सोलन-दिनांक 03.12.2021
विश्व दिव्यांगता दिवस पर कण्डाघाट में जिला स्तरीय कार्यक्रम आयोजित

विश्व दिव्यांगता दिवस का जिला स्तरीय कार्यक्रम आज सोलन जिला के कण्डाघाट में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग तथा जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डाईट) सोलन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया गया।
जिला कल्याण अधिकारी सोलन गिरधारी लाल शर्मा ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहा कि दिव्यांग जन समाज का अभिन्न अंग हैं और इनके उत्थान की दिशा में सरकार के साथ-साथ विभिन्न स्वयं सेवी संस्थाओं को भी मिल-जुलकर कार्य करना होगा।
उन्होंने कहा कि दिव्यांगो के अधिकारों व आवश्यकताओं के विषय में चिंतन व चर्चा करने के उद्देश्य से ही विश्व में वर्ष 1992 से 3 दिसम्बर का दिन विश्व दिव्यांगता दिवस के रूप में मनाया जाता है, ताकि दिव्यांगों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक कर समाज में सम्मानपूर्वक जीवन जीने का अवसर प्रदान किया जा सके।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा दिव्यांगों के कल्याण के लिए विभिन्न योजनाएं कार्यान्वित की गई हैं। दिव्यांगता राहत भत्ता योजना के अन्तर्गत जिला में 3883 दिव्यांगजनों को प्रति माह 1000 रुपए विकलांगता राहत भत्ता प्रदान किया जा रहा है। दिव्यांग छात्रों को छात्रवृति योजना के अन्तर्गत प्रथम कक्षा से उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए 625 रुपए से 3750 रुपए प्रति माह छात्रवृति प्रदान की जा रही है। इसके लिए तहत ज़िला में 22 दिव्यांग छात्रों को 2.28 लाख रुपए की छात्रवृति प्रदान की जा चुकी है।
जिला कल्याण अधिकारी ने कहा कि सोलन जिला में दिव्यांगों को विवाह अनुदान योजना के अन्तर्गत 06 दम्पत्तियों को विवाह करने पर 1.75 लाख रुपए की पुरस्कार राशि वितरित की गई है। उन्होंने कहा कि 40 प्रतिशत या इससे अधिक दिव्यांग व्यक्तियों के लिए केन्द्र सरकार द्वारा यूडीआईडी कार्ड जारी किए जा रहे हैं। जिला में यूडीआईडी पोर्टल पर 6527 लोगों ने पंजीकरण किया है, जिनमें से 3417 दिव्यांग व्यक्तियों को कार्ड जारी किए जा चुके हैं।
इस अवसर पर भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम (एलिम्को) मोहाली द्वारा निःशुल्क चिकित्सा शिविर आयोजित किया गया। चिकित्सकों की टीम द्वारा बच्चों की चिकित्सा जांच की गई। चिकित्सकों द्वारा दिव्यांगजनों के लिए सहायता उपकरणों के बारे में जानकारी प्रदान की गई।
कार्यक्रम में अभिभावकों, बच्चों तथा अध्यापकों के मध्य परामर्श सत्र का आयोजन भी किया गया। गणपति एजूकेशन सोसायटी कुनिहार तथा डाईट सोलन के समन्वयक ने दिव्यांगजनों से व्यवहार के प्रति जानकारी प्रदान की।
इस अवसर पर दिव्यांग बच्चों के मध्य कुर्सी तथा चम्मच दौड़ प्रतियोगिताएं भी करवाई गई।
कार्यक्रम में जिला के 44 दिव्यांग बच्चों ने भाग लिया।
इस अवसर पर तहसील कल्याण अधिकारी कण्डाघाट गवा सिंगे, तहसील कल्याण अधिकारी सोलन अनुराधा तनवर, समन्वयक डाॅ. संजय, अधीक्षक राजेन्द्र रघुवंशी, एलिम्को से डाॅ. कपिल निशाद, रेडियालाॅजिस्ट प्रेम शंकर, खण्ड स्त्रोत समन्वयक रजनीश कौशिक, आईईडी समन्वयक राजेश कुमार सहित दिव्यांग जन उपस्थित थे।

=================================

सोलन दिनांक 03.12.2021
कोविड-19 से बचाव के लिए नियम पालन आवश्यक

मुख्य चिकित्सा अधिकारी सोलन डाॅ. राजन उप्पल ने जिला वासियों से अपील की है कि कोरोना वायरस के नए स्वरूप आॅमिक्रोन से घबराने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव के लिए कोविड नियमों की अनुपालना आवश्यक है क्योंकि कोविड-19 का खतरा अभी तक टला नहीं है।
डाॅ. उप्पल ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक है कि भीड़-भाड़ वाले स्थानों में जाने से परहेज करें, 02 व्यक्तियों के मध्य 02 गज़ की दूरी बनाए रखें तथा नाक से लेकर ठोडी तक ढकते हुए मास्क का प्रयोग करें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव के लिए बार-बार अपने हाथों को साबुन अथवा एल्कोहल युक्त सेनिटाइजर से साफ करते रहें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव के लिए कोविड टीकाकरण की दोनों डोज़ लेना सुनिश्चित करें।
उन्होंने जिला के सभी निवासियों का आह्वान किया कि खांसी, जुकाम, बुखार या सांस लेने में दिक्कत होने पर शीघ्र चिकित्सक की सलाह लें। उन्होंने कहा कि जिला के सभी चिकित्सा अधिकारियों को जिला के सभी आईसोलेशन वार्ड को व्यवस्थित रखने के दिशा-निर्देश दिए गए हैं ताकि आवश्यकता पड़ने पर रोगियों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो।