Solan,दिनांक 21.08.2020-महानुभाव पंथ के साधनदाता चक्रधर स्वामी की 800वीं जयंती श्रीकृष्ण मंदिर माल रोड सोलन में धूमधाम से मनाई गई। इस मौके पर मंदिर में पूजा अर्चना करने के साथ-साथ 800 दीपक जलाए गये जिसके चलते मंदिर परिसर में चारों ओर दीयों की जगमगाहट से रोशनी की चकाचैंध नजर आई।
मंदिर के संचालक महात्मा नरेंद्र मुनि ने सभी भक्तजनों को बधाई दी और कहा कि महानुभाव पंथ के अवतारी पुरूष चक्रधर स्वामी के प्रकोटत्सव को हर वर्ष बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है, परन्तु इस वर्ष कोरोना महामारी के चलते इस कार्यक्रम को सूक्ष्म स्तर पर मनाया गया। महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, चंडीगढ़ व हिमाचल के अनेक हिस्सों में रह रहे महानुभाव पंथ जय श्रीकृष्ण पंथ के अनुयायियों के साधनदाता श्रीचक्रधर स्वामी ने 20 अगस्त 1221 को अवतार लिया था।
कोरोना महामारी के कारण सरकारी निर्देशानुसार भक्तजनों ने घरों में रहकर ही स्वामी जी का अवतार दिवस मनाया। श्रीकृष्ण वृद्धाश्रम ट्रस्ट सोलन के अध्यक्ष राजीव कोहली ने बताया कि महानुभाव पंथ स्वामी जी का अवतार दिवस हर वर्ष की भांति नही मना पा रहे हैं, इसलिए महानुभाव पंथ ने इस वर्ष कुछ अलग तरीके से अवतारोत्सव मनाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि स्वामी जी के अवतरण काल का 800वां वर्ष चल रहा है जो कि 2021 तक चलेगा इसलिए इस वर्ष हम सब इस दिन को प्रकाशोत्सव के रूप में मनाएं। ट्रस्ट ने गुरुजी से विचार-विमर्श करने के बाद यह निर्णय लिया गया कि स्वामी जी के अवतारोत्सव को दीपावली के रूप में अपने अपने घरों में, मंदिरों में अपनी इच्छानुसार दीपक जला कर मनाएं।
उन्होंने भक्तजनों से विनती की है कि अपने अपने घरों में अपने परिवार के साथ ज्यादा से ज्यादा दीपक जला कर दीपावली के रूप में स्वामी जी का अवतारोत्सव बड़े ही हर्षोल्लास से मनाएं और अपनी एक छोटी सी वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर शेयर करें। श्रीकृष्ण वृद्धाश्रम ट्रस्ट सोलन के अध्यक्ष राजीव कोहली, मंदिर के संचालक महात्मा नरेंद्र मुनि, तपस्वनी कृष्णा बाई, मंदिर के भक्तजनों में सतीश बंसल, योगेश कोहली, अनूप गुप्ता, अरविंद, चंदोक व जग्गी परिवार सहित महिलाएं भी इस मौके पर उपस्थित थी।