मार्च महीने के दौरान जिले की सभी पंचायतों में होगा ग्राम सभा की विशेष बैठकों का आयोजन

उपायुक्त डीसी राणा ने जारी किए आदेश
तय किए गए शेड्यूल के आधार पर होंगी बैठकें
चंबा, 1 मार्च- चंबा जिला की सभी 309 ग्राम पंचायतों में ग्राम सभा की विशेष बैठकों का आयोजन किया जाएगा। उपायुक्त डीसी राणा द्वारा हिमाचल प्रदेश पंचायती राज अधिनियम 1994 की धारा 5 के तहत इसको लेकर बाकायदा आदेश
भी जारी कर दिए हैं। जारी किए आदेश के मुताबिक इन ग्राम सभा बैठकों में विभिन्न योजनाओं के तहत लाभार्थियों का चयन, मनरेगा बजट और ग्राम पंचायत विकास योजना का अनुमोदन और ग्राम पंचायत के वार्षिक बजट को भी पारित किया जाएगा। इसके अलावा इन बैठकों में अन्य मदों का अनुमोदन भी होगा। आदेश में यह भी कहा गया है कि इन बैठकों के आयोजन के दौरान कोविड-19 को लेकर जारी की गई एहतियातों की अनुपालना भी सुनिश्चित की जाए।
भरमौर विकासखंड की ग्राम पंचायतों में बैठकों का आयोजन सुबह 11 बजे शेडयूल के आधार पर 8 और 9 मार्च को होगा। इसी तरह तीसा विकासखंड में 8, 9 और 10 मार्च, पांगी विकासखंड में 15 और 16 मार्च, भटियात विकासखंड में 22, 23 और 24 मार्च, सलूणी विकासखंड में 15,16 और 17 मार्च, चंबा विकासखंड में 15, 16 और 17 मार्च और इसी तरह मैहला विकास खंड में भी 15, 16 और 17 मार्च को तय किए गए शेड्यूल के अनुसार पंचायतों में ग्राम सभा की बैठकों का आयोजन होगा।
ग्राम पंचायतों में होने वाली विशेष ग्राम सभा बैठकों की विस्तृत कार्य सूची में प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना (मुरम्मत) प्राकृतिक आपदा के कारण क्षतिग्रस्त मकानों के लाभार्थियों का चयन, वृद्धावस्था, अपंगता व विधवा पेंशन योजना और बी0पी0एल0 के तहत लाभार्थियों का चयन,
वर्ष 2021-22 के लिए मनरेगा कार्य योजनाओं के शेल्फ व बजट को अनुमोदन प्रदान करना और मनरेगा कार्य योजना के शेल्फ में एक साल चार काम योजना के तहत चार या पांच बड़े कार्यों को अनुमोदन देना, वर्ष 2021-22 के लिए ग्राम पंचायत विकास योजना और 15वां वित्तायोग की कार्य योजनाओं के शेल्फ को अनुमोदन प्रदान करना,
वर्ष 2021-22 के लिए ग्राम पंचायत के वार्षिक अनुमानित बजट को अनुमोदन देना, कूड़ा एकत्रीकरण केंद्र निर्माण, प्लास्टिक क्रय व प्लास्टिक पर प्रतिबन्ध बारे चर्चा,
जनमंच आयोजन तिथि को निर्धारित स्थान पर स्वच्छता श्रमदान को लेकर निर्णय लेना, राज्य आपदा प्रबंधन अधिनियम योजना के लिए आपदा राहत वॉलंटियर बारे चर्चा,
कायाकल्प हेतु जल स्त्रोतों की पहचान करना, वर्षा जल संग्रहण के लिए पंचायत घर व सरकारी सस्थानों पर जल संग्रहण संरचना का निर्माण और सौर यंत्र स्थापित करना, स्वयं सहायता समूह द्वारा सिटीजन इनफॉर्मेशन बोर्ड को तैयार करने का कार्य, प्लास्टिक के प्रयोग पर पूर्ण प्रतिबन्ध और प्राकृतिक पत्तल व डूना का प्रयोग, वन अधिकार अधिनियम के मामलों बारे चर्चा ,जैव विविधता कमेटी का गठन, पंचायत आपदा प्रबंधन कमेटी का गठन, मैसन व अन्य कुशल श्रमिकों के लिए प्रशिक्षण पर चर्चा,
स्वर्णिम रथ यात्रा पर विचार विमर्श, चम्बा चलो अभियान को लेकर चर्चा, कृषि की विविधता व आई0एच0बी0टी0 की कार्य सूची बारे चर्चा ,परम्परागत शिल्प को बढ़ावा देना, सामाजिक अंकेक्षण के लंबित मामलों के समायोजन, प्रधानमंत्री आवास योजना के आवास प्लस में लाभार्थियों का सर्वेक्षण और पंजीकरण बारे प्रस्ताव समेत ग्राम पंचायत के अंकेक्षण पत्र अनुसार लंबित अंकेक्षण आपत्तियों पर चर्चा जैसे मुद्दे शामिल हैं।
================================
मंडी में कोरोना टीकाकरण का तीसरा चरण शुरू
मंडी, 01 मार्च : मंडी जिला में कोरोना के खात्मे के अभियान में सोमवार से कोरोना टीकाकरण का तीसरा चरण आरंभ हो गया । इस चरण में जिला में 60 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों का टीकाकरण किया जाएगा। वहीं 45 साल से ज्यादा उम्र के उन लोगों को जो गंभीर बीमारियों से पीडि़त हैं, उन्हें भी कोरोना रोधी टीका लगाया जाएगा। तीसरे चरण के पहले दिन जिला में 55 व्यक्तियों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई ।
उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर तीसरे चरण के शुभारंभ के अवसर पर विजय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, मंडी में बनाए गए टीकाकरण केंद्र में मौजूद रहे। जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ. देवेंद्र शर्मा और स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी भी उनके साथ उपस्थित रहे। तीसरे चरण की शुरूआत में मंडी में वरिष्ठ नागरिक सेवानिवृत ब्रिगेडियर पी.के. भल्ला को कोरोना वैक्सीन की डोज दी गई। ब्रिगेडियर भल्ला ने स्वयं कोविन पोर्टल में टीकाकरण के लिए अपना नाम दर्ज करवाया था।
उपायुक्त ने कहा कि कोरोना वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित व प्रभावी है। वैक्सीनेशन को लेकर लोगों का भरोसा मजबूत हुआ है। लोग टीकाकरण के शैड्यूल को लेकर जानकारी लेने को उत्सुकता दिखा रहे हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की कि धीरे-धीरे सभी लोग स्वयं आगे आकर टीकाकरण के लिए कोविन पोर्टल में अपना पंजीकरण करवाएंगे।
ऋग्वेद ठाकुर ने बताया कि पहले दो चरणों में जिला में 15696 व्यक्तियों को कोरोना रोधी टीका लगाया गया है। इनमें स्वास्थ्य, पुलिस, राजस्व तथा होमगार्ड कर्मियों का टीकाकरण किया जा चुका है ।
उन्होंने बताया कि तीसरे चरण के टीकाकरण के लिए 7 मार्च तक विजय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, मंडी तथा नेरचौक मेडिकल कॉलेज में टीकाकरण कंेद्र बनाए गए हैं । 8 मार्च से जिला के सभी नागरिक अस्पतालों में यह सुविधा उपलब्ध रहेगी।
वैैक्सीनेशन के उपरांत ब्रिगेडियर पी.के. भल्ला ने अपना अनुभव साझा करते हुए कोरोना वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित बताया। उन्होंने सभी वरिष्ठ नागरिकों से स्वयं आगे आकर वैक्सीनेशन करवाने का आग्रह किया।
जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ. देवेंद्र शर्मा ने सभी बुजुर्गों और 45 साल से अधिक उम्र के लोग जो किसी बीमारी से ग्रसित हैं, से कोरोना रोधी टीका लगवाने के लिए कोविन पोर्टल पर अपना पंजीकरण करवाने का आग्रह किया है।
=================================
अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव मंडी-2021
महोत्सव में सामाजिक संदेशों के प्रसार पर रहेगा जोर

मंडी, 01 मार्च: अतिरिक्त उपायुक्त जतिन लाल ने कहा कि स्वर्णिम अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव मंडी-2021 में सामाजिक संदेशों के प्रसार पर विशेष जोर दिया जाएगा। जनजागरूकता के लिए विशेष आयोजन किए जाएंगे। महोत्सव में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और नशा मुक्ति जैसे अभियानों के तहत विविध गतिविधियां की जाएंगी। जलेब में भी सामाजिक संदेश की झांकियां शामिल होंगी।
अतिरिक्त उपायुक्त ने सामाजिक संदेशों से जुड़ी गतिविधियों के आयोजन को लेकर सोमवार को विभिन्न विभागों के अधिकारियों और शिक्षण संस्थानों व सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की।
उन्होंने कहा कि जलेब में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत जागरूकता रथ चलाया जाएगा। वहीं नशा मुक्ति जैसे संदेश के साथ शहर में हर दिन अलग अलग जगह ‘फ्लैश मॉब’ आयोजित किए जाएंगे।
इसके अलावा जलेब को अधिक आकर्षक बनाने के लिए ऊंटों का काफिला, मुखौटा डांस और सभी जिलों कीे लोक संस्कृति का प्रदर्शन भी किया जाएगा।
बैठक में सहायक आयुक्त संजय कुमार, जिला भाषा अधिकारी रेवती सैनी, जिला कार्यक्रम अधिकारी रमेश बंसल, जिला रैडक्रॉस सोसायटी के सचिव, जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास परियोजना, वल्लभ डिग्री कॉलेज के प्रतिनिधि सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
=================================
पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन विभाग करवाएगा निःशुल्क प्रशिक्षण
धर्मशाला, 01 मार्च: ज़िला पर्यटन विकास अधिकारी, सुनयना शर्मा ने आज यहां जानकारी देते हुए बताया कि पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन विभाग द्वारा आतिथ्य क्षेत्र (हॉस्पिटेलिटी) सेवाओं से जुड़े इच्छुक उम्मीदवारों को बुनियादी स्तर का दो से तीन हफ्ते के निःशुल्क कोर्स करवाए जायेंगे।
उन्होंने बताया कि रसोई संचालन से सम्बन्धित कोर्स 25 उम्मीदवारों को तीन हफ्ते तथा खाद्य और पेय पदार्थ का 25 उम्मीदवारों को दो हफ्ते का कोर्स भारतीय खाद्य निगम, धर्मशाला में करवाया जाएगा।
उन्होंने बताया कि इन कोर्सों के लिए सीटें पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर दी जायेंगी। उन्होंने बताया कि इच्छुक उम्मीदवार अपने आवेदन पूर्ण विवरण के साथ उनके कार्यालय अथवा ई-मेल कजकवांदहतं/हउंपसण्बवउ पर भेज सकते हैं।
=======================================
सोलन दिनांक 01.03.2021
जिला स्तरीय युवा उत्सव सम्पन्न

दो दिवसीय जिला स्तरीय युवा उत्सव गत दिवस यहां सम्पन्न हो गया। यह जानकारी जिला युवा सेवाएं एवं खेल अधिकारी सुदेश कुमार धीमान ने दी। उत्सव का आयोजन जिला युवा सेवाएं एवं खेल विभाग सोलन द्वारा आयोजित किया गया।
सुदेश कुमार धीमान ने कहा कि इस प्रतियोगिता में जिला के प्रत्येक विकास खण्ड से विभिन्न स्पर्धाओं में चयनित 140 प्रतिभागियों ने भाग लिया। जिला स्तरीय उत्सव में हारमोनियम, तबला वादन, लोक नृत्य, शास्त्रीय संगीत, लोक गीत, कथक, सितार तथा वाद्य यंत्र स्पर्धाएं आयोजित की गईं।
उन्होंने कहा कि हारमोनियम स्पर्धा में सोलन विकास खण्ड के सागर ने प्रथम स्थान, कण्डाघाट विकास खण्ड के अरूण ने द्वितीय तथा धर्मपुर विकास खण्ड के पुरूषोत्तम ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। तबला वादन स्पर्धा में धर्मपुर विकास खण्ड के सुरेश ने प्रथम तथा कुनिहार विकास खण्ड के निखिल ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। लोक नृत्य प्रतियोगिता में नालागढ़ विकास खण्ड के प्रतिभागियों ने प्रथम, सोलन विकास खण्ड के प्रतिभागियों ने द्वितीय तथा धर्मपुर विकास खण्ड के प्रतिभागियों ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।
सुदेश कुमार धीमान ने कहा कि शास्त्रीय संगीत स्पर्धा में कण्डाघाट विकास खण्ड के ईशान ने प्रथम, नालागढ़ विकास खण्ड के पवन ने द्वितीय तथा सोलन विकास खण्ड के कृष्णा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। लोक गीत स्पर्धा में कण्डाघाट विकास खण्ड ने प्रथम, नालागढ़ विकास खण्ड ने द्वितीय तथा सोलन विकास खण्ड ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। कथक स्पर्धा में कण्डाघाट की शबनम पहले स्थान पर रही। सितार वादन स्पर्धा में कण्डाघाट के अंश ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। पारम्परिक वाद्य यंत्र प्रतियोगिता में कुनिहार विकास खण्ड ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।
जिला युवा सेवा एवं खेल अधिकारी ने कहा कि इस तरह की प्रतियोगिताओं का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों की प्रतिभाओं को निखार कर उन्हें उचित मंच प्रदान करना है। विभाग युवाओं को खण्ड से राष्ट्रीय स्तर तक मंच प्रदान करता है ताकि युवा अपनी प्रतिभा को राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शित कर सकें। प्रतियोगिता में सुनीता शर्मा, डाॅ. राजेश चैहान तथा डाॅ. अभिलाषा शर्मा ने निर्णायक की भूमिका निभाई।
इस अवसर पर कोषाधिकारी सोलन श्यामा, जिला युवा सेवाएं एवं खेल विभाग के दीपक कुमार, सीताराम शर्मा, रक्षा वर्मा, मोहित, उमावती, चंकित, अरूण ठाकुर, बलवंत ठाकुर, प्रियंका, सुनीता तथा टीम प्रभारी गौरी शंकर, रमेश ठाकुर, नीलम राणा, मस्तराम, सितेन्द्र व अन्य उपस्थित थे।
====================================
सोलन दिनांक 01.03.2021
ग्राम पंचायत चण्डी, बरोटीवाला तथा जाबली में 244 व्यक्तियों की एनीमिया जांच

आयुष विभाग द्वारा सोलन जिला के धर्मपुर विकास खण्ड में एनीमिया जागरूकता शिविरों की श्रृखंला में आज ग्राम पंचायत चण्डी, बरोटीवाला तथा जाबली में 244 व्यक्तियों की जांच की गई। यह जानकारी जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डाॅ. राजेन्द्र शर्मा ने दी।
उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत चण्डी में 119, ग्राम पंचायत बरोटीवाला में 50 तथा ग्राम पंचायत जाबली में 75 व्यक्तियों की स्वास्थ्य जांच की गई।
उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य जांच में जिन रोगियों का हीमोग्लोबिन स्तर बहुत कम पाया गया, उन्हें पूरी जांच के लिए परामर्श दिया गया।
डाॅ. राजेन्द्र शर्मा ने कहा कि इन शिविरों में लोगों को बताया गया कि एनीमिया रोग का पूर्ण निदान सम्भव है तथा उचित पोषाहार के माध्यम से सदैव एनीमिया से बचा जा सकता है। शरीर में रक्त की कमी के कारण एनीमिया होता है। एनीमिया के कारणों में सबसे प्रमुख कारण शरीर में आयरन की कमी है। जब आपके आहार में लौह तत्व पर्याप्त मात्रा में नहीं होता है, तब व्यक्ति एनीमिया पीड़ित हो जाता है। इसके अलावा अगर किसी भी कारण से शरीर में रक्त की कमी हो जाती है तो भी यह समस्या उत्पन्न होती है। चोट लगने पर खून निकलना, माहवारी या प्रसव में अधिक मात्रा में खून का बहना भी एनीमिया का एक कारण है।
शिविर में लोगों से आग्रह किया गया कि अपने भोजन में नियमित आधार पर फल एवं सब्जियां लें।
इस अवसर पर रोगियों को एनीमिया की निःशुल्क दवाएं भी वितरित की गईं।
डाॅ. राजेन्द्र शर्मा ने कहा कि 03 मार्च को ग्राम पंचायत कसौली गढ़खल के राजकीय प्राथमिक विद्यालय सनावर, ग्राम पंचायत गनोल के पंचायत घर, ग्राम पंचायत पट्टानाली के पंचायत घर परोल, ग्राम पंचायत गुल्हाड़ी के पंचायत घर, ग्राम पंचायत बुघारकनैता के सामुदायिक केन्द्र बघार घाट तथा ग्राम पंचायत बरोटीवाला के बुरांवाला शिव मंदिर में एनीमिया से जागरूकता के लिए शिविर आयोजित किए जाएंगे।
आज आयोजित शिविरों में आयुर्वेदिक चिकित्सक डाॅ. मंजेश शर्मा, डाॅ. कामिनी, डाॅ. रक्षा, आयुर्वेद विभाग के कर्मचारी वर्धा ठाकुर, लता वर्मा, सोनू, आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता तथा स्थानीय निवासी उपस्थित रहे।
.0.