चण्डीगढ़ 16.11.20- : श्री चैतन्य गौड़ीय मठ, सेक्टर-20, चण्डीगढ़ में आज श्री गोवर्धन महोत्सव एवं अन्नकूट पूजा धूमधाम से मनाई गई। मठ के प्रवक्ता जय प्रकाश गुप्ता ने अपने एक वक्तव्य में कहा कि प्रात:काल मंगला आरती के पश्चात संकीर्तन कथा प्रवचन का कार्यक्रम संपन्न हुआ।

कोविड-19 के कारण साधारण जनता की सहभागिता नहीं रखी गई थी। केवल मठ वासियों की उपस्थिति में कार्यक्रम को पूरे विधि-विधान से संपन्न करवाया गया। चंडीगढ़ गौड़ीय मठ के प्रबंधक श्री वामन जी महाराज ने भक्तों को संबोधित करते हुए बताया कि आज ही के दिन भगवान श्री कृष्ण जी ने गोवर्धन धारण लीला की थी। उन्होंने बताया कि जब इंद्र देवता ने कहा कि सब लोग मेरी पूजा करें तो ब्रजवासियों ने उनकी पूजा करने से मना कर भगवान श्री कृष्ण में अपनी आस्था व्यक्त की थी जिससे इंद्र ने क्रोधित होकर पूरे ब्रज को बारिश द्वारा जल से डुबोने का प्रयास किया लेकिन भगवान श्री कृष्ण जी ने अपनी छोटी उंगली पर पूरे गोवर्धन पर्वत को उठा कर सभी ब्रजवासियों को उसके नीचे शरण दी थी। उसके बाद प्रत्येक वर्ष गोवर्धन महोत्सव पूरे विश्व में भगवान श्री कृष्ण जी के यश गान के लिए मनाया जाता है।

इसके अतिरिक्त भगवान को आज 56 तरह के व्यंजनों का भोग लगाया गया। गाय की विशेष रूप से विधि द्वारा पूजा अर्चना की गई भक्तों ने श्री गोवर्धन के सम्मुख नृत्य संकीर्तन कर आज के इस शुभ अवसर पर आनंद प्राप्त किया।