बिलासपुर 21 मई- जिला प्रशासन बिलासपुर तथा रेड क्रॉस सोसाइटी बिलासपुर के संयुक्त तत्वाधान में भारतीय प्रशासनिक सेवा तथा हिमाचल प्रशासनिक सेवा परीक्षाओं की तैयारी करने वाले इच्छुक बच्चों के लिए एक दिवसीय सिविल सर्विसेस गाइडेंस ओपन हाउस नाम से एक मार्गदर्शन कार्यक्रम का आयोजन जिला परिषद भवन के सभागार में आयोजित किया गया।

इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त तोरूल रविश ने आईएएस/एचएएस परीक्षा की तैयारी कर रहे और परीक्षा की तैयारी की योजना बना रहे व उत्सुक अभियार्थियों का मार्गदशर्न किया तथा उनके साथ अपने अनुभव भी साझा किए ।

कार्यक्रम के समापन अवसर पर जिला एवं सत्र न्यायधीश पुरेन्द्र वैद्य ने तैयारी कर रहे बच्चों को अनुशासन, दृढ निश्चय समर्पण और एकाग्रता के साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए आवश्यक मार्ग दर्शन प्रदान किया। उन्होंने कहा कि कोई भी प्रतिभागी जो किसी भी प्रकार की सरकारी सेवा में अपना योगदान देना चाहता है उसे अपने देश प्रदेश की व्यवस्था व लोकतांत्रित प्रणाली व कानून की जानकारी होना अति आवश्यक है जिसके फलस्वरूप सभी अपने कर्तव्यों व अधिकारों के प्रति जागरूक हो सकेंगे।

इस कार्यक्रम 75 प्रतिभागियों ने भाग लिया। कार्यक्रम के दौरान जिला में तैनात प्रशासनिक अधिकारियों ने विभिन्न प्रशासनिक सेवाओं की परीक्षाओं की तैयारी, प्रतियोगी परीक्षाओं के पाठ्यक्रम, विभिन्न परीक्षाओं की एक साथ तैयारी करने, विषयों का चयन करने, तैयारी के लिए सर्वाेत्तम संसाधन प्राप्त करने, समाचार पत्रों के प्रभावी पठन करने, निबंध लेखन आदि विषयों पर बच्चों का मार्गदर्शन किया गया। कार्यक्रम के दौरान संबंधित परीक्षा के विभिन्न विषयों से संबंधित तथा सामान्य ज्ञान एवं बहुविकल्पीय प्रश्न के सैशन के आयोजन के साथ साथ प्रश्न उत्तर सैशन भी आयोजित किया गया।

अतिरिक्त उपायुक्त तोरूल रविश ने बताया कि प्रतियोगी परीक्षा के विद्यार्थियों के लिए पहली बार यह एक दिवसीय खुला सैशन आयोजित किया गया है। उन्होंने कार्यक्रम के आयोजन में सहयोग के लिए केनरा बैंक के विनय शर्मा तथा एडवोकेट पवन चंदेल का आभार प्रकट किया।

इस कार्यक्रम में जिला वन अधिकारी, अवनि राय भूषण, परिवीक्षाधीन अधिकारी ओशिन शर्मा, जिला खाद्य नियंत्रक ब्रिजेन्द्र पठानिया, आई.आई.एम अहमदाबाद के प्रशिक्षक नितिन शर्मा और आई.आई.एम लखनऊ से जसबीर सिंह, जिला समन्वयक कौशल विकास निगम शिखा धीमान, जिला ग्रामिण विकास प्राधिकरण से परियोजना निदेशक एनआरएलएम हिमांशी, तहसीलदार झण्डूता शिखा पट्यिाल, बीडीओ घुमारवीं स्पर्श शर्मा, नायब तहसीलदार सदर रेखा शर्मा, डॉ0 सतीश बीएमओ मारकंडा ने संसाधन व्यक्ति के रूप में सभी प्रतिभागियों का मार्ग दर्शन किया।