हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि 15 वर्ष से 35 वर्ष आयु तक के युवाओं का कौशल विकास कर उन्हें स्वावलंबी बनाना सरकार की प्राथमिकता है।

चंडीगढ़, 27 सितंबर- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि 15 वर्ष से 35 वर्ष आयु तक के युवाओं का कौशल विकास कर उन्हें स्वावलंबी बनाना सरकार की प्राथमिकता है।

शहीद भगत सिंह की 113वीं जयंती की पूर्व संध्या पर आयोजित ‘ग्रामीण युवा मंथन’ वेबिनार को संबोधित करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 वर्ष से 35 वर्ष आयु तक के युवाओं के संदर्भ में उपयोगी विवरण व सूचनाओं का पर्यवेक्षण भी किया जा रहा है। इस दिशा में प्रत्येक परिवार के संदर्भ में उपयोगी विवरण व सूचनाएं एकत्रित करने के लिए प्रत्येक परिवार के परिवार पहचान-पत्र बनाए जा रहे हैं। प्रदेश में लगभग 70 लाख परिवारों के उपयोगी विवरण व सूचनाएं तैयार की जानी हैं। प्रदेश में 26 लाख 50 हजार परिवारों के परिवार पहचान-पत्र बनाए गए हैं। प्रत्येक परिवार विशेषकर युवाओं के संदर्भ में उपयोगी विवरण व सूचनाएं एकत्रित किए जाने पर और अधिक उपयोगी योजनाएं तैयार की जा सकेंगी। युवा वर्ग को सही मार्गदर्शन देकर विकास की मूलधारा में शामिल करने पर योजनाएं केन्द्रीत रहेंगी।

युवाओं को प्रेरित करने के लिए शहीद भगत सिंह की जयंती को एक अच्छा समय बताते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि शहीद भगत सिंह की राष्ट्रभक्ति, बलिदान व उनकी विचारधारा युवाओं को सदैव प्रेरित करती रहेगी। शहीद भगत सिंह समस्त देशवासियों के लिए सदैव आदर्श व अनुकरणीय हैं। देश व प्रदेश को प्रत्येक दृष्टि से सुदृढ़ करने की दिशा में युवावर्ग को वर्तमान में अपनी संपूर्ण क्षमताओं के साथ सदैव आदर्शों का अनुकरण करना है।

वेबिनार के माध्यम से युवाओं को संबोधित करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं के भविष्य के दृष्टिगत प्रदेश सरकार ने शिक्षा क्षेत्र में कई सुधार किए हैं। युवाओं की प्रतिभा को चिन्हित करने को महत्व दिया गया है। युवाओं को उनकी प्रतिभा के प्रदर्शन के लिए अवसर प्रदान करने के कार्यक्रमों को विस्तार दिया गया है। युवाओं को सरकारी क्षेत्र के साथ-साथ निजी क्षेत्र में भी समानांतर रूप से रोजगार उपलब्ध करवाने की प्रक्रिया को गति दी गई है। इसके अतिरिक्त परंपरागत व्यवसायों को भी और अधिक विस्तार देने के लिए कार्य किया जा रहा है। कृषि क्षेत्र को आर्थिक रूप से सुदृढ़ करने के लिए अनेक योजनाएं कार्यान्वित की गई हैं । जल संरक्षण व वृक्षारोपण के कार्यक्रमों में युवाओं की भागीदारी को विस्तार देने के लिए कार्य किया जा रहा है।

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि जनकल्याणकारी योजनाओं व कार्यक्रमों का लाभ प्रत्यक्ष रूप से लाभपात्रों को प्रदान करने की दिशा में ऑनलाईन प्रणाली का विस्तार किया गया है। समाज में सामाजिक व आर्थिक रूप से सबसे निचले पायदान पर बैठे व्यक्ति तक विकास का लाभ पहुचाने की दिशा में गंभीरता से कार्य किया गया है। सरकारी सेवाओं की भर्तियों व स्थानांतरणों में पारदर्शिता लाने की दिशा में अभूतपूर्व कार्य किया है। हरियाणा में लिंगानुपात को संतुलित किए जाने की दिशा में उल्लेखनीय कार्य किया गया है।

उल्लेखनीय है कि युवाओं के साथ प्रत्यक्ष संवाद किए जाने की दिशा में हरियाणा के मुख्यमंत्री का यह तीसरा कार्यक्रम रहा। ‘ग्रामीण युवा मंथन’ वेबिनार में प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों से युवाओं द्वारा मुख्यमंत्री से प्रश्नों के माध्यम से प्रत्यक्ष संवाद किया गया। युवाओं द्वारा मुख्यमंत्री से मुख्यतया जल संरक्षण, प्रदूषित होता जा रहा भूमिगत जल, वृक्षारोपण को एक जनांदोलन का रूप देने, ग्रामीण क्षेत्रों से पलायन को रोकने व नियंत्रित करने, सक्षम युवा योजना की सफलता, प्रत्येक गांव में एक पुस्तकालय स्थापित किए जाने, हरियाणा को खेलों के हब के रूप में विकसित करने व खिलाडिय़ों के कल्याण के लिए किए जा रहे कार्यों, वंचित रहे हुए क्षेत्रों में उद्योगों को विस्तार देने तथा प्रदेश से नशावृति को समूल रूप से समाप्त किए जाने से संबंधित प्रश्नों के माध्यम से संवाद किया गया। मुख्यमंत्री ने युवाओं द्वारा किए गए प्रश्नों पर अपनी प्रतिक्रिया में ग्रामीण क्षेत्रों में 30 लाख घरों तक स्वच्छ पेयजल पहुंचाने के लक्ष्य, ग्रामीण व लघु उद्योगों को विस्तार देने, चार हजार गांवों में विटा दुग्ध उत्पादों के केन्द्र स्थापित किए जाने, खेल क्षेत्र के विकास व खिलाडिय़ों के कल्याण के लिए किए जा रहे कार्यों, उद्योगों के विस्तार तथा नशावृति को नियंत्रित करने के लिए हरियाणा सरकार द्वारा पड़ोसी राज्यों के साथ मिलकर किए जा रहे प्रयासों और अन्य विभिन्न संदर्भों में हरियाणा सरकार द्वारा किए जा रहे विभिन्न कार्यों व भविष्य की योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि प्रत्येक दृष्टि से युवाओं का कौशल विकास करना व उन्हें विभिन्न स्तरों पर अच्छे अवसर प्रदान करना उनकी प्राथमिकता है और इस दिशा में योजनाबद्ध व क्रमबद्ध रूप से कार्य किया जा रहा है।

‘ग्रामीण युवा मंथन’ वेबिनार में प्रदेश के हजारों युवाओं ने भाग लिया। वेबिनार का संचालन डॉ सिमरन ने किया। वेबिनार कार्यक्रम में डॉ जसवन्त शास्त्री ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया।

=======================================

हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री जय प्रकाश दलाल ने कहा कि वर्तमान सरकार ने बरोदा हलके में सैंकड़ों करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं की सौगात दी है। इनमें से बहुत-सी परियोजनाओं का निर्माण कार्य प्रारंभ हो चुका है, जिससे बरोदा भी विकास की मुख्यधारा में शामिल होने की ओर अग्रसर है।

चण्डीगढ़, 27 सितंबर- हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री जय प्रकाश दलाल ने कहा कि वर्तमान सरकार ने बरोदा हलके में सैंकड़ों करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं की सौगात दी है। इनमें से बहुत-सी परियोजनाओं का निर्माण कार्य प्रारंभ हो चुका है, जिससे बरोदा भी विकास की मुख्यधारा में शामिल होने की ओर अग्रसर है।

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री आज बरोदा हलके के गांवों के दौरे में विभिन्न परियोजनाओं की शुरुआत के उपरांत लोगों को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर सांसद रमेश कौशिक सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने बरोदा में आईएमटी के निर्माण की ओर कदम बढ़ाये हैं। इसके अलावा धान उत्पादक किसानों के लिए अत्याधुनिक चावल मिल स्थापित की जाएगी और निश्चित रूप से इन परियोजनाओं से बरोदा के विकास को नई राह मिलेगी ।

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जयप्रकाश दलाल ने अपने दौरे के दौरान बरोदा हलके के अंतर्गत आने वाले पांच गांवों में जलापूर्ति को सुदृढ़ करने के लिए करीब 17 करोड़ 85 लाख 90 हजार रुपये की जल परियोजनाओं के निर्माण कार्य का शुभारंभ किया। उन्होंने बरोदा मोर में 471.90 लाख रुपये की लागत से नहरी पानी आधारित जलघर तथा बरोदा थुटन में 35 लाख रुपये की लागत के एक ट्यूबवैल के कार्य का शिलान्यास भी किया।

इसी प्रकार, बनवासा में 35 लाख रुपये की लागत से एक ट्यूबवैल व रिंढाना में 430 लाख रुपये की लागत से जलघर के नवीनीकरण कार्य की आधारशिला रखी। इसके साथ ही उन्होंने छिछड़ाना में 634 लाख रुपये की लागत के नहरी पानी आधारित जलघर तथा मदीना में 145 लाख रुपये की लागत से वाटर वक्र्स के नवीनीकरण और 35 लाख रुपये की लागत से एक ट्यूबवैल की स्थापना के कार्य का शिलान्यास किया।

कृषि इनके अतिरिक्त, उन्होंने विभिन्न सडक़ों के चौड़ाकरण व मरम्मत कार्यों की भी शुरुआत की। मिर्जापुर खेड़ी में भी उन्होंने करोड़ों रुपये के विकास कार्यों की सौगात दी।

========================================

हरियाणा के पुरातत्व-संग्रहालय एवं श्रम-रोजगार राज्यमंत्री श्री अनूप धानक ने कहा कि नागरिकों को सभी मूलभूत सुविधाएं मुहैया करवाना सरकार की प्राथमिकता है। किसी भी गांव के सामुदायिक भवन, चौपाल व गलियों को अधूरा नहीं रहने दिया जाएगा

चंडीगढ़, 27 सितंबर- हरियाणा के पुरातत्व-संग्रहालय एवं श्रम-रोजगार राज्यमंत्री श्री अनूप धानक ने कहा कि नागरिकों को सभी मूलभूत सुविधाएं मुहैया करवाना सरकार की प्राथमिकता है। किसी भी गांव के सामुदायिक भवन, चौपाल व गलियों को अधूरा नहीं रहने दिया जाएगा।

श्री अनूप धानक ने आज जिला हिसार के गांव राजली में तीन गलियों, खेल स्टेडियम के मुख्य द्वार और दो जिम का उदघाटन किया।

इस मौके पर अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि विकास कार्यों की दृष्टि से सभी क्षेत्रों का सर्वांगीण विकास करवाया जा रहा है। हरियाणा सरकार हर वर्ग को साथ लेकर चल रही है। समाज के गरीब वर्ग के विकास के लिए निरंतर कार्य किये जा रहे हैं। ऐसे वर्ग के लोगों के लिए योजनाएं लागू करने के साथ-साथ यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है कि सरकारी योजनाओं का लाभ वास्तविक जरूरतमंदों तक पहुंचे।

इस अवसर पर राज्यमंत्री श्री अनूप धानक ने गांव राजली की चौपाल में ग्रामवासियों की समस्याएं भी सुनीं और उन्हें हल करने की दिशा में मौके पर उपस्थित अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों की सभी मांगों को प्राथमिकता के आधार पर पूरा करवाया जाएगा।