मंडी, 23 सितंबर: उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने खेल परिषद मंडी को एक माह के भीतर पड्डल में आबंटित परिषद की दुकानों का सत्यापन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने जिला खेल परिषद मंडी की बैठक की अध्यक्षता करते हुए परिषद के सचिव एवं जिला युवा सेवाएं व खेल अधिकारी को यह भी सुनिश्चित बनाने को कहा कि सभी दुकानदार किराए का महीनेवार भुगतान करें, ऐसा नहीं करने वालों पर नियमानुसार कार्रवाई की जाए।

ऋग्वेद ठाकुर ने बताया कि खेल परिषद की पड्डल परिसर के साथ 75 दुकानें हैं जो परिषद ने किराए पर दे रखी हैं। उन्होंने कहा कि जिला युवा सेवाएं व खेल अधिकारी को निर्देश दिए गए हैं कि अगले एक माह के भीतर यह सत्यापित करवाएं कि जिनके नाम से दुकानें आबंटित की गई हैं उन दुकानों को वे व्यक्ति स्वयं चला रहे हैं ।

उपायुक्त ने बताया कि पड्डल परिसर में सुरक्षा की दृष्टि से सीसीटीवी स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि खेल मैदान के चारों ओर लगी फैंस को पुनः स्थापित किया जाए। उन्होंने खेल मैदान के चारों ओर के ट्रैक की मरम्मत के निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि मंडी जिला में खिलाड़ियों को बेहतर खेल सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए ग्रामीण स्तर तक ढांचागत सुधार पर बल दिया जा रहा है ताकि ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं को अपनी प्रतिभा निखारने का सुनहरा अवसर मिल सके।
ओपन एयर जिम बना आकर्षण का केन्द्र

ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि 25 लाख रुपए की लागत से पड्डल परिसर में ओपन एयर जिम स्थापित किया गया है। इसमें मैदान की बाहरी परिधि में व्यायाम के लिए आधुनिक मशीनें लगाई गई हैं। उन्होंने बताया कि इस ओपन एयर जिम में कोई भी व्यक्ति निःशुल्क शारीरिक व्यायाम कर सकता है।
जिले के खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिए पूर्व की तरह खेल कल्याण योजना जारी रहेगी। इसमें देश विदेश में विभिन्न खेल स्पर्धाओं में अवार्ड जीतने वाले मंडी जिले के खिलाड़ियों को प्रोत्साहन राशि दी जाती है।
बैठक में जिला युवा सेवाएं व खेल अधिकारी एवं खेल परिषद के सचिव नरेश ठाकुर ने विभिन्न खेल गतिविधियों बारे विस्तार से जानकारी दी।
इस अवसर पर डीएसपी करन सिंह गुलेरिया, उप निदेशक उच्च शिक्षा सुरेन्द्र पाल शर्मा, सहायक प्रोफेसर वल्लभ कॉलेज डॉ. चमन लाल क्रांति सिंह, हेमंत राज वैद्य, हरि चन्द, तेज सिंह, हेमंत कपूर एवं सुनील कमार उपस्थित रहे।