चंडीगढ़, 15 सितम्बर: इनेलो प्रदेशाध्यक्ष नफे सिंह राठी ने प्रधान महासचिव चौधरी अभय सिंह चौटाला से विचारविमर्श कर केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए कृषि संबंधी तीन अध्यादेशों एवं पीपली में किसानों पर किए गए लाठीचार्ज और उन पर दर्ज झूठे मुकदमों के विरोध में इनेलो पार्टी द्वारा पहले चरण में प्रदेश के 14 जिलों में रोष प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है। ये रोष प्रदर्शन चौधरी अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में किए जाएंगे। राठी ने पार्टी द्वारा प्रदर्शन करने की जिलेवार अनुसूची जारी करते हुए कहा कि इसकी शुरुआत 24 सितम्बर को अम्बाला व यमुनानगर में रोष प्रदर्शन करने से होगी। उसके बाद 26 सितम्बर को कुरुक्षेत्र, 28 सितम्बर को करनाल , 29 सितम्बर को सोनीपत, 30 सितम्बर को पलवल, 1 अक्तूबर को मेवात, 3 अक्तूबर को झज्जर, 5 अक्तूबर को सिरसा, 6 अक्तूबर को फतेहाबाद, 7 अक्तूबर को कैथल, 8 अक्तूबर को जींद, 9 अक्तूबर को हिसार और 10 अक्तूबर को भिवानी में आखिरी प्रदर्शन किया जाएगा। बचे हुए जिलों में रोष प्रदर्शन की अनुसूची इन 14 जिलों में प्रदर्शन करने के बाद जारी की जाएगी।
उन्होंने बताया कि इनेलो पार्टी ताऊ देवी लाल का लगाया हुआ पौधा है और यह पार्टी उनकी नीतियों पर चलने वाली पार्टी है। उन्होंने कहा कि किसानों के साथ हुई लाठीचार्ज बर्बरतापूर्ण थी। इनेलो हमेशा किसान, मजदूर एवं छोटे व्यापारियों के हकों की लड़ाई लड़ती रही है और हमेशा लुटेरों के खिलाफ कमेरों के हक की आवाज बुलंद करती रही है। पिपली में किसानों के साथ हुए लाठीचार्ज एवं झूठे मुकदमे किसानों की आवाज को दबाने का प्रयास सरकार द्वारा किया गया जो कि बेहद निंदनीय है।