कौशल विकास निगम द्वारा संचालित कार्यक्रमों को लेकर समीक्षा बैठक आयोजित
धर्मशाला 14 सितम्बर: ज़िला कौशल समिति की त्रैमासिक बैठक उपायुक्त, डॉ. निपुण जिन्दल की अध्यक्षता में आयोजित की गई। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में रोजगार की अपार सम्भावनाएं हैं, उन्हीं क्षेत्रों में कौशल प्रशिक्षण करवाए जाएं। इसके लिए उद्योग विभाग के सहयोग से रोजगार की सम्भावनाओं वाले प्रशिक्षण कार्यक्रमों की तलाश की जाए।
उपायुक्त ने सम्बन्धित विभाग को निर्देश दिए कि युवाओं के साथ प्रशिक्षण के नाम पर किसी भी प्रकार के प्रलोभन को बर्दाशत नहीं किया जाएगा। ज़िला के सभी प्रशिक्षण केन्द्रों का निरीक्षण जिला कौशल समिति के सदस्य समय-समय पर करेंगे तथा किसी प्रकार की कोताही बर्दाशत नहीं की जाएगी।
जिला स्वास्थ्य अधिकारी की ओर से जिला में कोरोन योद्वाओं के लिए विशेष रूप से चलाए जा रहे प्रशिक्षण में जिला स्वास्थ्य विभाग की ओर से ऑन जॉब ट्रेनिंग का प्रावधान किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिला में शीघ्र ही योगा प्रशिक्षण कार्यक्रम आरम्भ करने के प्रयास किए जायेंगे।
हिमाचल प्रदेश कौशल विकास निगम की ओर से चलाए जा रहे विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रमों के बारे में निगम के जिला अधिकारी सुधीर भाटिया द्वारा जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि जिला कौशल समिति का यह प्रयास रहेगा कि जिला के युवाअें को उपयुक्त रोजगार एवं स्वरोजगार के अवसर प्राप्त हो सकें।
इस बैठक में उद्योग विभाग के महा प्रबन्धक राजेश शर्मा, उपनिदेशक शिक्षा रेखा कपूर, क्षेत्रीय रोजगार अधिकारी शम्मी शर्मा, पंजाब नैशनल बैंक के प्रशिक्षण कार्यक्रम अधिकारी महिन्द्र शर्मा सहित विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष उपस्थित रहे।

==================================

मेडिकल कालेज टांडा का 68 करोड़ का अनुमानित बजट पारित

रोगियों को मिलेंगी बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं: डा राजीव सैजल
धर्मशाला, 14 सितंबर। डा राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज टांडा में स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए रोगी कल्याण समिति के तहत चालू वित वर्ष के लिए 68 करोड़ का अनुमानित बजट पारित किया गया।
यह जानकारी स्वास्थ्य मंत्री डा राजीव सैजल ने मंगलवार को डा राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज की रोगी कल्याण समिति की वार्षिक बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी। उन्होंने बताया कि रोगी कल्याण समिति के तहत दस करोड़ दवाइयोें के लिए, पांच करोड़ सर्जिकल किट्स, एक करोड़ के करीब बिल्ंिडग इत्यादि की मरम्मत, डेढ़ करोड़ के करीब बेडिंग क्लोथिंग तथा पचास लाख के करीब मशीनरी के लिए प्रावधान किया गया है।
डा राजीव सैजल ने कहा कि डा राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज में अब अत्याधुनिक टेस्ट की सुविधा भी प्रदान की जाएगी इसके साथ ही सिटी स्कैन तथा एमआरआई उपकरणों की मरम्मत के लिए भी आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि टांडा मेडिकल कालेज में रिक्त पदों को भी चरणबद्व तरीके से भरा जाएगा ताकि रोगियों को किसी भी तरह की असुविधा का सामना नहीं करना पड़े। उन्होंने कहा कि टांडा मेडिकल कालेज में स्वच्छता का भी विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए गए हैं।
डा राजीव सैजल ने कहा कि डा राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज में स्वास्थ्य की बेहतरीन सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए कारगर कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोविड प्रोटोकॉल का भी पूरा ध्यान रखने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि टांडा मेडिकल कालेज में कोविड संक्रमित के उपचार की उचित व्यवस्था की गई है इसके साथ ही आवश्यक उपकरण भी उपलब्ध करवाए गए हैं। उन्होंने कहा कि टांडा मेडिकल कालेज में वेंटिलेटर सहित आक्सीजन सहित बेड्स भी पर्याप्त संख्या में उपलब्ध हैं।
इससे पहले टांडा मेडिकल कालेज के प्रिंसिपल डा भानु अवश्थी ने मुख्यातिथि का स्वागत करते हुए मेडिकल कालेज की रोगी कल्याण समिति की गत वर्ष की उपलब्धियों के बारे में जानकारी दी तथा वर्तमान वर्ष के अनुमानित बजट के बारे में विस्तार से रिपोर्ट प्रस्तुत की।
इस अवसर पर विधायक अरूण कुमार, स्वास्थ्य सचिव डा अमिताभ अवश्थी सहित रोगी कल्याण समिति के सदस्य मौजूद थे।