चंडीगढ़, 29 नवंबर। पंचायत चुनाव परिणाम को लेकर कांग्रेस नेता दीपेंद्र हुड्डा के दावे पर जननायक जनता पार्टी के प्रधान महासचिव दिग्विजय चौटाला ने दीपेंद्र हुड्डा को खुली चुनौती दी है। दिग्विजय ने कहा कि हाल ही में प्रदेश में हुए पंचायत चुनाव में पार्षद, पंच, सरपंच सबसे ज्यादा जेजेपी के बने हैं। उन्होंने कहा कि अगर दीपेंद्र हुड्डा को कोई शक है तो वो एक सम्मेलन कर कांग्रेस व जेजेपी के समर्थित पार्षदों व सरपंचों को एक साथ बुलाकर देख लें कि किसके ज्यादा है। दिग्विजय ने कहा कि इससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। वे भिवानी में पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे। इस मौके पर दिग्विजय चौटाला ने नवनिर्वाचित जिला पार्षदों, सरपंचों और पंचों को बधाई दी और कहा कि हरियाणा के प्रत्येक गांव में चहुंमुखी विकास करवाना उनका लक्ष्य रहा है और इस पर कड़ी मेहनत से काम करेंगे।

दिग्विजय सिंह चौटाला ने एमएसपी के गारंटी कानून को लेकर कहा कि हरियाणा में किसानों के लिए एमएसपी और मंडी सिस्टम पहले भी थी और अब भी हैं और आगे भी रहेगी। उन्होंने कहा कि ये मांग पंजाब, यूपी जैसे अन्य प्रदेशों के लिए होनी चाहिए। दिग्विजय चौटाला ने कहा कि कि यूपी जैसे प्रदेश में तो हमारे विरोधी भी मंच पर बताते हैं कि फसल खरीद का सबसे बेहतर सिस्टम हरियाणा में उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने किया है। दिग्विजय ने कहा कि एमएसपी का कानून बनता है तो देश के दूसरे राज्यों के किसानों को फायदा मिलेगा।

दिग्विजय चौटाला ने जेजेपी के पांचवें स्थापना दिवस पर होने वाली भिवानी रैली को लेकर बैठक कर भिवानी, बवानीखेड़ा, लोहारू, तोशाम के कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी लगाई। दिग्विजय ने कहा की पार्टी पर मेहनती कार्यकर्ता का हमेशा कर्ज रहता है और ऐसे साथियों का कर्ज सूत समेत वापिस किया जाएगा। उन्होंने कहा कि रैली को लेकर जिस तरह से कार्यकर्ताओं में जोश व उत्साह दिखाई दे रहा है, उसे देखकर यह साफ है कि रिकॉर्ड संख्या में लोग रैली पहुंचेंगे।