चंडीगढ़, 14 अप्रैल:चण्डीगढ़ नगर निगम द्वारा आज फायर स्टेशन, सैक्टर 17 में एक समारोह का आयोजन करके फायर सर्विसिज़ डे मनाया गया। ‘‘लर्न फायर सेफ्टी, इनकरीस प्रोडक्टिविटी’’ विषय अधीन 14 से 20 अप्रैल, 2022 तक फायर सर्विस सप्ताह मनाया जाएगा।
मेयर, चण्डीगढ़ श्रीमती सरबजीत कौर, कमिश्नर श्रीमती अनिन्दिता मित्रा आई.ए.एस और अन्यों ने सैक्टर 17 स्थित फायर स्टेशन में शहीदी स्तंभ पर फूल मालाएं अर्पित कीं और फायर ब्रिगेड के जवानों को श्रद्धांजलि दी। देश के उन सभी फायरमैनों की याद में दो मिनट का मौन भी रखा गया, जिन्होंने ड्यूटी के दौरान अपनी जान गवायी।
अपने भाषण में मेयर ने संकट के दौरान फायर कर्मियों की बहादुरी की सराहना की। उन्होंने पिछले समय में आग लगने की बड़ी घटनाओं के दौरान आग बुझाओ विभाग के काम की सराहना की। उन्होंने फायरमैनों की अपनी ड्यूटी के दौरान निभाई गई शानदार सेवाओं के लिए सराहना की।
उन्होंने देश में मानवता की रक्षा के लिए अपनी जान कुर्बान करने वाले शहीद हुए फायर कर्मियों को याद किया, जिनमें श्री रबिन्दर मिश्रा, लिडिंग फ़ायरमैन, बिहार फायर सर्विस और श्री बालू दामू देशमुख, फ़ायरमैन रैसक्यूअर, महाराष्ट्र फायर सर्विस समेत अन्य शामिल हैं।
उन्होंने कहा कि शहर के स्कूलों में फायर सेफ्टी सम्बन्धी विशेष मुहिम चलाई जाएगी और स्कूलों में फायर सेफ्टी ड्रिल्ल करवा कर फायर सेफ्टी सम्बन्धी जागरूकता गतिविधियों पर और ज़ोर दिया जाएगा। आग सुरक्षा अभ्यासों में निकासी अभ्यास, प्राकृतिक और मानव द्वारा पैदा हुई आपदा के मामलों में फायर सेफ्टी ऑर्डर लागू करना, आग बुझाने वाले यंत्र का प्रयोग कैसे करना है आदि जैसी प्रमुख विशेषताओं को शामिल किया जाएगा।
मेयर ने चण्डीगढ़ के समूह नागरिकों को 14 से 20 अप्रैल, 2022 तक शहर के विभिन्न हिस्सों में करवाए जाने वाले फायर सेफ्टी जागरूकता प्रोग्राम के दौरान सहयोग करने की अपील की। उन्होंने कहा कि हरेक नागरिक को आग बुझाने वाले यंत्रों के बारे में जानकारी होनी चाहिए। उन्होंने शहर निवासियों को अपने घरों और काम वाले स्थानों पर सुरक्षित हाऊसकीपिंग और स्वीकृत बिजली उपकरणों को अपनाने की अपील भी की।
फायरमैनों को संबोधित करते हुए कमिश्नर श्रीमती अनिन्दिता मित्रा ने कहा कि आग लगने की घटनाओं के दौरान फायरमैनों द्वारा निभाए जा रहे कर्तव्यों को पहचानने और फायर सेफ्टी उपायों सम्बन्धी लोगों को जागरूक करने के लिए ऐसे समारोह करवाना बहुत महत्वपूर्ण है।
उन्होंने कहा कि हमें एक सप्ताह के जागरूकता समारोह तक सीमित नहीं रहना चाहिए, बल्कि जागरूकता पैदा करने और मोक ड्रिल प्रोग्रामों के लिए सारा साल नियमित अभ्यास करना चाहिए। उन्होंने सम्बन्धित स्टाफ को हिदायत की कि रख-रखाव के उद्देश्य के लिए साल भर ज़रूरी वस्तुओं की उचित वस्तु सूची तैयार की जाए और प्रक्रिया में देरी से बचने के लिए सक्षम अथॉरिटी से इसको एक बार मंजूरी दी जाए।
मेयर और कमिश्नर ने आज भारत रत्न बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर को उनके जन्म दिवस पर भारत का संविधान तैयार करने में दिए गए शानदार योगदान के लिए श्रद्धांजलि अर्पित की।
मेयर और कमिश्नर ने लैडर ड्रिल और हौज़ ड्रिल की अलग-अलग टीमों को सर्टिफिकेट और यादगारी चिह्न भी बाँटे।
लैडर ड्रिल (फायर स्टेशन, सैक्टर 11) में पहला स्थान: श्री भुपिन्दर सिंह, लिडिंग फ़ायरमैन (कमांडर), श्री हरजिन्दर सिंह, लिडिंग फ़ायरमैन (ड्रिल मैंबर), श्री अनुज कुमार, फ़ायरमैन (ड्रिल मैंबर), श्री मुकेश कुमार, फ़ायरमैन (ड्रिल मैंबर) और श्री दिनेश कुमार, चालक (ड्रिल मैंबर)
लैडर ड्रिल (फायर स्टेशन, इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1) में दूसरा स्थान: श्री गुरशरनजीत सिंह, लिडिंग फ़ायरमैन (कमांडर), श्री संजीव कुमार शर्मा, लिडिंग फ़ायरमैन (ड्रिल मैंबर), श्री रवि दत्त, लिडिंग फ़ायरमैन (ड्रिल मैंबर), श्री सुनील रोहीला, लिडिंग फ़ायरमैन (ड्रिल मैंबर) और श्री पवन कुमार, फ़ायरमैन (ड्रिल मैंबर)
लैडर ड्रिल्ल (फायर स्टेशन, मनीमाजरा) में तीसरा स्थान: श्री सुनील राठी, लिडिंग फ़ायरमैन (कमांडर), श्री प्रशांत कुमार, लिडिंग फायरमैन (ड्रिल मैंबर), श्री अनिल कुमार, लिडिंग फ़ायरमैन (ड्रिल मैंबर), श्री अजय कुमार, फ़ायरमैन (ड्रिल मैंबर) और श्री प्रवीण कुमार, फ़ायरमैन (ड्रिल मैंबर)।
हौज़ ड्रिल व्यक्तिगत पहला स्थान: श्री सुखदीप सिंह (फ़ायरमैन, आउटसोर्स, फायर स्टेशन, सैक्टर 38), दूसरा स्थान श्री जितेंद्र (फ़ायरमैन, फायर स्टेशन सैक्टर 17) और तीसरा स्थान श्री दविन्दर सिंह (फ़ायरमैन, डी.एल.एफ.)
इसके अलावा फायरमैनों द्वारा निभाई गईं ड्यूटियों के लिए प्रशंसा पत्र भी दिए गए, जोकि कभी-कभी चरित्र में रुकावटों और या तो आग बुझाने और बचाव कार्यों के दौरान बहुत मेहनती होने के लिए सी. विजय कुमार (लिडिंग फायरमैन), श्री सुनील कुमार (लिडिंग फ़ायरमैन), स. मँगे राम (फ़ायरमैन), श्री जगतार सिंह (फ़ायरमैन आउटसोर्स), स. गुलशन कुमार (सब फायर अफ़सर), स. गुरशरनजीत सिंह (लिडिंग फ़ायरमैन), स. गोविन्द सिंह (लिडिंग फ़ायरमैन), स. सुखविन्दर सिंह (लिडिंग फ़ायरमैन), स. संजीव कुमार (लिडिंग फ़ायरमैन), स. छिन्दर पाल (लिडिंग फ़ायरमैन), स. कमलेशवर (फायरमैन), श. मुकेश कुमार (फ़ायरमैन), स. सुखविन्दर सिंह (फ़ायरमैन आउटसोर्स), स. शक्ति सिंह (चालक), स. मलकीत सिंह (चालक आउटसोर्स), स. प्रशांत कुमार (लिडिंग फ़ायरमैन), श्री प्रवीण कुमार (फायरमैन), स. अमनिन्दर सिंह (फ़ायरमैन आउटसोर्स), स. जगदीप सिंह (फ़ायरमैन आउटसोर्स), स. प्रेम सिंह (चालक), स. जसविन्दर धीमान (फ़ायरमैन आउटसोर्स), श्री दविन्दर सिंह (फ़ायरमैन आउटसोर्स), स. अजय कुमार (फ़ायरमैन आउटसोर्स), श्री तरनप्रीत सिंह (फ़ायरमैन आउटसोर्स) और श्रीमती. कुलबीर कौर (डब्ल्यू.आर.डी.ओ.)
फायर सर्विसिज़ डे 1944 से पूरे देश में मनाया जाता है, जिस साल मुम्बई में एक बड़ी आग लगने की घटना में 66 फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों समेत 500 से अधिक व्यक्तियों की मौत हो गई थी। फायर ब्रिगेड अधिकारियों ने बताया कि 1944 में मुम्बई के डाकयार्ड में हथियारों और गोला बारूद की एक बड़ी खेप को आग लग गई थी। हथियार और गोला बारूद अंग्रेज़ों, जिनका उस समय भारत पर राज था, द्वारा जापान के विरुद्ध इस्तेमाल किया जाना था। आग में 500 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी। इस घटना के दौरान फायर ब्रिगेड के 66 कर्मचारी, जिन्होंने बहादुरी से आग पर काबू पाया, ने भी अपनी जान गवाई। तब से 14 अप्रैल को फायर सर्विसिज़ डे के रूप में मनाया जाता है।
समारोह में उपस्थित शख्सियतों में सीनियर डिप्टी मेयर श्री दलीप शर्मा, डिप्टी मेयर श्री अनूप गुप्ता, काऊंसलर और नगर निगम चण्डीगढ़ के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
----------------