बहादुरगढ़, 1 दिसम्बर: इंडियन नेशनल लोकदल जल्द ही प्रदेश में पद यात्रा निकालने जा रही है, जिसकी रूपरेखा के लिए नौ सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है। यात्रा का उद्देश्य प्रदेश में व्याप्त बेरोजगारी, शिक्षा व किसानों से संबंधित समस्याओं को उठाना व पार्टी का और ज्यादा जनाधार बढ़ाना होगा। यह कहना है इनेलो के प्रधान महासचिव चौधरी अभय सिंह चौटाला का। इनेलो नेता बहादुरगढ़ में आयोजित राष्ट्रीय व राज्य कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक का मंच संचालन रामनिवास सैनी ने किया।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में जिस प्रकार से भाजपा द्वारा बेरोजगारों, किसानों व युवाओं के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है, उसे देखते हुए इनेलो ‘पद-यात्रा’ के माध्यम से प्रदेश की जनता की समस्याओं को उठाने व उनके समाधान के लिए आवाज बुलंद करने का काम करेगी। आज भाजपा द्वारा शिक्षा-नीति के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था और उसकी गुणवत्ता लगातार गिरती जा रही है। स्कूलों का समायोजन और शिक्षकों की कमी ने प्रदेश के बच्चों के भविष्य को अंधकारमय बना दिया है। सरकार ने अभी हाल में 105 सरकारी स्कूलों को समायोजन के नाम पर बंद कर दिया है। इसके अतिरिक्त एमबीबीएस और एमडी की पढ़ाई करने वाले मेडिकल छात्रों पर जबरन बॉन्ड पॉलिसी को लागू करना सरकार की शिक्षा-विरोधी नीति को दर्शाता है जिसकी इनेलो पार्टी घोर निंदा एवं भत्र्सना करती है। एक तरफ तो सरकार मेडिकल शिक्षा को बढ़ावा देने की बात करती है वहीं दूसरी तरफ गरीब परिवारों के बच्चों को मेडिकल शिक्षा प्राप्त करने से वंचित कर रही है। यह बॉन्ड पॉलिसी मेडिकल शिक्षा के हक में नहीं हैं क्योंकि इस पोलिसी की वजह से योग्य छात्र अन्य राज्यों के मेडिकल कॉलेजों में दाखिला लेने को मजबूर हो जाएंगे। अत: सरकार का फैसला योग्यता को दरकिनार करने की साजिश दिखाई देती है। उन्होंने कहा कि एक तरफ जहां प्रदेश में बेरोजगारी निरंतर बढ़ रही है वहीं दूसरी ओर भ्रष्टाचार भी चरम सीमा पर है। सरकारी नौकरी देने वाले दोनों भर्ती आयोग किस प्रकार भ्रष्टाचार के अड्डे बन चुके हैं, यह जग जाहिर हो चुका है। भाजपा सरकार ने योग्यता को आधार नहीं बल्कि खर्ची-पर्ची को आधार बना लिया है।
अभय सिंह चौटाला ने कहा कि पिछले कई सालों से नगर निगमों, परिषदों व पालिकाओं में हो रहे भ्रष्टाचार के मामले बढ़ रहे हैं। प्रदेश में हर रोज एक न एक भ्रष्टाचार का मामला सामने आ रहा है। जबसे भाजपा व गठबंधन सरकार सत्ता में आई है तब से इन संस्थाओं में हुए भ्रष्टाचार की घटनाओं ने सारी हदें पार कर दी। परंतु सरकार द्वारा दोषियों के विरुद्ध कोई कार्यवाही न करके लीपापोती की जा रही है जिससे इन गतिविधियों पर अंकुश न लगाने के कारण भ्रष्टाचार निरंतर बढ़ रहा है। इनेलो राज्य कार्यकारिणी इस प्रस्ताव के माध्यम से सरकार से मांग करती है कि जल्द से जल्द खाली पड़े पदों पर नियुक्ति करे और बेरोजगारी की समस्या से निपटने के लिए युवाओं के लिए नए रोजगार के अवसर प्रदान करे।

इसके साथ प्रदेश में हो रहे भ्रष्टाचार और घोटालों पर अंकुश लगाते हुए ऐसे मामलों की निष्पक्ष जांच करवाए। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश की लगभग सभी चीनी मिलों में गन्ने की पिराई शुरू हो चुकी है जबकि हरियाणा सरकार ने इस वर्ष 2022-23 के लिए गन्ने की कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं की हैं जिससे सरकार की इस किसान विरोधी सोच की इनेलो पार्टी गहरी निंदा करती है। प्रदेश में गन्ने की फसल पर लागत मूल्य जैसे डीजल, खाद, दवाइयां और बीज आदि के साथ-साथ गन्ने की छिलाई, लदाई और ढुलाई आदि में बेतहाशा वृद्धि हुई है।

इनेलो प्रदेशाध्यक्ष नफे सिंह राठी ने कहा कि आज देश व प्रदेश में जब से भाजपा सरकार आई है तब से बेरोजगारी और भ्रष्टाचार/घोटाले दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं। प्रदेश में लगभग 2 लाख पद खाली पड़े हैं और पदों को न भरने की वजह से पढ़ा-लिखा नौजवान बेरोजगारी के कारण दरबदर की ठोकरें खाने पर मजबूर है। भ्रष्टाचार और घोटालों ने प्रदेश को खोखला करके रख दिया है। बेरोजगारी और भ्रष्टाचार का प्रदेश में बढऩा चिंता का विषय है। कार्यकारिणी की बैठक में निर्णय लिया गया कि प्रदेश, जिला व हलका स्तर पर संगठन को मजबूत करने के लिए युवाओं और कर्मठ व निष्ठावान कार्यकर्ताओं को नए सिरे से अहम जिम्मेदारियां सौंपी जाएंगी। इसके लिए युवा कार्यकर्ताओं को प्रत्येक जिले में सदस्यता अभियान चलाने की जिम्मेदारियां सौंपी गई हैं। जिसके बाद चुनाव के माध्यम से इनेलो युवा प्रदेश, जिला व हलका कार्यकारिणी का गठन होगा।

बैठक को राष्ट्रीय प्रवक्ता उमेद सिंह लोहान, कर्ण सिंह चौटाला, इनेलो महिला महासचिव सुनैना चौटाला, महिला प्रदेश अध्यक्ष सुमित्रा देवी, उपाध्यक्ष प्रकाश भारती, सरदार नच्छत्र सिंह मल्हान, श्याम सिंह राणा, सतीश जैन, शंकर लाल, जाहिर खान, सुरजीत, कैप्टन इंद्र सिंह, बलवंत मायना, रामफल कुंडू, सतबीर सिसाय, बलविंद्र सिंह, रोहतास खटाना, हेमराज जागल्यान, यशवीर राणा, सरदार बूटा सिंह, देवेंद्र, अजीत पलवल, राजा राम माजरा, कृष्ण मलिक आदि ने संबोधित किया। बैठक में प्रदेश भर से आए पदाधिकारीगण मौजूद रहे।