धर्मशाला में हुआ एक और ग्राम पंचायत का गठन
पासू पंतेहड़ पंचायत को विभाजित कर शीला-भटेहड़ बनी नई पंचायत

DHARAMSHALA,15.09.20-विकास खंड धर्मशाला में अब एक नई ग्राम पंचायत का गठन हुआ है। ग्राम पंचायत पासू पंतेहड़ को विभाजित कर अब शीला-भटेहड़ ग्राम पंचायत अस्तित्व में आई है। ग्राम पंचायत पासू पंतेहड़ करीब साढ़े तीन-चार किलोमीटर में फैली थी। करीब 3000 की आवादी और 1600 से ज्यादा वोटों वाली ग्राम पंचायत पासू में विकास कार्यों को भी बड़ी पंचायत होने के कारण गति नहीं मिल पा रही थी। इसके चलते ग्रामीणों ने इस पंचायत के विभाजन को लेकर प्रस्ताव डाला था। इसके अलावा बड़ी ग्राम पंचायत होने के कारण लोगों को पेश आ रही दिक्कतों से भी विधायक को अवगत करवाया था। इसके ‌बाद ‌धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र के विधायक विशाल नैहरिया पंचायत के विभाजन को लेकर मुख्यमंत्री और पंचायती राज मंत्री से भी मिले थे। विधायक की मांग को जायज समझते हुए मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी और पंचायतीराज मंत्री श्री वीरेंद्र कँवर जी ने पंचायत के विभाजन की अधिसूचना जारी क्र दी है इसके लिए विधायक श्री विशाल नेहरिया जी ने माननीय मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर और पंचायतीराज मंत्री श्री वीरेंद्र कँवर जी का आभार जताया है1

==============================================

विधानसभा में गूंजा ओबीसी भवन का मुद्दा
-----------------------------------------------------
मंगलवार को विधानसभा सत्र के दौरान ग्राम पंचायत पासू में बन रहे ओबीसी भवन का मुद्दा गूंजा। विधानसभा में धर्मशाला विस क्षेत्र के विधायक विशाल नैहरिया ने क्षेत्र के अंतगर्त ओबीसी भवन
निर्माण कार्य लंबित होने को लेकर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री से प्रश्न किया था कि भवन का निर्माण कार्य कब
तक प्रारंभ कर दिया जाएगा। इस पर जवाब देते हुए सहकारी मंत्री ने जवाब दिया कि धन की उपलब्धता न होने के कारण भवन का निर्माण कार्य रुका हुआ है, जबकि धन की उपलब्धता होने के बाद इस भवन का निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। गौर रहे कि ग्राम पंचायत पासू के तहत ओबीसी भवन का निर्माण कार्य पिछले कई वर्षों से लंबित पड़ा हुआ है। ओबीसी भवन निर्माण को लेकर अभी तक पिल्लर ही लगे हुए हैं, जबकि इससे आगे यह निर्माण कार्य नहीं बढ़ा है। अधूरे पड़े निर्माण कार्य को लेकर विधायक विशाल नैहरिया पिछले दिनों मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से भी मिले थे और ओबीसी भवन निर्माण को लेकर धन की मांग की थी। जिस पर सीएम ने उन्हें आश्वासन दिया था कि जल्द ही निर्माण कार्य के लिए धन मुहैया करवा दिया जाएगा।