केन्द्रीय व्यय पर्यवेक्षक विमल कुमार मीणा ने जांचे प्रत्याशियों के व्यय लेखा संबंधी रजिस्टर
मंडी, 16 अक्तूबर । मंडी लोकसभा उपचुनाव में चुनावी व्यय की निगरानी एवं निरीक्षण के लिए निर्वाचन आयोग द्वारा नियुक्त केन्द्रीय व्यय पर्यवेक्षक आईआरएस अधिकारी विमल कुमार मीणा ने शनिवार को उपायुक्त कार्यालय सभागार में मंडी संसदीय क्षेत्र के प्रत्याशियों के व्यय लेखा संबंधी रजिस्टर की जांच एवं शैडो रजिस्टर से मिलान किया। इस मौके 6 उम्मीदवारों में से 2 उम्मीदवार स्वयं मौजूद रहे जबकि 3 उम्मीदवारों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। इसलिए प्रािम निरीक्षण में 5 उम्मीदवारों के चुनावी व्यय दस्तावेजों का निरीक्षण किया गया। वहीं आजाद उम्मीदवार अनिल कुमार अथवा उनके प्रतिनिधि इस मौके उपस्थित नहीं हुए, जिस कारण उनके लेखा संबंधी रजिस्टर की जांच नहीं की जा सकी। इसे लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी को सूचित किया गया है।
केंद्रीय व्यय पर्यवेक्षक विमल कुमार मीणा के साथ मंडी संसदीय क्षेत्र के सभी 17 विधानसभा क्षेत्रों के सहायक व्यय पर्यवेक्षक भी मौजूद रहे।
प्रविष्टियों में विसंगतियां से कराया अवगत
विमल कुमार मीणा ने बताया कि व्यय रजिस्टरों के प्रथम निरीक्षण में उम्मीदवारों के व्यय रजिस्टरों की जांच की गई। कैश और बैंक विवरण जांचे गए। प्रत्याशियों के खर्च रजिस्टर का निरीक्षण तथा शैडो रजिस्टर से मिलान किया गया। रजिस्टरों में प्रविष्टियों में जो विसंगतियां पाई गई हैं, उम्मीदवारों को उनसे अवगत करा दिया गया है। साथ ही इन्हें लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी को भी सूचित किया गया है, ताकि वे इसे लेकर नोटिस जारी करने से जुड़ी कार्रवाई अमल में ला सकें।
चुनावी खर्चे को व्यय रजिस्टर में सही तरीके से लिखें
केंद्रीय व्यय पर्यवेक्षक ने इस दौरान उम्मीदवारों एवं उनके प्रतिनिधियों को चुनावी व्यय को लेकर निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने सभी उम्मीदवारों, उनके प्रतिनिधियों को चुनाव प्रचार-प्रसार व अन्य चुनावी गतिविधियों के संबंध में हुए खर्च के ब्योरे को रजिस्टर में सही तरीके से दर्ज करने के निर्देश दिए और व्यय रजिस्टर को अद्यतन रखने को कहा। उन्होंने कहा कि चुनावी प्रचार में हेलीकॉप्टर के प्रयोग संबंधी शुल्क, रैलियों व अन्य सभी चुनावी प्रचार गतिविधियों के खर्च का उचित विवरण अपने व्यय रजिस्टर में लिखें।
विमल कुमार मीणा ने बताया कि 16 को संपन्न पहले निरीक्षण के उपरांत अब 21 और 28 अक्तूबर को उम्मीदवारों के व्यय रजिस्टरों का निरीक्षण किया जाएगा।