धर्मशाला, 24 जनवरी। धर्मशाला के चैतड़ू में बन रहा सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क इस वर्ष के अंत तक तैयार हो जाएगा। 17 करोड़ की लागत के इस पार्क का निर्माण सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क ऑफ इंडिया द्वारा किया जा रहा है। मुख्यमंत्री के प्रधान सलाहकार (सूचना प्रौद्योगिकी एवं नवाचार) गोकुल बुटेल ने मंगलवार को चैतड़ू में सॉफ्टवेयर पार्क के निर्माण कार्य की प्रगति का जायजा लेने के उपरांत यह जानकारी दी। धर्मशाला के विधायक सुधीर शर्मा भी इस अवसर पर उपस्थित रहे।

निर्माण कार्य का निरीक्षण करते हुए गोकुल बुटेल ने बताया कि यह आईटी पार्क कुल 50 कनाल भूमि में बनकर तैयार होगा। जिसमें से सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क ऑफ इंडिया द्वारा 21 कनाल में काम शुरु कर दिया गया है, जिसे इस साल के अंत तक पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि आगे शेष 29 कनाल भूमि में इस आईटी पार्क का विस्तार किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि इस सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क में स्टार्टअप के लिए इंक्यूबेशन सेंटर की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि देश-विदेश से स्टार्ट-अप में रूचि रखने वाले युवाओं को अपने आईडिआस पर कार्य करने के लिए स्पेस यहां उपलब्ध करवाई जाएगी।
गोकुल बुटेल ने बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू का युवाओं को रोजगार उपलब्ध करवाने पर विशेष फोकस है। उन्होंने कहा कि आज के युग में सूचना प्रौद्योगिकी और नवाचार के माध्यम से रोजगार प्राप्त करने और सृजन करने के सबसे ज्यादा अवसर हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बनने वाले आईटी पार्क इस दिशा में सहायक सिद्ध होंगे। उन्होंने बताया कि सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क की तरफ आ रही अपरोच रोड़ और साथ लगती खड्ड से बचाव के लिए सुरक्षा दीवार बनाने के कार्य बहुत महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने अधिकारियों को इनके निर्माण से संबंधित औपचारिकताओं को जल्द पूरा करने के निर्देश दिए।
धर्मशाला के विधायक सुधीर शर्मा ने कहा कि प्रदेश को यह आईटी पार्क पिछली कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में मिला था। उन्होंने कहा कि पिछले पांच वर्षों में इसका निर्माण बड़ी धीमी गति से हुआ, लेकिन प्रदेश में दोबारा कांग्रेस सरकार आने से इसके निर्माण की स्पीड को बढ़ाया गया है और इस वर्ष के अंत तक यह सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क क्षेत्र को समर्पित कर दिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि इसके निर्माण से जहां क्षेत्र के युवाओं को बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर मिलेंगे। वहीं आस-पास की पंचायतों का भी विकास इससे होगा। उन्होंने कहा कि धर्मशाला के विकास के लिए उन्होंने पहले भी कोई कसर नहीं छोड़ी है और आगे भी इसके लिए हर संभव प्रयास उनके द्वारा किये जाएंगे। उन्होंने कहा कि यह आईटी पार्क धर्मशाला के विकास में अहम योगदान निभायेगा। उन्होंने अधिकारियों को सभी औपचारिकताओं को समय रहते पूरे करने के निर्देश देते हुए सॉफटवेयर टेक्नोलॉजी पार्क के निर्माण को तय समयावधि में करने को कहा।
इस अवसर पर अतिरिक्त निदेशक आईटी विभाग राजीव शर्मा, सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क ऑफ इंडिया के संयुक्त निदेशक सुनील अवस्थी, एसडीएम धर्मशाला शिल्पी बेक्टा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।