चुवाड़ी, (चंबा) 21 जून -विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने कहा कि भटियात विधानसभा क्षेत्र के सभी गांव में जून 2027 से पहले पेयजल की समस्या का स्थाई समाधान सुनिश्चित बनाया जाएगा ।
वे आज चुवाड़ी के समीप लेधर मोड़ में जल शक्ति विभाग द्वारा 1 करोड़ 60 लाख की राशि से निर्मित होने वाले जल एवं स्वच्छता केंद्र -विश्राम गृह के शिलान्यास अवसर पर आयोजित जनसभा को सम्बोधित करते हुए बोल रहे थे।
कुलदीप सिंह पठानिया ने अपने संबोधन में कहा कि भटियात के सभी गांव में जून 2027 से पहले पेयजल की लगातार आपूर्ति को सुनिश्चित बनाया जाएगा।
जल शक्ति मंडल चुवाड़ी के तहत किए जा रहे विकास कार्यों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि जारी वित्त वर्ष के दौरान 113 करोड़ रूपयों की विभिन्न योजनाओं का कार्य प्रगति पर है। इसके अतिरिक्त अगले छ: माह की समय सीमा के दौरान 135 करोड़ रूपयों की नई योजनाओं को शुरू किया जाएगा।
साथ में उन्होंने यह भी कहा कि दीर्घकालिक योजनाओं के तहत अगले 1 से 2 वर्षों के भीतर भटियात विधानसभा क्षेत्र में जल शक्ति विभाग द्वारा विभिन्न योजनाओं के निर्माण पर 132 करोड़ रूपयों की राशि का आकलन किया गया है। इसके लिए कार्य योजना को भी तैयार कर लिया गया है।
विधानसभा अध्यक्ष ने क्षेत्र में पर्यटन विकास की अपार संभावनाओं के दृष्टिगत ढांचागत सुविधाओं के विकास की प्राथमिकता की बात करते हुए कहा कि चुवाड़ी हेलीपैड को
हेलीपोर्ट के रूप में स्तरोन्नत किया जा रहा है। इससे यह क्षेत्र पर्यटन के लिहाज से और विकसित होगा ।
कुलदीप सिंह पठानिया ने जल शक्ति विभाग के अधिकारियों को एक वर्ष की समयावधि के भीतर विश्राम गृह भवन के निर्माण कार्यों को पूर्ण करने के निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य पूर्ण होने से पर्यटकों सहित स्थानीय लोगों को विश्राम गृह की अतिरिक्त सुविधा मिलेगी।
विधानसभा अध्यक्ष का इससे पहले जलशक्ति विभाग के अधीक्षण अभियंता राजेश मोगरा ने यहाँ पहुंचने पर स्वागत करते हुए उन्हें शॉल-टोपी एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।
उन्होंने इस दौरान लोगों की समस्याओं का भी समाधान किया।
अध्यक्ष ब्लॉक कांग्रेस कमेटी विजय कंवर, महासचिव ज़िला कांग्रेस कमेटी राजीव कौशल, उपाध्यक्ष नगर पंचायत सुरेंद्र चाड़क, सदस्य निदेशक मंडल वन निगम कृष्ण चंद्, अधिशासी अभियंता जल शक्ति राकेश ठाकुर, विद्युत पंकज राठौर, खंड विकास अधिकारी मनीष कुमार, तहसीलदार सुमन धीमान, आईडीएफ परियोजना अधिकारी रामपाल साहित विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं स्थानीय गण मान्य लोग इस अवसर पर उपस्थित रहे।