चण्डीगढ़, 16 जुलाईः- हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने सरकारी व गैर-सरकारी क्षेत्र की स्वयंसेवी संस्थाओं का आहवान किया है कि वे बच्चों और युवाओं को सभी प्रकार की सामाजिक बुराईयों के उन्मूलन हेतू प्रशिक्षित कर तैयार करें, ताकि वे देश और समाज से कुरीतियों का खात्मा करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकें। श्री आर्य मंगलवार को राजभवन में आयोजित हिन्दुस्तान स्काउट्स एवं गाइड्स के द्वितीय राज्यस्तरीय पुरस्कार समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। उन्होनें स्काउट्स एवं गाइड्स के क्षेत्र में विशेष कार्य करने वाले बच्चों को सम्मानित व प्रशंस्ति पत्र प्रदान किए। संगठन के पदाधिकारियों व संगठन में सहयोग करने वाले लोगों को भी सम्मानित किया। जिनमें पूर्व आई.ए.एस अधिकारी श्री राजीव शर्मा, श्री रणवीर सिंह आई.पी.एस अधिकारी, कुमारी चित्रलेखा, नवल किशोर गोयल, अप्रिता बंसल, सुरेश वर्मा तथा सभी जिलोें के जिला अधिकारी, मौलिक शिक्षा अधिकारी भी शामिल थे।
उन्होनें कहा कि सरकारी क्षेत्र में काम कर रहे संगठनों द्वारा विभिन्न प्रकार के सामाजिक कार्य किए जा रहें है, जिनके सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे है। ये संगठन युवाओं के शारीरिक, मानसिक एवं चारित्रिक विकास के साथ-साथ बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए कार्य कर रहे है। सरकार द्वारा चलाए जा रहे बेटी बचाओ-बेटी पढाओ, पर्यावरण बचाओ तथा स्वच्छता जैसे अभियान को गति दे रहे है।
उन्होनें हिन्दुस्तान स्काउट्स एवं गाइड्स के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि हरियाणा अन्य राज्यों की तुलना में जनसंख्या तथा क्षेत्रफल की दृष्टि से एक छोटा राज्य है फिर भी संगठन ने विभिन्न क्षेत्रों में बड़ी उपलब्धियां हासिल की है, जिस कारण से प्रदेश में स्काउट्स एवं गाइड्स की निरंतर बढ़ोतरी हुई है।
श्री आर्य ने कहा कि स्काउटिंग एंड गाइड न केवल एक संगठन है बल्कि एक राष्ट्रीय आंदोलन है। जो विश्व के लगभग 200 देशों में काम कर रहा है। इस आंदोलन से चार करोड़ से भी अधिक सदस्य जुड़े है। संगठन द्वारा सभी बच्चों और युवाओं को अनुशासन का पाठ पढ़ाया जाना देश को नई दिशा देने के बराबर है। उन्होनें कहा कि अनुशासन ही देश को महान बनाता है। युवाओं को अनुशासित होकर अपनी शक्ति का देशहित में प्रयोग करना चाहिए। उन्होनें राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की कविताः-
‘‘मानव जब जोर लगाता है
पत्थर पानी बन जाता है।‘‘
भी सुनाई।
उन्होनें सभी पुरस्कृत कार्यकर्ताओं तथा बच्चों को बधाई देते हुए अपील की कि वे रक्तदान, नेत्रदान, वृक्षारोपण, निरक्षता उन्मूलन तथा जनसंख्या नियंत्रण के कार्यक्रमों में बढ़-चढ़ भाग ले, जिससे देश और मजबूत होगा।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए शिक्षा मंत्री श्री राम बिलास शर्मा ने युवाओं का आहवान किया कि वे हिन्दुस्तान स्काउट्स एवं गाइड्स जैसे संगठनों से जुड़कर राष्ट्र एवं देश भक्ति की भावना को आत्मसात करें। उन्होनंे कहा कि पूरे विश्व में भारत का सम्मान बढ़ा है और दूनिया भारत को सम्मानजनक दृष्टि से देख रही है। इसके साथ-साथ पूरे विश्व को भारत के युवाओं में संभावनाएं नजर आने लगी है।

उन्होनंे कहा कि उनकी सरकार ने ‘‘गीता‘‘ को पाठ्यक्रम में शामिल किया है। इतना ही नहीं विश्व में भारत की संस्कृति के प्रचार-प्रसार करने के उद्देश्य से इस बार लंदन में गीता जयन्ती मनाई जा रही है। इस अवसर पर शिक्षा मंत्री द्वारा राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य का सम्मान करते हुए हिन्दुस्तान स्काउट्स एवं गाइड्स का स्कार्फ भेंट किया गया।

समारोह में पंचकूला के विधायक श्री ज्ञानचंद गुप्ता उपस्थित रहे और हिन्दुस्तान स्काउट्स एवं गाइड्स के नेशनल कमिशनर श्री अनिल प्रथम ने धन्यवाद किया और संस्था के राज्य सचिव श्री नवीन जयहिंद ने संस्था की गतिविधियों के बारे में बताया। कार्यक्रम में स्काउट् प्रार्थना एवं गीत भी गाया गया।