रायपुररानी , 27.09.20-सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज के आशीर्वाद से सन्त निरंकारी मिशन की सन्त निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन के सोजन्य से पंचकूला की रायपुररानी ब्रांच में का 16वां रक्तदान शिविर लगाया गया। इस शिविर में 145 श्रद्धालुओं सहित 16महिलाओं ने रक्तदान करके इस महादान में योगदान दिया।

इस शिविर का शुभारंभ संत निरंकारी सेवादल के पंचकूला क्षेत्र के क्षेत्रीय संचालक करनैल सिंह ने अपने कर कमलों से किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज ने सदैव मानवता के लिए जीवन जीने की प्रेरणा दी है। बाबा हरदेव सिंह जी महाराज ने भी कथन "मानव रक्त नालियों में नही नाड़ियों में बहना चाहिए"को श्रद्धालु रक्तदान करके चिरतार्थ कर रहे हैं।
सतगुरु माता जी का संदेश भी है कि ब्रह्मज्ञान की प्राप्ति के बाद हमें रोज़ाना के जीवन मे उसे वास्तविक अध्यात्म का स्वरूप देना है। भाव गृहस्थ में जीवन जीते हुए सादा जीवन जीना, किसी द्वारा की गलतियों को मुआफी देना, बुराइयों को छोड़ते हुए सच्चाई के मार्ग को अपनाना भी प्रैक्टिकल भक्ति का स्वरूप है।
रायपुररानी ब्रांच के मुखी रामस्वरूप ने क्षेत्रीय संचालक करनैल सिंह , रक्तदाताओं व डॉक्टरों की टीम का अभिवादन करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के दौरान रक्त की मांग गम्भीर बीमारी वाले मरीजों के लिए और भी बढ़ गई है।ऐसे में सतगुरु माता सुदीक्षा जी के आशीर्वाद से सभी का यह प्रथम कर्त्तव्य है कि रक्तदान में श्रद्धालु बढ़चढ़ कर योगदान दे।
इस अवसर पर पीजीआई के सदस्यीय टीम ने डॉ निपुण पुंज के नेतृत्व में 16 सदस्यीय टीम ने रक्त के यूनिट एकत्रित किए।