019 तक 22.62 लाख रुपए की राशि वितरित की जा चुकी है। बैठक में बताया गया कि इसी प्रकार, मंत्री को राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, डेयरी इन्फ्रांस्ट्रक्चर एवं विकास फण्ड इत्यादि योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी गई ।

बैठक के दौरान सहकारिता मंत्री को बताया गया कि डेयरी प्रसंघ राज्य में दुग्ध उत्पादकों से दुग्ध लेकर उसका प्रसंस्करण करके दुग्ध उत्पादों को तैयार करता है और उनका विपणन करता है। इसके अलावा, यह प्रसंघ राज्य में डेयरी उद्योग को बढाने के लिए भी प्रेरित करने का काम करता है। बैठक में यह भी बताया गया कि हरियाणा में डेयरी सहकारिता का तीन स्तरों पर कार्य किया जा रहा है जिसमें ग्राम स्तर पर सोसाटियों के माध्यम, जिला स्तर पर मिल्क उत्पादक सहकारी यूनियन और राज्य स्तर पर स्टेट डेयरी फेडरेशन के माध्यम से किया जा रहा है।

बैठक में हरियाणा डेयरी विकास सहकारी प्रसंघ लि. के प्रबंध निदेशक मोहम्मद शाईन और हरियाणा डेयरी विकास सहकारी प्रसंघ लि. के सीएओ रोहित यादव भी उपस्थित थे।

===================================

हरियाणा के सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल ने आज हरियाणा राज्य सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (एचएससीएआरडीबी) के अधिकारियों को निर्देश दिए

चण्डीगढ़, 9 जनवरी- हरियाणा के सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल ने आज हरियाणा राज्य सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (एचएससीएआरडीबी) के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे विभिन्न ऋण बकायादारों, जो किसी भी तरह से अपना बकाया जमा नहीं करवा रहे हैं, से रिकवरी हेतु एक नया प्रस्ताव/स्कीम तैयार करें ताकि ऐसे ऋण बकायादारों से बकाया राशि वसूली जा सकें।

सहकारिता मंत्री आज यहां हरियाणा राज्य सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (एचएससीएआरडीबी) के अधिकारियों की एक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। इस मौके पर सहकारिता विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल भी उपस्थित थे।

बैठक के दौरान बैंक के अधिकारियों ने मंत्री को अवगत कराया कि एकमुश्त ऋण अदायगी योजना (वन टाइम सेटलमेंट स्कीम) के अंतर्गत कुछ बड़े ऋण बकायादारों ने योजना का लाभ उठाते हुए अपना बकाया बैंक में जमा करवा दिया है, जोकि सराहनयी है। बैठक में बताया गया कि बैंक के गठन के बाद से बैंक द्वारा नवंबर- 2019 तक 1172105 लाभार्थियों को लोंग टर्म क्रेडिट 7027.81 करोड़ रुपए मुहैया करवाया गया है। बैठक में अधिकारियों ने बताया कि बैंक का कम्प्यूटरीकरण किया जा रहा है और अब तक 80 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है

बैठक में सहकारिता मंत्री को अवगत कराया गया कि बैंक द्वारा एकमुश्त ऋण अदायगी योजना (वन टाइम सेटलमेंट स्कीम) के अंतर्गत 4 जनवरी, 2020 तक लगभग 245 करोड़ रुपए की कुल रिकवरी कर ली गई है, जिसमें से 173.15 करोड रुपए की कैश रिसिवड हैं। बैंके अधिकारियों ने मंत्री को आश्वासन देते हुए बताया कि आगामी 31 मार्च, 2020 तक लगभग 475 करोड़ रुपए की रिकवरी कर ली जाएगी।

बैठक में अधिकारियों ने मंत्री को बताया कि बैंक के कुल ऋण बकायादार सदस्यों की संख्या 92258 और इन पर 1577.75 करोड़ रुपए का बकाया हैं। बैठक में बैंक से संबंधित स्टाफ के बारे में भी विचार-विमर्श किया गया, जिस पर सहकारिता विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल ने बैंक के अधिकारियों को विभिन्न निर्देश दिए।