मंडी, 1 अक्तूबर: अतिरिक्त उपायुक्त जतिन लाल ने बताया कि मंडी जिला में मुख्यमन्त्री स्वावलम्बन योजना में 33 प्रस्तावित प्रस्तावित परियोजनाओं मे से 21 को स्वीकृति प्रदान की गई । इनकी कुल लागत 4.64 करोड़ तथा अनुदान राशि 88 लाख प्रस्तावित है। इससे करीब 94 लोगांे को रोजगार मिलेगा।

उन्होंने कहा कि जिन परियोजनाओं का अनुमोदन किया गया उनमें मुख्यतः डाटा प्रोसेसिंग, समाल गुड्स कैरियर, रेस्टोरेंट, फलैक्स प्रिंटिंग, फर्नीचर मैन्यूफैक्चिरिंग, टैंट हाउस, बैंक्यूट हॉल, इत्यादि से जुड़ी परियोजनाएं शामिल हैं।
अतिरिक्त उपायुक्त ने मुख्यमन्त्री स्वावलम्बन योजना के अन्तर्गत विभिन्न परियोजनाओं के अनुुमोदन के जिला स्तरीय समिति की बैठक के उपरांत यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बैठक में कुल 33 परियोजना समिति के समक्ष रखी गई, जिनमें से आज 21 परियोजनाओं को स्वीकृति दी गई है।
जिला उद्योग केन्द्र मंडी के महा प्रबन्धक ओपी जरयाल ने बताया कि इस योजना के तहत कोई भी हिमाचली युवा व युवती जिनकी आयु 18 से 45 वर्ष के बीच हो और अपना उद्योग स्थापित करना चाहते हों, उनके लिए 40 लाख रुपये तक के निवेश पर 25 प्रतिशत व 30 प्रतिशत अनुदान का प्रावधान है । उद्योग की अधिकतम लागत 60 लाख से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।
इसके अतिरिक्त योजना के तहत हिमाचली विधवा महिलाओं के लिए जिनकी आयु 45 वर्ष से कम हो को 35 प्रतिशत की अनुदान है। इसके अलावा 5 प्रतिशत की दर से 3 वर्षों तक 40 लाख रुपये के ऋण पर ब्याज अनुदान भी उपरोक्त योजना में दिया जाएगा । यह योजना सभी उत्पादन इकाईयों व 82 सेवा इकाईयों के ऊपर लागू है।
इस अवसर पर परियोजना अधिकारी डीआरडीए नवीन कुमार, नोडल अधिकारी विनय सहित अन्य अधिकारी उपस्थि थे।