स्वस्थ जीवन के लिए संतुलित आहार जरूरी: डीसी

ईट राइट मेले में विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को नवाजा


धर्मशाला, 13 मई। उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि स्वस्थ जीवन के लिए संतुलित आहार जरूरी है। इस के लिए आम जनमानस को जागरूक करना भी जरूरी है। यह उद्गार उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा धर्मशाला के पुलिस ग्राउंड में आयोजित ईट राइट मेले के समापन अवसर पर बतौर मुख्यातिथि व्यक्त किए।

उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि वर्तमान में बच्चों में कुपोषण की समस्या बढ़ रही है इस तरफ आवश्यक ध्यान आवश्यक है। सरकार द्वारा भी बच्चों को कुपोषण से बचाने के लिए विभिन्न कार्यक्रम आरंभ किए गए हैं इसके साथ ही अभिभावकों को भी पौषाहार को लेकर जागरूक होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि ईट राइट मेला की अवधि भी बढ़ाई जाए ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक स्वस्थ जीवन के लिए प्रेरित किया जा सके।

इस अवसर पर सिंथेटिक ट्रैक में प्रातः सात बजे वॉकेथोन का आयोजन किया गया। इसके अलावा स्लो साइकिलिंग रेस भी आयोजित की गई। लड़कों की वॉकेथोन प्रतियोगिता में 14 से 16 आयुवर्ग में सागर ने प्रथम, नितिन ने दूसरा और मोनित थापा ने तीसरा स्थान प्राप्त किया और 16 से 18 आयुवर्ग में रूपेश प्रथम, सौरभ दूसरे और सोहम तृतीय स्थान पर रहा। लड़कियों की 14 से 16 आयुवर्ग प्रतियोगिता में मानवी चौहान ने प्रथम, कशिश ने दूसरा और अंकिता ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। शिक्षा विभाग के यशपाल ने प्रथम, नवनीत ने दूसरा और मनजीत ने तीसरा स्थान हासिल किया।

मेले में प्रदर्शनी, सांस्कृतिक कार्यक्रम, शैफ प्रतियोगिता, तम्बोला और महिलाओं के लिए रस्साकशी प्रतियोगिताओं का आयोजन भी किया गया। इसके अतिरिक्त स्थानीय लोक नृत्य की प्रस्तुतियां भी की गईं। मेले में दो बजे फूड साईंस क्विज, फूड एक्सपर्ट टाक का आयोजन भी किया गया। फूड साईंस क्विज में धर्मशाला के विभिन्न स्कूलों के छात्रों की टीमों ने भाग लिया।

इसी प्रकार शैफ प्रतियोगिता में राजा बेकरी की अर्पणा ने प्रथम, त्रियुंड हाईटस के गोपाल ने दूसरा और स्प्रिंग वैली के अवनेश कुमार ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। फूड साईंज क्विज प्रतियोगिता में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला धर्मशाला की प्रथम टीम-डी की निमिशा व श्रेया ने प्रथम, राजकीय उच्च विद्यालय कोतवाली की टीम-ए की पूजा साहु और नितिन ने दूसरा और राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला खनियारा खास की टीम-सी के आदित्य और प्रियांश ने तीसरा स्थान हासिल किया। महिलाओं की रस्साकशी प्रतियोगिता में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता विजेता रहीं। स्लो साइकलिंग प्रतियोगिता में केतन शर्मा ने प्रथम और सौम्या ने दूसरा और वरूण मौंगरा ने तीसरा स्थान हासिल किया।

=============================

भारतीय डाक विभाग सुकन्या समृधि योजना से कर रहा बेटियों का भविष्य उज्जवल -- अधीक्षक डाकघर
धर्मशाला - भारत सरकार द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढाओ अभियान के अंतर्गत वर्ष 2015 से बेटियों के उज्जवल भविष्य के लिए सुकन्या समृधि योजना की शुरुआत की गयी है प् प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आरम्भ की गयी इस योजना का मुख्य लक्ष्य बेटियों के अभिवावकों को बेटियों के उज्जवल व सुरक्षित भविष्य के लिए उच्चतर व्याज दर के साथ.साथ एक लोकप्रिय निवेश विकल्प उपलव्ध करवाना है प्
सुरेन्द्र पाल शर्मा ए अधीक्षक डाकघर धर्मशाला द्वारा सुकन्या समृधि योजना के बारे में अधिक जानकारी देते हुए बताया गया कि इस योजना के माध्यम से लाभार्थी द्वारा निवेश करके एकमुश्त राशि बेटी की शिक्षा या फिर शादी के लिए प्राप्त की जा सकती है । इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए बेटी की 10 वर्ष की आयु होने से पहले अकाउंट खुलवाना होगा । इस अकाउंट में निवेश की न्यूनतम सीमा 250 रुपए है तथा अधिकतम सीमा 1.5 लाख रुपए हैं। यह निवेश बेटी की उच्च शिक्षा या फिर शादी के लिए किया जा सकता है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा निवेश पर वर्तमान में 7ण्6ः की दर से ब्याज प्रदान किया जा रहा है । इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत निवेश करने पर टैक्स में छूट भी प्रदान की जाती है । इस योजना को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्कीम के अंतर्गत लांच किया गया है। इस योजना के अंतर्गत अकाउंट किसी भी डाकघर की शाखा में खुलवाया जा सकता है। सुकन्या समृद्धि खाते का संचालन बेटी की आयु 21 वर्ष की होने या फिर 18 वर्ष की आयु के बाद शादी होने तक किया जा सकता है। बेटी की उच्च शिक्षा के लिए 18 वर्ष की आयु के बाद 50 % की रकम की निकासी की जा सकती है । इस योजना में डाकघर द्वारा डिजिटल माध्यम से रकम जमा करवाने की भी सुविधा दी जा रही है प्
सुरेन्द्र पाल शर्मा द्वारा बताया गया कि इस योजना के आरम्भ से अब तक धर्मशाला डाक मण्डल में लगभग 49876 खाते खोले जा चुके है प् धर्मशाला डाक मण्डल में चालू माह ; मई.2022द्ध को सुकन्या समृधि माह के रूप में मनाया जा रहा है जिसका मुख्य लक्ष्य प्रत्येक डाकघर स्तर पर विशेष अभियान चला कर इस योजना से बंचित पात्र बालिकाओ के सुकन्या समृधि खाते खोल कर उन्हें इस हितकारी योजना से जोड़ना है प् इस योजना से जुड़ने के लिए बेटी के माता.पिता या फिर कानूनी अभिभावकों के द्वारा बेटी के जन्म से 10 साल का होने तक खाता खुलवाया जा सकता है। सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत एक बेटी के लिए केवल एक ही खाता खुलवाया जा सकता है तथा खाता खुलवा आते समय बेटी का जन्म प्रमाण पत्र पोस्ट ऑफिस में जमा करना होगा । इसी के साथ साथ अन्य महत्वपूर्ण दस्तावेज जैसे कि पहचान पत्र तथा पते का प्रमाण भी जमा करना होगा ।
योजना और प्रपत्रों के बारे में विस्तृत जानकारी ीजजचेरूध्ध्पदकपंचवेजण्हवअण्पद पर उपलब्ध है। इन योजनाओ की अधिक जानकारी के लिए अधीक्षक डाकघरए धर्मशाला कार्यालय के दूरभाष नंबर रू.01892.228170 पर भी संपर्क किया जा सकता है प्