चंडीगढ़,13.08.20- संगीत व कला को समर्पित चंडीगढ़ की संस्था प्राचीन कला केंद्र द्वारा बुधवार को यहां के एमएल कौसर सभागार में जन्माष्टमी का ऑनलाईन कार्यक्रम आयोजित किया गया।‘एक शाम कान्हा के नाम’ नाम की इस भजन संध्या में जाने माने भजन व सूफी गायक जोड़ी कुमार बंधुओं, अनूप कुमार व हेमंत कुमार ने श्री कृष्ण के भजनों का कार्यक्र म पेश किया। इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण केंद्र के अधिकृत यूट्यूब चैनल एवं
फेसबुक और इंस्टा पेज पर किया गया।

। कान्हा के भिन्न भिन्न रूपों का वर्णन करते हुए कुमार बंधुओं ने राग मल्हार में ‘बसो मोरे नैणन में नन्द लाल’, मीरा बाई की ही रचना ‘भजो ने मन गोविंदा’ राग कलावती में पेश की।

पूरे वातावरण को कान्हा के रंग में रंगते हुए कुमार बंधुओं ने ‘ऐरे कन्हैया किसको कहेगा तू मैया’ , ‘बड़ी देर भई नंदलाला’, ‘मेरा आप की कृपा से सब काम हो रहा है’ तथा ‘लागी ने लगन धुन शाम की’ जैसे भजनों से ाूब रंग जमाया। की बोर्ड पर इनके साथ शीबू सिंह, बांसुरी पर श्याम थापा, तबले पर जयमल सिंह व ढोलक पर मास्टर धर्मपाल ने भी बखूबी संगत की।

ऑनलाईन जन्माष्टमी कार्यक्रम के बारे में कु मार बंधुओं ने कहा कि हालांकि यदि श्रोता सामने बैठकर कार्यक्रम सुनते हों तो बात ही कुछ और है, मगर अब कोविड-19 महामारी के कारण इस ऑनलाईन कार्यक्रम से देश के साथ साथ विदेशों में बैठे श्रोताओं ने भी कार्यक्रम का आनंद उठाया और उनकी बहुत अच्छी प्रतिक्रियाएं मिलने से काफी उत्साह मिला। हमारे लिए यह अनूठा अनुभव रहा।

प्राचीन कला केंद्र की रजिस्ट्रार श्री मति शोभा कौसर व सचिव श्री सजल कौसर ने इस बार जन्माष्टमी पर यह ऑनलाईन भजन संध्या आयोजित कर हम कलाकारों को भरपूर प्रोत्साहन दिया है। हम ऊपर वाले से प्रार्थना करते हैं कि महामारी का यह बुरा दौर जल्द से जल्द समाप्त हो जाए और एक बार फिर से सब कुछ सामान्य हो जाए।