CHANDIGARH,21.06.20-आज सम्पूर्ण विश्व " छठा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस" मना रहा है। प्रशासन के दिशा निर्देशानुसार कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए अपने घरों में रह रहे है। वहीँ शिक्षक भी ऑनलाइन पढ़ाई करवा रहे है और बच्चें भी घर पर रह कर पढ़ाई कर रहें है।
इस वर्ष कोरोना वायरस वैश्विक महामारी (कोविड 19) के कारण लोगों को ऐसी थीम दी गई है, जो शरीर और स्वास्थ्य को बढ़ावा देगी। जैसी स्थिति बनी हुई है, उस कारण इस बार सयुंक्त राष्ट्र संघ ने भी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के लिए विशेष थीम (विषय) ‘‘घर पर योग, परिवार के साथ योग'' दिया है। ताकि विश्व योग दिवस का आयोजन सफल हो सके।
इसलिए सोशल नेटवर्किंग साइट्स का सहारा लिया जा रहा है। इसी कड़ी में सरकारी मॉडल स्कूल-35, चंडीगढ़ के योगा के विद्यार्थियों ने प्रतिभागिता निभाई और उन्होंने घर पर रहकर ही अपने स्पोर्ट्स टीचर कुलदीप मेहरा के मार्गदर्शन में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस से सम्बंधित प्रोटोकॉल के आसन करके छठा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया। स्पोर्टस टीचर ने बच्चों को बताया कि योग करने से शरीर पूर्णतया स्वस्थ एवं स्वच्छ तो रहता ही है इससे हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधात्मक क्षमता भी बढ़ती है और हमारा श्वसन तंत्र मजबूत होता है।
सम्पूर्ण विश्व अबकी बार 6वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मना रहा है।
योग दिवस के लिए विशेष योगा प्रोटोकॉल बनाया गया है:-
जिसको सभी अभ्यस्त आसानी से सावधानीपूर्वक कर सकते हैं इसमें हमारे शरीर के प्रत्येक अंगों की एक्सरसाइज तो होती ही है हमारा सम्पूर्ण शरीर रोगमुक्त भी होता है।
जिसमें मुख्य रूप से खड़े होकर किये जाने वाले आसन:-
ताड़ासन, वृक्षासन, पादहस्तासन, अर्ध चक्रासन, त्रिणोणासन आते है।
बैठ कर किये जाने वाले आसन:-
भद्रासन, वीरासन, उष्ट्रासन, शशांकासन, उतानमंडूकासन को बैठ कर किये जाते है।
पेट के बल लेटकर किये जाने वाले आसन है:- मकरासन, भुजंगासन और शलभासन।
पीठ के बल लेटकर किये जाने वाले आसन:-
सेतुबंध आसन, उत्तानपादहस्तासन, अर्धहलासन पवनमुक्तासन और शवासन करवाये जाते है। इसके अलावा कपालभाति, प्राणायाम, ध्यान, संकल्प और शांति पाठ भी करवाया जाता है।