सोलन -दिनांक 28.09.2020
प्रस्तावित नगर पंचायत कण्डाघाट के लिए सुझाव एवं आपत्तियां आमन्त्रित

उपायुक्त सोलन ने जिला की कण्डाघाट तहसील में क्षेत्र के बेहतर विकास और सुव्यवस्थित व्यवस्था के लिए कण्डघाट तहसील के स्थानीय क्षेत्रों को नगर पंचायत बनाने के सम्बन्ध में प्रकाशन की तिथि के 02 सप्ताह के भीतर प्रभावित क्षेत्रों के लोगों से आपत्तियां एवं सुझाव मांगे हैं। यह सुझाव एवं आपत्तियां सचिव शहरी विकास, हिमाचल प्रदेश सरकार को उपायुक्त सोलन के माध्यम से प्रेषित किए जाएंगे।
प्रदेश सरकार के शहरी विकास विभाग द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार प्रस्तावित नगर पंचायत कण्डाघाट में कण्डाघाट तहसील के पटवार वृत्त सिरीनगर के उप मुहाल सिरीनगर एवं ग्राम पंचायत सिरीनगर के खसरा संख्या 286-800, 803-807, 824-842, 844-903 और 921-1368/1076, पटवार वृत्त सिरीनगर के उप मुहाल दोलग एवं ग्राम पंचायत सिरीनगर में खसरा संख्या 1-11, 15-18, 20-85, 103-211 तथा 363-393 एवं पटवार वृत्त सिलहारी के उप मुहाल सिलहारी एवं ग्राम पंचायत क्वारग में किता 1005 को नगर पंचायत कण्डाघाट में सम्मिलत किया जाना है।
उपायुक्त सोलन ने प्रभावित क्षेत्रों के निवासियों से आग्रह किया है कि वे उपरोक्त नियत अवधि के भीतर यदि आक्षेप अथवा सुझाव हों तो प्रस्तुत करें। नियत अवधि के उपरान्त कोई आक्षेप अथवा सुझाव स्वीकार नहीं किया जाएगा।

===============================

सोलन -दिनांक 28.09.2020
डाॅ. सैजल 29 तथा 30 सितम्बर को सोलन में

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आयुर्वेद मन्त्री डाॅ. राजीव सैजल 29 तथा 30 सितम्बर, 2020 को कसौली विधानसभा क्षेत्र के प्रवास पर रहेंगे।
डाॅ. सैजल 29 सितम्बर, 2020 को सोलन जिला के कसौली विधानसभा क्षेत्र के धर्मपुर स्थित लोक निर्माण विभाग के विश्राम गृह में प्रातः 9.00 बजे से दिन में 1.00 बजे तक जनसमस्याएं सुनेंगे। वे तदोपरान्त दिन में 2.00 बजे से परवाणू में जनसमस्याएं सुनेंगे।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री 30 सितम्बर, 2020 को प्रातः 9.00 बजे से कसौली विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर जनसमस्याएं सुनेंगे।

=====================================

सोलन-दिनांक 28.09.2020
जिला परिषद सोलन की त्रैमासिक बैठक आयोजित
48 मदों पर चर्चा

जिला परिषद सोलन की त्रैमासिक बैठक आज उपायुक्त कार्यालय सोलन में आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता जिला परिषद अध्यक्ष धर्मपाल चैहान ने की।
बैठक में जिला परिषद सोलन की 19 फरवरी, 2020 से 29 सितम्बर, 2020 तक की लगभग 05.20 करोड़ रुपए की आय-व्यय को भी स्वीकृति प्रदान की गई।
आज आयोजित बैठक में 48 मदों पर सारगर्भित चर्चा की गई।
जिला परिषद अध्यक्ष धर्मपाल चैहान ने इस अवसर पर कहा कि विकास कार्यों को करने से पूर्व विभागों के अधिकारी व कर्मचारी सम्बन्धित क्षेत्र के जिला परिषद सदस्य से समन्वय स्थापित कर कार्य करवाएं ताकि लम्बित पड़े विकास कार्यों को शीघ्र पूर्ण किया जा सके। उन्होंने कहा कि चुने हुए जनप्रतिनिधि विभिन्न समस्याओं को संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ सीधा संवाद स्थापित कर त्वरित सुलझा सकते हैं। इससे बैठक में अनेक समस्याओं को उठाने का पर्याप्त समय मिलता है। उन्होंने कहा कि निर्वाचित प्रतिनिधियों का यह प्रयास रहता है कि अधिकारियों एवं कर्मचारियों के सकारात्मक सहयोग से जनता की समस्याओं का शीघ्र निवारण किया जा सके।
उन्होंने कहा कि जिला परिषद सदस्यों एवं पंचायती राज प्रतिनिधियों की लोकतंत्र में अहम भूमिका है। उन्होंने अधिकारियों से आग्रह किया कि विभिन्न विकासात्मक योजनाओं के क्रियान्वयन एवं जन समस्याएं सुलझाने में सभी स्तरों पर जन प्रतिनिधियों से तालमेल स्थापित करें ताकि समस्याआंे का अविलम्ब समाधान हो तथा विकास योजनाएं नियत समय पर पूरी हों।
बैठक में लोक निर्माण, राजस्व, राज्य विद्युत बोर्ड, उद्योग, आबकारी, ग्रामीण विकास, पुलिस, प्रदूषण इत्यादि विभागों से संबंधित 48 मदों पर चर्चा की गई।
अतिरिक्त उपायुक्त अनुराग चन्द्र शर्मा ने विश्वास दिलाया कि जिला प्रशासन चुने हुए प्रतिनिधियों के समन्वय के साथ जन समस्याओं के निवारण के लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि जनहित के मामलों पर शीघ्रता से कार्यवाही आमजन का अधिकार है तथा सभी अधिकारियों को इस दिशा में गम्भीर प्रयास करने चाहिएं। उन्हांेने अधिकारियों से आग्रह किया कि विकासात्मक कार्योें में गुणवत्ता के साथ-साथ गतिशिलता लाएं।
बैठक में जिला परिषद सोलन के उपाध्यक्ष जगन्नाथ शर्मा, पंचायत समिति कण्डाघाट की उपाध्यक्ष रीता ठाकुर, जिला परिषद सदस्य शीला, सविता ठाकुर, मीना वर्मा, सुमन लता, रमा ठाकुर, निर्मला देवी, सुखदेव कौर, सत्या देवी, सुनीता गर्ग, यशवंत सिंह, रामकृष्ण शर्मा तथा विभिन्न पंचायत समिति के अध्यक्षों सहित जिला के वरिष्ठ अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

======================================

सोलन-दिनांक 28.09.2020
ग्राम पंचायत गांगुड़ी, पट्टानाली, घड़सी तथा बनासर में की 317 रोगियों की एनीमिया जांच

जिला आयुर्वेद विभाग सोलन द्वारा धर्मपुर विकास खण्ड की ग्राम पंचायत गांगुड़ी, पट्टानाली, घड़सी तथा बनासर में एनीमिया तथा कोविड-19 बारे जागरूक शिविर आयोजित किए गए। यह जानकारी जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डाॅ. राजेन्द्र शर्मा ने आज यहां दी।
उन्होंने कहा कि इन ग्राम पंचायतों में आयोजित शिविरों में 317 रोगियों की एनीमिया जांच की गई। ग्राम पंचायत गांगुड़ी में 92, ग्राम पंचायत पट्टानाली में 47, ग्राम पंचायत घड़सी में 116 तथा ग्राम पंचायत बनासर में 62 रोगियों की स्वास्थ्य जांच की गई।
उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य जांच में जिन रोगियों का हीमोग्लोबिन स्तर बहुत कम पाया गया उन्हें पूरी जांच के लिए परामर्श दिया गया।
डाॅ. राजेन्द्र शर्मा ने कहा कि इन शिविरों में लोगों को बताया गया कि शरीर में रक्त की कमी के कारण एनीमिया होता है। इस रोग में शरीर के ब्लड सेल्स का स्तर सामान्य से कम हो जाता है। महिलाओं में एनीमिया की शिकायत ज्यादा पाई जाती है।
लोगों को संतुलित आहार लेने के बारे में भी जानकारी दी गई। शिविर में लोगों को आयरन, कैल्शियम, विटामिन, कार्बोहाईड्रेट तथा फाइबर युक्त आहार लेने का परामर्श दिया गया।
शिविर में कोविड-19 से सुरक्षा बारे भी लोगों को जानकारी दी गई। उन्होंने कहा कि लोगों को सुरक्षित सामाजिक दूरी, मास्क पहनने तथा 20 सेकेंड तक साबुन से हाथ धोने या सेनिटाइजर के उपयोग करने के लिए कहा गया। लोगों को बताया गया कि कोई भी संक्रमण या बीमारी तभी प्रभावित करती है जब हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है।
इस अवसर पर रोगियों को एनीमिया की निःशुल्क दवाएं भी वितरित की गईं।
डाॅ. राजेन्द्र शर्मा ने कहा कि 30 सितम्बर को ग्राम पंचायत जगजीतनगर के आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केन्द्र जगजीतनगर, ग्राम पंचायत पट्टा नाली के पंचायत घर परोल, ग्राम पंचायत भागुड़ी के पंचायत घर भागुड़ी, ग्राम पंचायत गनोल के पंचायत घर गनोल में ये शिविर आयोजित किए जाएंगे।
इस अवसर पर आयुर्वेदिक चिकित्सक डाॅ. मंजेश शर्मा, डाॅ. प्रियंका सूद, डाॅ. कामिनी, डाॅ. रक्षा तथा आयुर्वेद विभाग के अन्य कर्मचारी तथा स्थानीय निवासी थे।