Chandigarh,23.04.20-मेहरा एनवायरमेंट एंड आर्ट फाउंडेशन के संस्थापक एवं चेयरमैन कुलदीप मेहरा ने जानकारी दी कि इस बार सम्पूर्ण विश्व "पृथ्वी दिवस की 50वीं वर्षगांठ" मना रहा है। उन्होंने बताया कि मैंने भी घर पर रुद्राक्ष, आम, पीपल, बरगद, मौलिशरी आदि के काफी पौधे तैयार किये हुए है। जो पौधारोपण के लिए बिल्कुल तैयार है। लेकिन कर्फ्यू या लॉकडाउन की वजह से अभी कहीँ भी पौधरोपण नहीं कर सकते। इसलिए जब तक कर्फ्यू नहीं खुलता तब तक परिवार सहित हर रोज उनकी ही देखभाल कर रहा हूँ।
आगे मेहरा ने बताया कि हम अबकी बार "पृथ्वी दिवस की 50वीं वर्षगांठ" विश्वभर के उन सब जाबांज कोरोना योद्धाओं को समर्पित करतें है जो वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) अदृश्य बीमारी के खिलाफ युद्ध लड़ रहें है। क्योंकि इस पृथ्वी पर मानव जीवन ही सबसे अमूल्य धरोहर है और इस अनमोल धरोहर को बचाना ही पृथ्वी दिवस पर सबसे बड़ा उपहार होगा। मानव जीवन सुरक्षित रहेगा फिर आप चाहे कोई भी दिवस मना सकतें है। ऐसा लगता है जैसे इस अदृश्य बीमारी के माध्यम से कहीँ ना कहीं प्रकृति भी हमें सचेत कर रही हैं पर्यावरण संरक्षण, जलवायु परिवर्तन और अन्य विषयों के बारे में सोचने के लिए। हमें उनके बारे में मंथन करना चाहिए। जैसे इस बार "पृथ्वी दिवस 2020" के लिए थीम "क्लाइमेट एक्शन" रखा गया था। क्लाइमेट में लगातार हो रहे बदलाव के कारण लाइफ सपोर्ट सिस्टम को खतरा होता जा रहा है। जलवायु परिवर्तन मानवता के भविष्य और जीवन-समर्थन प्रणालियों के लिए सबसे बड़ी चुनौती है जो हमारी दुनिया को रहने योग्य बनाती है। हमें पृथ्वी पर रहने वाले जीव-जंतुओं, पेड़-पौधों को बचाने और दुनिया भर में पर्यावरण के प्रति लोगों के बीच जागरुकता बढ़ाने की ओर मजबूती से ज्यादा कार्य करने होंगे।