पंचायती राज संस्थाओं को सुदृढ़ करने की दिशा में कार्य करें पंचायत प्रतिनिधि - उपायुक्त
नाहन में स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण पर आयोजित की गई एक दिवसीय कार्यशाला

नाहन 03 दिसम्बर - स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण चरण-2 के अंतर्गत जिला ग्रामीण विकास अभिकरण सिरमौर द्वारा आज यहां एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन एसएफडीए हाॅल में किया गया, जिसकी अध्यक्षता उपायुक्त सिरमौर रामकुमार गौतम ने की। इस कार्यशाला में विकास खण्ड नाहन व विकास खण्ड सगडांह के पंचायत प्रधान, उप-प्रधान व पंचायत सचिवों ने भाग लिया।
उपायुक्त ने कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए कहा कि सभी लोग अपने कार्य को निष्पक्षता व पारदर्शिता के साथ करें ताकि पंचायती राज संस्थाओं को सुदृढ़ किया जा सके। उन्होंने कहा कि पंचायत प्रधान एवं सचिव योजनाओं को 15वें वित आयोग के पोर्टल ई-ग्राम सभा में पंजीकृत करना सुनिश्चित करें। उपायुक्त ने प्लास्टिक के कचरे के निपटान पर विशेष बल देते हुए कहा कि इस कचरे को जलाने से परहेज करें क्योंकि इससे जहरीली गैस निकलती है। उन्होंने प्लास्टिक से पाॅलीब्रिक्स बनाने का सुझाव दिया। उन्होंने बताया कि सरकारी योजना के अनुसार सिंगल यूज प्लास्टिक को 75 रुपये किलोग्राम के हिसाब से खरीदने का प्रावधान है। इसे एक मुहीम के तहत एकत्रित करके विकास कार्यो में उपयोग में लाये जाने के लिए जनवरी माह में योजना आरम्भ की जायेगी।
उन्होंने व्यक्तिगत शौचालय निर्माण, 15वें वित आयोग से प्राप्त धन का सदुपयोग करने, आवास योजना को प्राथमिकता के आधार पर लाभार्थियों तक पहुचाने तथा कोरोना महामारी के बचाव हेतू शत-प्रतिशत टीकाकरण के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने का आहवान किया।
कार्यशाला के दौरान अतिरिक्त उपायुक्त सोनाक्षी सिंह तोमर ने स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए कहा कि इस मिशंन का मुख्य उद्देश्य लोगों के जीवन स्तर में बदलाव लाना, स्वच्छता एवं स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता बढ़ाना, विद्यालय एवं आगनवाड़ियों में शौचालय सुविधाओं का प्रबन्ध तथा विद्यार्थियों को सफाई एवं स्वच्छता का महत्व समझाना, ठोस एवं तरल कचरे के उचित निपटान हेतू व्यवस्था करना व गांव को खुले में शौच से मुक्त करवाना है, जिससे गन्दगी से फैलने वाली बिमारियों की रोकथाम हो सके।
इससे पूर्व, परियोजना अधिकारी ग्रामीण विकास अभिकरण कल्याणी गुप्ता ने स्वच्छ भारत मिशन के प्रमुख घटकों को विस्तार पूर्वक प्रस्तुत किया। उन्होंने मनरेगा, 15वें वित्त आयोग तथा स्वच्छ भारत मिशन के तहत किये जाने वाले कार्यों के बारे में जानकारी दी।
इस दौरान जिला पंचायत अधिकारी अंचित डोगरा ने उपस्थित प्रधान, उप-प्रधान व पंचायत सचिवों से संवाद भी किया तथा उन्हें पेश आ रही समस्याओं के निराकरण का सुझाव भी दिया।